मधुबनी के क्रांतिकारी नौजवानो को सलाम करता हूं : देवेन्द्र प्रसाद यादव - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 28 जनवरी 2020

मधुबनी के क्रांतिकारी नौजवानो को सलाम करता हूं : देवेन्द्र प्रसाद यादव

बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर  अमर रहे के नारे से गुंजा मधुबनी
devendra-yadav-support-nrc-caa-protesters-madhubani
मधुबनी- 28 जनवरी (रजनीश के झा) एनआरसी,सीएए, एनपीआर, कानून के खिलाफ विगत 7 जनवरी से मधुबनी समाहरणालय के सामने संविधान बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले चल रहे अनिश्चितकालीन धरना हर दिन लोगों भीर धीरे धीरे बढ़ती ही जा रही हैं। संविधान बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक तुल्लाह खान एवं बिस्फी विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी परवेज हसन दानिश की अध्यक्षता में ये अनिश्चितकालीन धरना का आयोजन किया गया है। धरना के 22 वे दिन भारत सरकार के पूर्व खाद्य आपूर्ति मंत्री श्री देवेन्द्र प्रसाद यादव धरना में आकर अपना समर्थन दिया एवं धरना पर बैठे लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं उन क्रांतिकारी नौजवानो के हौसले को सलाम करता हूं जिन लोगों ने सरकार के इस काले कानून के विरोध में 7 जनवरी से मधुबनी जिला समाहरणालय को घेर कर बैठे हैं। श्री यादव ने कहा कि मधुबनी हमेशा से क्रांतिकारी वीर सपूतों की धरती रहीं हैं इतिहास में लिखा जायेगा कि जब देश के संविधान को मौजूदा सरकार बदल रहीं थीं तब आप लोगों ने बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर जी मुर्ती के पास सत्याग्रह पर बैठे रहे। धरना के समर्थन में आए मशहूर शायर जमील अख्तर शफीक ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि अनिश्चितकालीन धरना में जो खाश कर महिलाओं की भागीदारी है इतिहास में सुनहरे अक्षरों में दर्ज किया जाएगा। धरना को नौजवान शायर आशिफ हिन्दुस्तानी ने शेरो शायरी के जरिए लोगों के बीच अपनी बात रखते हुए कहा कि वो जो पीछे हटने को एक इंच भी है तैयार नहीं उस हिटलर को बतलादो हम कागज नहीं दिखाएंगे। धरना को संविधान बचाओ संघर्ष समिति के सदस्य फहीम बकर मुसा, मजहर कमाल, असलम अंसारी,समीउर रहमान मुंसी, मौलाना ईमदादुल्लाह,  रहमत,अजीजूर रब सहित कई लोगों ने संबोधित किया

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...