विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 22 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 22 दिसंबर 2019

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 22 दिसंबर

"आर. ऐ. के. कृषि महाविद्यालय श्रमिक कर्मचारी संघ का गठन 

vidisha news
सीहोर ! 22/12/2019     राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय श्रमिक कर्मचारी संघ का निर्वाचन हुआ। इस अवसर पर श्रमिक कर्मचारी संघ के प्रांतीय महामंत्री ( अशोक गोस्वामी ग्वालियर ) के आदेश अनुसार गठन किया। इस अवसर पर आर. ऐ. के. कृषि महाविद्यालय श्रमिक संघ के दिनेश वर्मा जी को अध्यक्ष चुना गया , उपाध्यक्ष पद पर मांगीलाल मालवीय, सचिव जगदीश मालवीय, कोषाध्यक्ष जावेद खान , सह कोषाध्यक्ष सुरेश मालवीय को चुना गया ! संगठन मंत्री राजमल / नानक जी, पुष्पा बाई/.अजय,नारंगी बाई/महेश,  कार्यकारिणी सदस्यों के रूप में रामप्रसाद, अब्बास खान , कालू राम/ रामरतन, बाबूलाल/ दिलीप सिंह को नियुक्त किया गया।  अंत में आभार प्रदर्शन श्री मनोहर बैरागी जी द्वारा किया गया !

विरोध प्रदर्शन एवं भड़काऊ भाषण देने पर वनरक्षक को किया निलंबित

वन मंडलाधिकारी श्री रमेश गनावा द्वारा भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत शासकीय अधिकारी वनरक्षक श्री कमलेश दोहरे के विरुद्ध मप्र सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के तहत निलंबन की कार्यवाही की गई है। अनुविभागीय अधिकारी (वनविभाग) से प्राप्त प्रतिवेदन के अनुसार वनरक्षक श्री कमलेश कुमार दोहरे को गत दिवस सीहोर में किए गए विरोध प्रदर्शन में शामिल होकर विरोध प्रदर्शन एवं भड़काऊ भाषण देने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। ‍िनलंबन अवधि में श्री दोहरे का मुख्यालय परिक्षेत्र सा.लाड़कुई निर्धारित किया गया है। नियमानुसार श्री दोहरे को निलंबन काल में जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता रहेगी।  

शीतकालीन अवकाश में प्रशिक्षण कक्षाएं 12 से 4 बजे तक

जिले की समस्त शासकीय शालाओं के छात्र-छात्राओं की सहभागिता से सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रस्तुति हेतु विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं का चयन किया जाकर विभिन्न प्रशिक्षण केन्द्रों पर उपस्थिति सुनिश्चित की जा रही है। संयुक्त संचालक लोक शिक्षण, भोपाल ने उच्चतर माध्यमिक और हाई स्कूल के प्राचार्यों को निर्देश दिए हैं कि शीतकालीन सत्र में शासकीय विद्यालयों में 23 से 28 दिसम्बर के दौरान प्रशिक्षण की कक्षाएं 23,24,26 और 28 दिसम्बर को दोपहर 12 बजे से 4 बजे तक तथा 30 दिसम्बर से 7 जनवरी तक दोपहर को 1 बजे से सायं 4 बजे तक प्रशिक्षण कक्षाएं संचालित की जायें। इसके साथ ही उन्होंने 25 दिसम्बर को क्रिसमस का अवकाश होने से प्रशिक्षण कक्षायें संचालित नहीं की जाये।

विदेश अध्ययन हेतु निःशुल्क शिक्षा योजना 2019

समस्त म.प्र. भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल द्वारा वैध पंजीकृत श्रमिकों के पुत्र एवं पुत्री को विदेश स्थित मान्यता प्राप्त संस्थानों में गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए ‘’विदेश अध्ययन हेतु निःशुल्क शिक्षा योजना 2019‘’ प्रारम्भ की गई है। इस योजना के अन्तर्गत वास्तविक शिक्षण शुल्क अथवा 40,000 यू.एस. डॉलर तक दी जाएगी या जो कम हो तथा निर्वाह भत्ता अधिकतम 10,000 यू.एस. डॉलर इसके अतिरिक्त बीजा शुल्क एवं बीमा प्रीमियम निवास स्थान से विमानपत्तन तक जाने एवं वापसी का द्वितीय श्रेणी का रेल, बस किराया एवं शैक्षणिक संस्थान के निकटतम स्थान तक वायुमार्ग से जाने एवं वापसी का इकोनॉमी क्लास का वास्तंविक किराया नियमानुसार पात्रता वाले छात्रों को देय होगा। विद्यार्थियों एवं अध्ययन संस्थाओं का चयन राज्य स्तरीय समिति द्वारा किया जाएगा। सभी पंजीकृत श्रमिकों से अपील है कि अधिक से अधिक संख्या में मण्डल की योजना का लाभ लें।

आदिवासी संस्कृति और देव-स्थल संरक्षण के लिये आष्ठान योजना

प्रदेश में निवास करने वाले आदिवासियों की संस्कृति और उनके देव-स्थलों के संरक्षण के लिये आदिम-जाति कल्याण विभाग ने नवीन आष्ठान योजना प्रारंभ की है।  यह योजना प्रदेश में इस वर्ष 14 जून से प्रारंभ की गई है। आष्ठान योजना में आदिवासी समुदाय के कुल-देवता और ग्राम देवी-देवताओं के स्थानों में निर्मित देवगुढ़ी, मढ़िया, देवठान के निर्माण और जीर्णोद्धार के साथ इन स्थानों पर आने वाले श्रद्धालुओं के विश्राम के लिये सामुदायिक भवन का निर्माण किया जाएगा। इसके साथ ही, इन देव-स्थलों में पेयजल, स्नानागार, शौचालय, विद्युत और पेयजल की व्यवस्था भी की जाएगी। योजना के लिये विभागीय बजट में पर्याप्त प्रावधान किया गया  है।

नारी शक्ति पुरस्कार हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित

केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा नारी शक्ति पुरस्कार वर्ष 2019 के लिए महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले व्यक्ति एवं संस्थाओं को पुरस्कार हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित किए हैं। नारी शक्ति पुरस्कार महिलाओं के आर्थिक एवं सामाजिक सशक्तिकरण के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले व्यक्ति समूह एवं प्रशासनिक संगठन को दिया जायेगा। प्रत्येक वर्ग में प्रमाण-पत्र एवं एक लाख रूपए का नगद पुरस्कार प्रदान किया जायेगा। पुरस्कार के संबंध में विस्तृत जानकारी वेबसाइट www.narishaktipurskar.wcd.gob.in  पर उपलब्ध है। आवेदन पत्र वेबसाइट के माध्यम से ही ऑनलाईन आमंत्रित किए गए हैं।

पहले सबकी बातों को करता था अनसुना-लक्ष्मीनारायण  (खुशियों की दास्तां)
श्रवण यंत्र पाकर अब खुश है लक्ष्मीनारायण
vidisha news
सीहोर निवासी लक्ष्मीनारायण राय सबकी बातों को अनसुना कर देते थे। क्योंकि उन्हें श्रवण बाधिता के कारण कुछ भी सुनाई नहीं देता था। अपनी सुनसान जिंदगी से काफी परेशान थे। हितग्राही लक्ष्मीनारायण राय को कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के आदेशानुसार जिला विकलांग एवं पुर्नवास केन्द्र द्वारा लक्ष्मीनारायण की औडियोमिट्री जांच करवाई गई। चिकित्सीय जांच से स्पष्ट हुआ कि परवेज खां श्रवण बाधिता से ग्रसित है। जिला विकलांग एवं पुनर्वास केन्द्र द्वारा लक्ष्मीनारायण को श्रवण यंत्र प्रदान किया गया। लक्ष्मीनारायण राय बताते हैं कि श्रवण बाधिता से ग्रसित होने के कारण लोग या परिवार वाले कुछ भी कहते थे तो वह सिर्फ उनकी तरफ निहारते रहते थे, लेकिन जबाव देने में असमर्थ रहते, क्योंकि उन्हें पता ही नहीं होता कि किसने क्या बोला है। अपने दैनिक कार्यों को करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था। लेकिन श्रवण यंत्र पाकर वह सब कुछ सुन सकते हैं और उनकी सुनसान जिंदगी में रौशनी आ गई है। लक्ष्मीनारायण द्वारा दिव्यांगों के लिए चलाई जा रही योजनाओं का धन्यवाद देते हुए जिला विकलांक एवं पुर्नवास केन्द्र का आभार व्यक्त किया गया है।

भारत का हृदय गांव (विशेष लेख)

कहते हैं भारत का हृदय गांव में निवास करता है यह बात एकदम सच है कि गांव आज भी अपनी सांस्कृतिक एकता के लिए जाने जाते हैं आज भारत में, लगभग 6,28,221 गांव है वही हम बात मध्य प्रदेश की करे तो मध्यप्रदेश में गांव की संख्या 55, 429 है भारत के लगभग 70 फ़ीसदी आबादी गांव में निवास करती है भारत के गांव अपनी एक अलग पहचान लिए हुए है हमारी भारतीय संस्कृति को समेटे हुए यह गांव आपसी सहयोग भाईचारे की भावना से ओतप्रोत है आज भी गांव में लोग मिलजुल कर अपना गुजारा करते हैं। तथा एक दूसरे की सहयोग की भावना को हमेशा अपने दिल में रखते हैं। यह कई धर्म जाति समुदाय के लोग एक साथ निवास करने के बावजूद भी यह आपसी सहयोग की भावना आज भी बनी हुई है। गांव में सुबह की शुरुआत आज भी पंछियों की मधुर ध्वनि के साथ होती है। सचमुच में भारत के गांव आज भी हमें एकता का संदेश देते हैं । त्योहारों के अवसर पर परिवार के सभी सदस्य साथ मिलकर के बड़े धूमधाम से इन्हें मनाते हैं। सचमुच में गांव एकता का प्रतीक है। हमें नहीं भूलना चाहिए कि गांव हमारी भारतीय संस्कृति को बनाए रखने में एक अहम योगदान दे रहे हैं। सचमुच में हम बहुत खुशनसीब है जहां के ग्रामीण परिवार एकता का संदेश देते हुए भारत की अखंडता को अक्षुण्ण बनाए रखने में एक महत्वपूर्ण योगदान प्रदान कर रहे हैं।  हम बात कर रहे हैं उन गांव की जहां की जनसंख्या का 75% भाग कृषि एक कृषि से जुड़े हुए व्यवसाय अपनी आजीविका चलाते हैं। और भारत की अर्थव्यवस्था में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। भारत की लगभग 64% जनसंख्या की कृषि कार्यों में संलग्न ता तथा कुल राष्ट्रीय आय जनसंख्या की कृषि कार्यों में संलग्नता तथा कुल राष्ट्रीय आय में लगभग 27.4% भाग स्त्रोत के रूप में कृषि महत्वपूर्ण हो गई है जो कि ग्रामीण परिवार की देन है देश के निर्यात में कृषि का योगदान 18% है इसलिए सचमुच में ग्रामीण परिवार भारत का हृदय ग्रामीण परिवार जिस तरह से आपसी सामंजस्य बनाकर चलता है भारत के विकास के लिए एक शुभ संकेत है

मातृ वंदना योजना-गर्भवती महिलाओं को मिलेगा फायदा

मातृ वंदना योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को मजदूरी के आंशिक क्षतिपूर्ति के रूप में नगद प्रोत्साहन प्रदान किया जा रहा है ताकि प्रथम बच्चें के प्रसव के पूर्व एवं पश्चात बच्चा उन्हें पर्याप्त आराम मिल सके। नगद प्रोत्साहन के माध्यम से गर्भवती महिलाओं एवं धात्री माताओं के स्वास्थ्य संबंधी व्यवहारों में सुधार लाना इस योजना का मुख्य उद्देश्य है। ऐसी सभी गर्भवती महिलाएं और धात्री माताएं जो एक जनवरी 2017 के पश्चात परिवार में जन्मे पहले बच्चें से संबंधित है तो योजना के लिये पात्र होगी। प्रथम जीवित बच्चें संबंधित समस्त गर्भवती महिलाएं एवं धात्री माताएं इसके लिए पात्र होगी। सभी सरकारी या सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में कार्यरत कर्मचारी इसके पात्र नहीं होंगे।

किशोर कुमार पुरस्कार 2019 के लिये प्रविष्टियाँ आमंत्रित

राज्य शासन द्वारा स्थापित किशोर कुमार पुरस्कार 2019 के लिये सिनेमा संगीत के क्षेत्र में प्रदेश के सक्रिय युवा गायक, गायिकाओं से 20 जनवरी 2020 तक प्रविष्टियां आमंत्रित की गई हैं। इस पुरस्कार में एक लाख रूपये तथा प्रमाण-पत्र प्रदान किए जाते है। इच्छुक कलाकार उस्ताद अलाउद्दीन खां एवं संगीत कला अकादमी कार्यालय में कार्य दिवसों में प्रवेश फार्म प्राप्त कर सकते हैंअथवा अकादमी की वेबसाइट www.khajurahodancefestival.com  से फार्म, नियम और शर्तें डाउनलोड कर सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...