जोर जबरदस्ती से संवाद तय नहीं किया जा सकता : जेएनयू वीसी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 15 नवंबर 2019

जोर जबरदस्ती से संवाद तय नहीं किया जा सकता : जेएनयू वीसी

talk-can-not-done-by-force-jnu-vc
नयी दिल्ली, 15 नवंबर, जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के कुलपति एम जगदीश कुमार ने शुक्रवार को आंदोलन कर रहे छात्रों से इसे समाप्त करने की अपील करते हुए कहा है कि जोर जबरदस्ती तथा अवैध तरीके से संवाद स्थापित नहीं किया जा सकता है । कुलपति ने विश्वविद्यालय के शिक्षकों से भी अनुरोध किया कि वे असंतुष्ट छात्रों से आंदोलन को समाप्त करने की अपील करें क्योंकि परिसर के उन हजारों छात्रों की पढ़ाई में व्यवधान पैदा हो रहा है, जो अंतिम सेमेस्टर परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘जेएनयू प्रशासन हमेशा बातचीत और चर्चा के माध्यम से मुद्दों को सुलझाना पसंद करता आया है, लेकिन इस तरह की किसी भी बातचीत की प्रक्रिया और रूप को जबरदस्ती तथा अवैध तरीकों से तय नहीं किया जा सकता। इस तरीके से किसी भी संवाद का फायदा नहीं होगा।’’  छात्रों के दो हफ्तों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले ऐसे छात्रों की होस्टल फीस की बढ़ोत्तरी को वापस ले लिया है जिनके पास कोई स्कालरशिप नहीं है । छात्रों ने इसे धोखा करार दिया है । कुलपति ने शिक्षकों से कहा है कि वह छात्रों को समझाने के लिए अतिरिक्त प्रयास करें।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...