विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 04 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 4 दिसंबर 2019

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 04 दिसंबर

‘नंद घर आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की’ के जयकारों से गूंजा वैशालीनगर
श्रीमद् भागवत कथा में धूमधाम से मनाया गया कृष्ण जन्मोत्सव
vidisha news
विदिशा  रीठाफाटक स्थित वैशाली नगर में चल रही सात दिवसीय संगीतमय भागवत कथा के चौथे दिन श्री कृष्ण जन्मोत्सव की धूम रही। कथास्थल पर मौजूद श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए पंडित अंकितकृष्ण तेनगुरिया ने कहा कि देवकी के सातवें गर्भ में अनन्त भगवान शेष पधारे। जब देवकी के आठवें गर्भ का समय आया तो उनका शरीर ओज से पूर्ण हो गया। कंस को विश्वास हो गया कि इस बार अवश्य ही मुझे मारने वाला विष्णु आया है। इसीलिए कारागार के आसपास पहरेदारों की संख्या बढ़ा दी गयी। भाद्रपद की अँधेरी रात की अष्टमी तिथि थी। शंख, चक्र, गदा, पद्म, वनमाला धारण किए भगवान देवकी-वसुदेव के समक्ष प्रकट हुए। भगवान का दर्शन करके माता देवकी धन्य हो गईं और भगवान फिर बाल रुप में मां देवकी की गोद में खेलने लगे, कथास्थल पर कृष्ण जन्म प्रसंग के साथ भजनों पर श्रद्धालु झूमते रहे। उन्होंने पुष्प वर्षा कर कृष्ण आगमन का स्वागत किया । इस अवसर पर भगवान के बालरुप की झांकी की एक झलक देखने के लिए भक्तों में भारी उत्साह देखा गया।  कथावाचक गौवत्स पंडित अंकितकृष्ण तेनगुरिया (बटुकजी) ने कहा कि जिस समय भगवान कृष्ण का जन्म हुआ, जेल के ताले टूट गए, पहरेदार सो गए और भगवान के आते ही वासुदेव व देवकी बंधन मुक्त हो गए।जब भगवान को लेकर वासुदेवजी यमुना पार करने के लिए उतरे तो यमुनाजी भी भगवान के पैर छूने के ललायित होने लगीं । भगवान का जन्म होने के बाद वासुदेव ने भरी जमुना पार करके उन्हें गोकुल पहुंचा दिया । वहां से वह यशोदा के यहां पैदा हुई शक्तिरूपा बेटी को लेकर चले आये।  बटुकजी ने भगवान श्री कृष्ण जन्म का मार्मिक वृतांत सुना कर माहौल को भक्तिमय कर दिया। उन्होंने कहा कि भगवान अपने सच्चे भक्तों पर सदैव कृपा बरसाते हैं। उन्होंने नंद के घर आनंद भयो जय कन्हैया लाल की गाकर भक्तों को आनंदित होकर थिरकने पर मजबूर कर दिया। बटुकजी ने सभी श्रोताओं को हल्दी लगाकर कृष्ण प्रगटोत्सव की सभी को बधाई भी दी। प्रसिद्ध भजन गायक राजा विश्वकर्मा, राहुल विश्वकर्मा, पवन पेड और उनकी टीम ने बधाई गीत गाए। कथा व्यास के साथ ही आचार्य सतेंद्र शास्त्री, पंडित गणेशराम शर्मा ने मुख्य यजमान मिश्रीलाल कुशवाह, महेश कुशवाह के साथ भगवान के बालरुप की पूजा अर्चना की। आचार्य सतेंद्र शास्त्री महाराज ने बताया कि कथा के पांचवे दिन भगवान की बाल लीलाओं के प्रसंग की कथा होगी । कथा प्रतिदन दोपहर 1 से शाम 4 बजे तक आयोजित हो रही है 7 दिसंबर को कथा का समापन होगा जिसमें आखिरी दिन पूर्णाहूति के साथ महाप्रसादी वितरण भी किया जाएगा । 

विदिशा जिले में यूरिया की नही आएगी कमी - विधायक शशांक भार्गव

विदिशाः- विदिशा जिले में यूरिया की आपूर्ति के संबंध में लगतार प्राप्त हो रही शिकायतों एवं कमी के संबंध में विधायक शशांक भार्गव ने कृषकों के हित में गंभीरता पूर्वक समस्या के समाधान हेतु भोपाल कमिश्नर श्रीमति कल्पना श्रीवास्तव से एवं एम.डी मार्कफेड स्वाती मीना से चर्चा कर विदिशा जिले को यूरिया की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित किये जाने की मांग की। जिसके संबंध में उच्च अधिकारियो ने आश्वस्त किया कि विदिशा को एक-दो कार्य दिवस में 4 रैक यूरिया मिलना शुरू हो जायेगी। 

एन.एच. वाय पास पर सुरक्षा एवं सौदर्यीकरण कार्य शीघ्र कराये- विधायक भार्गव

vidisha news
विदिशाः- विदिशा विधायक शशांक भार्गव ने एन.एच. भोपाल विदिशा सागर वाय पास मार्ग का आज निरीक्षण किया, उनके साथ एन.एच. के एस.डी.ओ. श्री बी.एल.अहिरवार, एवं इंजी. अनिल जैन भी उपस्थित रहे, विधायक भार्गव ने कहा कि एन.एच. वायपास पर आये दिन होने वाली दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने एवं एन.एच का सांैर्दर्यीकरण कार्य प्रमुख रूप से प्राथमिकता से कराये जाये, उन्होने कहा कि प्रत्येक चैराहे पर संकेतक बोर्ड, कैट आई, लाईट, थर्माेप्लास्टिक मार्किंग, के साथ ही सौलर लाईट, ब्लिकर्स सड़क के दोनो और की साईड पर उक्त कार्य किये जाये। एन.एच वायपास पर पड़ने वाले सभी चैराहो का सौदर्यीकरण कार्य ठीक ढंग से हो, गंभीर दुर्घटनाओं से बचाव के लिये संकेतको के माध्यम से सभी संभव उपाय किये जाये। भोपाल एवं सागर से आने वाले वाहनो की आवागमन सुविधा हेतु संकेतकों की पर्याप्त व्यवस्था हो, लगभग 72 ब्लिकर्स के माध्यम से सड़क के दोनो और रोशनी की पर्याप्त व्यवस्था हो। इस अवसर पर वरिष्ठ काॅग्रेस नेता रतनसिंह यादव, मनोज कपूर विधायक प्रतिनिधि जिला पंचायत विदिशा, मोहरसिंह रघुवंशी विधायक प्रतिनिधि, दीवान किरार प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

मातृ वंदना सप्ताह का शुभारंभ -सप्ताह भर होंगे कार्यक्रम

अति महत्वाकांक्षी योजना मातृ वंदना योजना जो प्रथमवार गर्भधारण करने वाली महिलाओं के लिए 1 जनवरी से प्रारंभ की गई है। इस योजना में प्रथमवार गर्भधारण करने वाली माता के पंजीयन होने पर प्रथम किश्त के रूप में 1 हजार रूपए, गर्भावस्था के 6 माह होने पर द्वितीय किश्त के रूप में रूपए 2 हजार रूपए एवं प्रसव पश्चात बच्चें के प्रथम चक्र के टीकाकरण पूर्ण होने पर तृतीय किश्त के रूप में रूपए 2 हजार रूपए महिलाओं के आधार लिंक बैंक खाते में सीधे जमा किए जाते हैं अर्थात कुल 5 हजार की नगद सहायता तीन किश्तों में महिला को दी जाती है। 

खादी के प्रति जागरूकता लाने के लिये सुझाव जारी

मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड ने अपने फैशनेबल और डिजाइनर खादी वस्त्रों को “कबीरा’’ ब्रॉण्ड के नाम से मार्केट में लांच किया है। खादी की बिक्री को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश में 14 केन्द्र खोले गए हैं। “कबीरा’’ का मुख्य उद्देश्य सभी आयु वर्ग के लोगों के बीच खादी को लोकप्रिय बनाना है और उनमें स्वदेशी पोषाक के बारे में जागरूकता लाना है। मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड ने एमपी-मायगव के माध्यम से लोगों में खादी के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिये सुझाव एवं विचार आमंत्रित किए हैं। स्वदेशी वस्त्रों को लोकप्रिय बनाने के लिए नागरिक अपने सुझाव mp.mygov.in पर साझा कर सकते हैं। इस पोर्टल पर खादी से बने कपड़ों को लोकप्रिय बनाने और हाथ से बने कपड़ों के बारे में लोगों को जागरूक करने के बारे में विस्तार से बताया गया है। 

स्कूलों में हेल्थ एण्ड वेलनेस गतिविधियां आयोजित

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में चलाए जा रहे निरोगी काया अभियान के तहत जिले के सभी नगरीय, ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य गतिविधियां आयोजित कर बच्चों तथा नागरिकों को विभिन्न बीमारियों की जानकारी दी जा रही है। उल्लेखनीय है कि निरोगी काया अभियान के तहत 30 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है तथा विभिन्न बीमारियों की जानकारी दी जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...