BJP के अलावा कौन सी हैं वो 3 पार्टियां, जिन्होंने नहीं दिया उद्धव के पक्ष में वोट - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 30 नवंबर 2019

BJP के अलावा कौन सी हैं वो 3 पार्टियां, जिन्होंने नहीं दिया उद्धव के पक्ष में वोट

those-who-not-voted-uddhav
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की गठबंधन सरकार ने महाराष्ट्र विधानसभा में विश्वासमत हासिल कर लिया है। उद्धव ठाकरे की सरकार के पक्ष में कुल 169 विधायकों ने अपना समर्थन दिया। हालांकि फ्लोर टेस्ट से ठीक पहले भारतीय जनता पार्टी के विधायकों ने सदन में हंगामा किया। पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि यह विशेष सत्र संवैधानिक नियमों के खिलाफ जाकर बुलाया गया है। इसके बाद भाजपा के विधायकों ने सदन से वॉकआउट कर लिया। इस बीच भाजपा के अलावा तीन पार्टियां और ऐसी रहीं, जिनके चार विधायकों ने ना ही मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के पक्ष में मतदान नहीं किया और ना ही विरोध में। आइए जानते हैं, कौन सी हैं ये तीन पार्टी।

इन चार विधायकों ने नहीं लिया वोटिंग में हिस्सा
शनिवार को महाराष्ट्र विधानसभा में हुए शक्ति परीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को कुल 169 विधायकों का समर्थन मिला। इस दौरान भाजपा के सदस्यों ने सदन से वॉकआउट किया। भाजपा के अलावा असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के दो विधायक, राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के एक विधायक और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) यानी सीपीएम के एक विधायक ने ना तो उद्धव ठाकरे के पक्ष में मतदान किया और ना ही विरोध में। वोटिंग के दौरान ये चारों विधायक तटस्थ रहे। इस तरह उद्धव ठाकरे के पक्ष में 169 वोट और विरोध में एक भी वोट नहीं पड़ा। चार सदस्य वोटिंग से दूर रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...