बिहार : ऑवर लेडी ऑफ असम्पसन चर्च चुहड़ी के 250वीं जयंती समारोह का समापन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 30 दिसंबर 2019

बिहार : ऑवर लेडी ऑफ असम्पसन चर्च चुहड़ी के 250वीं जयंती समारोह का समापन

our-lady-of-asampson
चुहड़ी, 30दिसम्बर (आर्यावर्त संवाददाता) ।चनपटिया प्रखंड के चुहड़ी में चुहड़ी पल्ली की 250वीं वर्षगांठ रविवार को जुबली समारोह के रूप में मनाया गया। 1769 में इसकी स्थापना की गई थी। इस अवसर पर चुहड़ी पल्ली को दुल्हन की तरह सजाया गया और पूरे धूमधाम से कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर महाधर्माध्यक्ष विलियम डिसूजा ने कहा कि परिवार विश्वास की प्रथम पाठशाला है। परिवार विश्वास रूपी मकान के कोने का वह पत्थर है जो मकान को जोड़ने का काम करता है। बेतिया धर्मप्रांत के पीटर सेबास्टीयन गोबियस ने कहा कि यीशु मसीह ने कहा है कि अपने समाज को परिवार की तरह समझना चाहिए। हमेशा माता पिता का आदर करना चाहिए। यहीं मानवता है। कार्यक्रम को पटना धर्मप्रान्त के सिस्टर ज्योत्सना, सिस्टर एलिस्टा, फादर तोबियास, फादर माइकेल भाजु, विसेंट फ्रांसिस, रेमन्ड, राजेश जैकब ,हरमन राफायल, मुक्ति क्लोरीन्स आदि ने सं‍बोधित किया। मौके पर अमर सिंह, रानी, सिस्टर हेलेना, सिस्टर करेंसन्स, मंजुला, विसेंट, मीता सहित इसाई समुदाय के विभिन्न जगहों के सैकड़ों महिला पुरुष मौजूद रहे। मंच का संचालन शिक्षिका मेरी आडलीन ने किया। जुबली समारोह के दौरान आयोजित कार्यक्रम में प्रवेश नृत्य, मिस्सा बलिदान, तिलक टीका, हाथ धुलाई ,माल्यार्पण, आरती वंदना समेत कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान बच्चियों के मनमोहक नृत्य संगीत ने दर्शकों का मन जीत लिया। इस दौरान कई प्रस्तुतियां दी गई। जो अपने आप में मनोहर थी। कार्यक्रम के अंत में सम्मान समारोह एवं महाप्रसाद का आयाेजन किया गया। जिसका सभी ने लुफ्त लिया। कार्यक्रम में नृत्य प्रस्तुत करती बालिकाएं। सम्मानित बुजुर्गों ने  धन्यवाद दिए। चुहड़ी पल्ली के 250 वीं जयंती के अवसर पर विभिन्न जगहों के चालीस बुजुर्गों को मंच से सम्मानित किया गया। बुजुर्गाें को सम्मान देकर समाज को एक बेहतर संदेश दिया गया। सम्मानित होने वाले बुजुर्गों में जुलियाना रिकार्डो, फिलोमीना ग्रेगरी, फिलोमीना लुईस, फिलोमीना बैदिक, फिलोमीना जोसेफ, लीली इस्दोर, रोजी थोमस, अन्ना बेजामीन, हेलेन सेराफीन, क्लारा जौन जेकब, एमा नताल, सिस्टर अलाकोक, आशा पीटर, माग्रेट जार्ज, मार्सेंट क्लारेंस, हेलेन फ्रांसिस, रोजी जेकब, एडलीन जोसेफात, मरियम इग्नास, फ्रीदा पास्कल, ट्रीजा रेमी, मेजरीन जोसेफात सहित जमशेदपुर, पटना, इलहाबाद सहित स्थानीय 40 बुजुर्ग शामिल रहे।  मालूम हो कि ऑवर लेडी ऑफ असम्पसन चर्च चुहड़ी के 250वीं जयंती समारोह का उद्घाटन बेतिया धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष विशप पीटर सेबेस्टियन गोवियस ने किया था। इसके बाद सभी श्रद्धालु गिरजाघर में आयोजित मिस्सा बलिदान में शामिल हुए। विशप पीटर सेबेस्टियन के साथ फादर तोवियास, फादर पाकिया राज, फादर भिनसेन्ट, फादर लुकस, फादर किशोर और उप याजक मनोज ने संयुक्त रूप से मिस्सा पूजा को चढ़ाया।  चुहड़ी पल्ली पुरोहित फादर तोवियास ने बताया वर्ष 1769 में चुहड़ी गिरजाघर का स्थापना हुआ था। इस वर्ष 2019 में गिरजाघर के स्थापना का दो सौ पचास वर्ष पूरे हो गए। इस अवसर पर पूरे वर्ष चुहड़ी पल्ली में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। 29 दिसंबर 2019 को जयंती वर्ष के समापन पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मिस्सा पूजा को संगीत मंडली द्वारा भजन भक्ति गीत संगीतमय बनाया। इस अवसर पर आयोजित मिस्सा बलिदान में सैकड़ों ईसाई श्रद्धालु, सिस्टरगण और बच्चें शामिल हुए। मिस्सा पूजा के समापन पर जसिंता अंतुनी के द्वारा विशप स्वामी, पुरोहिगण और उपस्थित ईसाई श्रद्धालुओं को धन्यवाद ज्ञापन दिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...