विविधता में एकता भारत की विशेषता है : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 22 दिसंबर 2019

विविधता में एकता भारत की विशेषता है : मोदी

india-unite-modi
नयी दिल्ली, 22 दिसंबर, संशोधित नागरिकता कानून के विरोध को लेकर देशभर में हो रहे प्रदर्शनों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि विविधता में एकता भारत की विशेषता है। उन्होंने यहां रामलीला मैदान में आयोजित रैली को संबोधित करते हुए यह बात कही। मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री उदय योजना के माध्यम से लोगों को अपने घर और अपनी जमीन पर सम्पूर्ण अधिकार मिल पाया है और उन्हें संतोष है कि दिल्ली के 40 लाख लोगों के जीवन में नया सवेरा लाने का यह अवसर उन्हें और भाजपा को मिला है । प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘समस्याओं को लटकाकर रखना हमारी प्रवृत्ति नहीं है और न ही हमारा संस्कार है। पीएम उदय योजना दिल्ली की कच्ची कालोनियों के 40 लाख लोगों के जीवन में नया सवेरा लाने वाली है।’’  मोदी ने विपक्ष की पूर्ववर्ती सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव आते थे तो तारीखें आगे बढ़ाई जाती थीं, बुलडोजर का पहिया कुछ समय के लिए रुक जाता था, लेकिन समस्या वहीं की वहीं रहती थी। लोगों को इस चिंता से मुक्त करने और इस समस्या के स्थायी समाधान की ईमानदारी और नीयत इन लोगों ने कभी नहीं दिखाई । प्रधानमंत्री ने कहा कि काफी कम समय में प्रौद्योगिकी की मदद से दिल्ली की 1,700 से ज्यादा कॉलोनियों की बाउंडरी को चिह्नित करने का काम पूरा किया जा चुका है। इतना ही नहीं 1,200 से ज्यादा कॉलोनियों के नक्शे भी पोर्टल पर डाले जा चुके हैं । विपक्षी कांग्रेस एवं आप पर परोक्ष निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि जिन लोगों पर आप लोगों ने अपने घरों को नियमित कराने के लिए भरोसा किया था, वे खुद क्या कर रहे थे? इन लोगों ने दिल्ली के सबसे आलीशान और सबसे महंगे इलाकों में दो हजार से ज्यादा बंगले अवैध तरीके से अपने करीबियों को दे रखे थे । 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...