नागरिकता संशोधन कानून को निरस्त करे सरकार : गहलोत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 22 दिसंबर 2019

नागरिकता संशोधन कानून को निरस्त करे सरकार : गहलोत

citizenship-bill-should-rollback-gahlot
जयपुर, 22 दिसम्बर, राजस्थान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार से नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) तुरंत निरस्त करने की मांग की है। श्री गहलोत ने आज यहां प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पत्रकारों से कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह धमकाने की भाषा बोल रहे हैं। ऐसी स्थिति में जब शांति बहाल करने की जरूरत है, वे लोगों की सम्पत्ति जब्त कर रहे हैं। उन्होेंने कहा कि जामिया इस्लामिया से शुरु हुआ जनआक्रोश देशभर मेें फैल गया है। इसमें सभी जाति और धर्मों के लोग हैं। आक्रोशित लोग सड़कों पर उतर रहे हैं। उन्होेंने आरोप लगाया कि राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के जरिए अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है। इस बिल से सभी धर्मों के लोग परेशान हैं। हालात बिगड़ रहे हैं। श्री गहलोत ने कहा कि हमारा शांतिमार्च पूर्ण रूप से शांतिपूर्ण रहेगा। सर्वदलीय शांतिमार्च में सात दलों सहित कई संगठनों के कार्यकर्ता शामिल हैं। इसमें किसी तरह की नारेबाजी नहीं हाेगी।  

कोई टिप्पणी नहीं: