सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 02 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 2 दिसंबर 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 02 दिसंबर

दरिंदों के पुतलों को पेट्रोल डालकर जलाया शिवसेना ने जताया चौराहा पर आक्रोश 

sehore news
सीहोर। शिव सैनिकों ने डॉ प्रियंक ा के हत्यारों बहशी दरिंदों के पुतलों को पहले जूतों से पीटा फिर फांसी दी जिस के बाद पेट्रोल डालकर पुतलों को जलाया। शिवसेना कार्यकर्ताओं ने कोतवाली चौराहा पहुंचकर बहशी दरिंदों की शिकार हुई वेटनरी डॉ रैडडी को विन्रम श्रद्धांजली अर्पित की। शिवसैनिकों ने नारेबाजी करते हुए देश में बहन बेटियों के साथ लगातार होते दुष्कर्म को लेकर आक्रोश जताया। शिवसेना युवासेना जिलाध्यक्ष सुनील राय ने कहा की शिवसैनिक मातृशक्ति के साथ अब अन्याय सहन नहीं करेंगे। शिवसेना युवतियों को जल्दी हीं आत्मा रक्षा के लिए शस्त्रों वितरण करेगी जिस से की  स्कूल कॉलेज ट्यूवशन जाने आने वाली छात्राएं स्वयं की सुरक्षा कर सकें। विरोध प्रदर्शन जिलाध्यक्ष गब्बर यादव, युवासेना संभाग प्रभारी चंद्रशेखर डागर, युवासेना उपाध्यक्ष आकाश रावत, विद्वार्थी सेना प्रचारक प्रवीण यादव, युवासेना जिला प्रवक्ता विशाल पाटीदार, जितेंद्र विश्वकर्मा, नगर सचिव शेलेंद्र यादव, आदर्श यादव, नकुल राठौर, दीपेश गौड़, आदित्य राजपूत, विकास, संजय, रोहित, अखिल आदि शिवसैनिक शामिल रहे। 

अब...नो टेंशन, क्योंकि...बढ़ गई पेंशन -सरजू बाई (खुशियों की दास्तां) 
बुढ़ापे में मददगार साबित हो रही दुगुनी पेंशन 
sehore news
अब...नो टेंशन, क्योंकि बढ़ गई पेंशन यह कहना है सीहोर जिले की बुदनी तहसील में रहने वाली 85 वर्षीय सरजू बाई का, जिन्हें अपने बुढ़ापे में ऊपरी खर्च के लिए काफी परेशानी होती थी। सरजू बाई को पहले 300 रुपये प्रतिमाह की पेंशन मिलती थी, वह नाकाफी थी। इससे उनका खर्च पूरा नहीं हो पाता था। सरजू बाई की परेशानियां दूर हुई जब मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ द्वारा वचन पत्र के अनुसार पेंशन दुगुनी कर दी गई है। अब सरजू बाई को 600 रुपये प्रतिमाह पेंशन मिलती है। वह अपनी जिंदगी सुखमय व्यतीत कर रहीं हैं। सरजू बाई बताती हैं कि यदि मध्यप्रदेश सरकार पेंशन दुगुनी न करती तो उन्हें खर्च की परेशानी बनी रहती। अब वह निश्चिंत हैं, क्योंकि अब उन्हें अपने बुढ़ापे में छोटी-मोटी जरुरतों के लिए कोई परेशानी नहीं होती है। सरजू बाई मध्यप्रदेश सरकार के मुखिया को धन्यवाद देते नहीं थकतीं। 

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल पहुंचे आष्टा
परोलिया पंचायत सचिव को निलंबित करने के दिए निर्देश, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा का किया अनावरण
sehore news
पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग मंत्री मध्यप्रदेश शासन श्री कमलेश्वर पटेल सोमवार को सीहोर जिले के आष्टा पहुंचे। कार्यक्रम स्थल पर मंत्री श्री पटेल ने दस दिव्यांग हितग्राहियों को ट्रायसायकल का वितरण किया गया। इस दौरान ज्ञात हुआ कि जावर तहसील के ग्राम पंचायत परोलिया के 21 वर्षीय दिव्यांग विजेंद्र को दिव्यांग पेंशन नहीं मिलती है जिसपर मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने नाराजगी व्यक्त करते हुए परोलिया के पंचायत सचिव को निलंबित करने के निर्देश कलेक्टर श्री अजय गुप्ता को दिए। कलेक्टर द्वारा मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत आष्टा को तत्काल दिव्यांग को पेंशन प्रदान करने के निर्देश दिए। जनपद पंचायत परिसर में मंत्री श्री पटेल ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण किया एवं राष्ट्रगान गाया गया। उन्होंने राष्ट्रपिता को नमन करते हुए जनपद अध्यक्ष आष्टा एवं अधिकारी/कर्मचारियों को जनभागीदारी से मूर्ति स्थापित करने के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि गांधी जी की विचारधारा देश को जोड़कर रखने की विचारधारा है, देश के सभी समुदायों के लोगों को एक-साथ मिलकर विकास की ओर कदम बढ़ाना चाहिए। वर्तमान समय में हम सब गरीबों का कल्याण करके गांधीजी की विचारधारा को पुन: स्थापित कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि सभी अपने नैतिक दायित्वों का पूर्ण ईमानदारी से निर्वहन करें। इस अवसर पर मंत्री श्री पटेल ने जनपद पंचायत प्रांगण में सामुदायिक भवन बनवाये जाने के लिए 40 लाख रुपये की राशि स्वीकृत की है। जल्द ही सामुदायिक भवन बनाया जाएगा। साथ ही जो भी मांगे उनके समक्ष रखीं गई उन्हें भी पूरा करने का आश्वान दिया। कार्यक्रम के अंत में मंत्री श्री पटेल द्वारा लाड़ली लक्ष्मी योजना के प्रमाण पत्र, कृषि विभाग की विभिन्न योजनाओं जैसे स्पायरल संयंत्र के हितग्राहियों को स्वीकृति पत्र तथा स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण अन्तर्गत शौचालय निर्माण हेतु प्रोत्साहन राशि के स्वीकृति पत्र एवं 11 स्व सहायता समूहों को 11 लाख 25 हजार रुपये का चैक वितरित किया। मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने आजीविका मिशन स्व-सहायता समूह की महिलाओं से चर्चा कर उनके द्वारा संचालित सिलाई केंद्र का अवलोकन किया एवं उन्हें आश्वस्त किया कि अगले सत्र का गणवेश का कार्य मध्यप्रदेश शासन स्व-सहायता समूह के माध्यम से ही कराने जा रही है। इस अवसर पर पंचायत विभाग के अधिकारी/कर्मचारियों सहित अन्य सभी विभागों के अधिकारी तथा नगर पालिका अध्यक्ष आष्टा श्री कैलाश परमार, अध्यक्ष जनपद पंचायत आष्टा श्री बलबहादुर सिंह भगत, श्री शोभाल सिंह मुगली, श्री गोपाल इंजीनियर, सुश्री संगीता शर्मा, श्री राजीव गुजराती सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

11 जानलेवा बीमारियों से बचाने मिशन इंद्रधनुष अभियान की शुरूआत, जिले में हुई प्रथम चरण की शुरूआत

sehore news
राष्ट्रीय सघन मिशन इन्द्र धनुष अभियान 2.0 का प्रारंभ 2 दिसंबर को जिले के चिन्हित टीकाकरण केन्द्रों पर किया गया। टीकाकरण स्थल पर जनप्रतिनिधियों की प्रमुख उपस्थिति में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा 0 से 05 साल तक के बच्चों तथा गर्भवती महिलाओं को छूटा हुआ टीका लगाया गया। राष्ट्रीय सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 अभियान के अंतर्गत सात जानलेवा बीमारियों से बचाव के टीकें अभियान संचालित कर लगाए जाएंगे। राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम का उद्देश्य शिशुओं एवं गर्भवती महिलाओं में होने वाली 11 जानलेवा बीमारियों पोलियो, टीबी, हेपेटाइटिस-बी, काली खांसी, गलघोंटू, टिटेनस, दस्त रोग,निमोनिया,खसरा रूबेला,एवं हिब से बचासव करना तथा शिशु एवं बाल मृत्यु दर में आशातीत कमी लाना है। यह टीकें बच्चों को जन्म के समय, डेढ़ माह, ढाई माह,साढे़ तीन माह,9 माह, डेढ़ साल तथा 5 साल की आयु के अंतराल पर लगाए जाते है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.प्रभाकर तिवारी के अनुसार दिसंबर माह में प्रथम चरण का आयोजन 2 से 12 दिसंबर तक किया जाएगा। जिसमें जिसमें दिनांक 2, 4, 5, 7, 9, 11, 12 दिसंबर 2019 सम्मिलित होंगे। प्रथम चरण में कुल 493 टीकाकरण सत्रों का आयोजन कर 1479 बच्चों को टीकाकृत किया जाएगा। अभियान के अंतर्गत 597 गर्भवती महिलाओं का भी टीकाकरण किया जाना है। अभियान का द्वित्तीय चरण 06 जनवरी से 16 जनवरी 2020, तृतीय चरण 3 फरवरी से 13 फरवरी 2020 तथा तृतीय चरण 2 मार्च 12 मार्च 2020 तक संचालित होगा। अभियान के अंतर्गत 0 से 5 वर्ष तक सभी बच्चों का टीकाकरण किए जाने का लक्ष्य निर्धारित है। ग्यारह जानलेवा सुरक्षित एवं असरकरी टीके लगवाना तथा अपने बच्चे का संपूर्ण टीकाकरण करवाना अभियान का मुख्य उद्देश्य हैं। अभियान के प्रचार-प्रसार के लिए ग्राम स्तर तक आशा कार्यकर्ताओं एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के माध्यम से अंर्तव्यैक्तिक संवाद द्वारा आमजन को स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध कराएं गए हैं।

आज मनाया जाएगा विश्व दिव्यांग दिवस

सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग के उपसंचालक ने जानकारी देते हुए बताया कि शासन के निर्देशानुसार प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी 3 दिसंबर को विश्व विकलांग दिवस मनाया जाएगा। इस अवसर पर दिव्यांगजनों के खेलकूद प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। प्रतियोगिता का आयोजन शासकीय महिला औद्योगिकी प्रशिक्षण संस्थान में 3 दिसंबर को प्रात 10:30 बजे से आयोजित किया जाएगा। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम, भाला फेक, गोला फेक, निबंध प्रतियोगिता, चित्रकला, रंगोली, फेन्सी ड्रेस, डांस प्रतियोगिता, 100 मीटर की दौड़, एकल गायन सहित दिव्यांगजनों द्वारा बनाई कलाकृति एवं चित्रकला, हस्तकला आदि का स्टाल लगाया जाएगा।

जन-सामान्य को निर्माण कार्य के लिए सस्ती दरों पर मिलेंगे गौण खनिज

राज्य शासन ने जन-सामान्य को निर्माण कार्यो के लिए सस्ती और सुलभ दरों पर गौण खनिज उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। खनिज साधन द्वारा मध्यप्रदेश गौण खनिज नियम 1996 के नियम 29 के उप नियम 5 के अधीन गौण खनिजों की पुनरीक्षित रॉयल्टी और अनिवार्य भाटक दरें जारी की गई है। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अनुवांशिक कुम्हार वर्गो को रॉयल्टी से छूट यथावत जारी रहेगी। मार्बल और ग्रेनाइट्स के ब्लॉक्स के निर्माण में निकलने वाले अनुपयोगी छोटे पत्थरों की निर्माण कार्यो में सुलभता से उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए नई दरें निर्धारित की गई हैं। अब ग्रेनाईट का अनुपयोगी वेस्ट 120 रूपये प्रति घन मीटर और मार्बल का अनुपयोगी वेस्ट 200 रूपये प्रति घन मीटर की दर पर उपलब्ध होगा। इस प्रयास से खदानों से निकलने वाले अनुपयोगी पत्थरों का उपयोग निर्माण कार्यो में किया जा सकेगा। मार्बल एवं ग्रेनाइट के आकारीय पत्थरों की रॉयल्टी दरों में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। साथ ही, गिट्टी और पत्थरों की दरों में पांच वर्षो में बाजार मूल्यों को देखते हुए 20 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। खनीज साधन विभाग ने अनुपयोग पड़ी खदानों को चालू करने के लिए डेड रेन्ट दिये जाने के प्रावधान को सख्त कर दिया है। इसके अनुसार पूर्व में 40 हजार रूपये प्रति हेक्टेयर प्रति वर्ष के स्थान पर ग्रेनाईट, मार्बल आदि खनिजों के लिए दो लाख रूपये प्रति हेक्टर प्रति वर्ष दर निर्धारित की गई है। इसी प्रकार, गिट्टी, मुरम आदि खनिजों के लिए डेड रेन्ट एक लाख रूपये प्रति हेक्टर प्रति वर्ष निर्धारित किया गया है।

अमानक उर्वरक का क्रय-विक्रय प्रतिबंधित

जांच में उर्वरक का नमूना अमानक पाए जाने पर उसके क्रय-विक्रय, भंडारण और स्थानांतरण पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाकर इसे प्रतिबंधित कर दिया गया है। इस सिलसिले में उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास पदेन अधिसूचित प्राधिकारी ने आदेश जारी कर दिया है। उर्वरक नियंत्रण आदेश 1985 के तहत सत्यम ट्रेडर्स जावर से SSP 16% 14.5% कोरोमंडल इंटरनेशनल लिमिटेड का नमूना उर्वरक गुण नियंत्रण प्रयोगशाला इंदौर भेजा गया था जिसके अमानक पाए जाने पर इसके क्रय-विक्रय, भण्डारण और स्थानांतरण पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई हैं।

अति कम वजन के बच्चों के लिए खुलेंगे 3052  डे-केयर सेन्टर "आँगन"

प्रदेश में कुपोषण के शिकार अति कम वजन के बच्चों की सेहत में सुधार लाने के लिए महिला-बाल विकास विभाग द्वारा 3052 डे-केयर सेन्टर "आँगन" खोले जाएंगे। आँगन केन्द्रों मे समुदाय स्तर पर ऐसे बच्चों की देखभाल और पोषण प्रबंधन किया जाएगा। इस व्यवस्था पर लगभग साढ़े चार करोड़ रूपये की राशि खर्च की जाएगी। डे-केयर सेन्टर "आँगन" प्रदेश के उन आँगनवाड़ी केन्द्रों में शुरू किया जाएगा, जिसमें अति कम वजन के कुल 5 अथवा उससे अधिक बच्चे है। आँगनवाड़ी केन्द्र पर नियमित रूप से 3 माह तक शिविर लगाए जाएंगे। तीन माह के दौरान प्रत्येक 15 दिन में बच्चों के स्वास्थ्य की स्थिति का फॉलोअप किया जाएगा। यह गतिविधि लक्षित गांव में तीन माह तक सघन रूप से और तीन माह तक पाक्षिक फॉलोअप के रूप में जारी रहेगी। प्रत्येक ग्राम में "आँगन" केन्द्र में सहयोग के लिए पोषण सेविका का चिन्हांकन किया जाएगा। अति कम वजन के बच्चों को प्रतिदिन नाश्ता, भोजन, थर्ड मील और शाम का अतिरिक्त नाश्ता भी दिया जाएगा। "आँगन" केन्द्रों का आवश्यकता अनुसार प्रदेश के अन्य जिलों में भी विस्तार किया जाएगा।

बालिका लिंगानुपात सुधार के संबंध में हुआ अनेक कार्यक्रमों का आयोजन

sehore news
बेटी बचाओ बेटी पढाओं योजनांतर्गत बालिकाओं की शिक्षा तथा लिंगानुपात को बढाने हेतु विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। बेटी बचाओं बेटी पढाओं योजना का उद्देष्य लडकियों के महत्व के बारे में लोगो को जागरूक करना एवं लडकी के लिए कल्याण सेवा की दक्षता में सुधार करना, कन्या भ्रूण हत्या को समाप्त करना, लडकियो की सुरक्षा सुनिश्चित करना ओर उनको अच्छी शिक्षा प्रदान करना है। बालिका लिंगानुपात में सुधार हेतु कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देशानुसार एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास श्रीमती रचना बुधोलिया के मार्गदर्शन में सीहोर जिले के 1415 आंगनवाडी केन्द्रो पर वृहद किशोरी बालिका दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें गर्भवती महिलाओं, नवविवाहित जोडो, किषोरी बालिकाओं, धर्मगुरू, समाज के मुखिया, जनप्रतिनिधि, आदि को योजना की जानकारी प्रदान की गई। साथ ही गर्भ में भ्रुण का लिंग परिक्षण नही कराने हेतु अपील की गई। पीसीपीएनडीटी एक्ट की जानकारी प्रदान कर सजा एवं जर्माने के बारे में भी बताया गया। कार्यक्रमों के दौरान रंगोली, मेंहदी, कुर्सीदौड, आदि प्रतियोगीताएं आयोजित की गई। इस अवसर पर जिले में संचालित समस्त सोनोग्राफी सेंटर पर लिंग चयन नही करवाने संबंधी पोस्टर भी लगवाये गये।

अनुसूचित-जाति छात्रावासी विद्यार्थियों की शिष्यवृत्ति में वृद्धि

राज्य शासन ने अनुसूचित जाति के छात्रावासों और आश्रमों में रहने वाले विद्यार्थियों की शिष्यवृत्ति में वृद्धि की है। वर्ष 2019-20 में छात्रों के लिए 1230 रुपये और छात्राओं के लिए 1270 रुपये की प्रतिमाह शिष्यवृत्ति देय होगी। वर्ष 2018 में छात्रों को 1140 और छात्राओं को 1180 रुपये शिष्यवृत्ति प्रदान की जा रही थी। शिष्यवृत्ति की नई दर एक जुलाई, 2019 से प्रभावशील होगी।

निरोगी काया-रक्तचाप केंसर, मधुमेह का परीक्षण और निःशुल्क उपचार

स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए जा रहे निरोगी काया अभियान के अंतर्गत 30 वर्ष से अधिक आयु के सभी पुरुष और महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण कर उच्च रक्त चाप, मधुमेह तथा कैंसर की प्रारंभिक अवस्था में पहचान कर उसका निःशुल्क इलाज किया जा रहा है। आशा कार्यकर्ता तथा स्वास्थ्य कर्मी लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर रहे हैं। परीक्षण के उपरांत बीमारियों से ग्रस्त पाए जाने पर मरीजों को चिकित्सालय भेजा जा रहा है, जहाँ उनका इलाज किया जाता है। 

विश्व दिव्यांग दिवस के अन्तर्गत दिव्यांगों ने दिखाया हुनर

sehore news
विश्व दिव्यांग दिवस के अन्तर्गत विकासखंड सीहोर में शासकीय उच्चतर मनुबेन माध्यमिक विद्यालय मंडी में सोमवार को दिव्यांग बच्चों की विकासखंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। आयोजित कार्यक्रम में दुसी दौड़ (दृष्टिबाधित) में प्रथम स्थान कु मुस्कान ने, द्वितीय स्थान कु.तन्नु एवं तृतीय स्थान अन्नु ने प्राप्त किया। कुसी दौड़ (मूकबधिर) में प्रथम कु.शालिनी, द्वितीय कु.भावना एवं तृतीय स्थान पर कु. शिवानी रहीं। कुर्सी दौड़ (मानसिक दिव्यांग) में प्रथम स्थान कु.ऋषिका, द्वितीय स्थान कु.सुनीता एवं तृतीय स्थान कु भारती ने प्राप्त किया। इसी प्रकार रंगोली प्रतियोगिता में प्रथम कु.राखी, द्वितीय शिवानी एवं तृतीय सुनीता रहीं। वहीं 100 मीटर दौड़ में प्रथम स्थान छाया, द्वितीय स्थान शालिनी एवं तृतीय स्थान मुस्कान ने प्राप्त किया। मटकी फोड़ प्रतियोगिता में प्रथम प्रतिज्ञा, द्वितीय अमरीन एवं तृतीय स्थान पर भारती रहीं। इस अवसर पर स्कूल प्राचाय श्री आरसी वर्मा, एपीसी श्री फैजान उद्दीन खान, प्रभारी प्राचार्य श्री सभरलाल, बीआरसीसी श्री ओपी शर्मा सहित अन्य शिक्षक एवं पालक उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...