मधुबनी : धरना पर बैठे लोगों को पुलिस द्रारा जबरन हटाने किया गया प्रयास - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 16 जनवरी 2020

मधुबनी : धरना पर बैठे लोगों को पुलिस द्रारा जबरन हटाने किया गया प्रयास

सदर एसडीओ ने कहा विरोध करना है तो पटना या दिल्ली जाओबाबा साहेब के मूर्ति के पास बैठकर संविधान की बात करना कोई गलत नहीं : दानिश पुलिस जबरन हमारी आवाज नहीं दबा सकती : तुल्लाह खान
nrc-caa-protest-madhubani
मधुबनी 16 जनवरी, (आर्यावर्त संवाददाता) नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में 7 जनवरी से लगातार चल रहे अनिश्चितकालीन धरना में कल एक नया मोड़ आया संविधान बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर के प्रतिमा स्थल पर बैठे लोगों से सदर एसडीओ एवं सदर डीएसपी अपने पुरे दल बल के साथ पहुंचे तों प्रशासन और आंदोलन कारियो के साथ घंटो भर हाई वोल्टेज ड्रामा चला प्रशासन की ओर से लगातार धरना अस्थल खाली कराने की  कोशिश की जा रही थी, लेकिन प्रर्दशन कारियो ने धरना जारी रखा बाद में प्रशासन के लोगों ने धरना पर बैठे लोगों से मांग पत्र लिया और एक घंटे के अंदर धरना खत्म करने की बात कही गई लेकिन जैसे ही ये खबर बाकी लोगों को मिली हजारों की संख्या में लोग धरना अस्थल पर बैठ गए। अनिश्चितकालीन धरना की अध्यक्षता कर रहे बिस्फी विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी परवेज हसन दानिश ने बता की जब हम लोगों प्रशासन को चार जनवरी को सुचना दे दिया था कि हम धरना पर बैठेंगे तों प्रशासन आज नौवें दिन आई और आकर ये कहना कि आप असंवैधानिक काम कर रहे हैं तों मैं जानना चाहता हूं कि संविधान निर्माता बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर जी के मूर्ति के पास बैठकर संविधान की बात करना कैसे असंवैधानिक है। धरना के संयोजक तुल्लाह खान ने कहा कि जब हम लोग शांतिपूर्ण ढंग से धरना पर बैठे हैं तों प्रशासन के द्रारा हमें धमकाना ही  गैर कानूनी है पुलिस हमारी आवाज जबरन नहीं दबा सकती सामाजिक कार्यकर्ता फहीम बकर मुसा ने अपने संबोधन में कहा कि पुलिस अगर हम लोगों को भी जामिया की तरह पीटना चाहती हैं तों आए पीटे लेकिन हम इस लड़ाई को जारी रखेंगे क्योंकि ये संविधान बचाने की लड़ाई है। मौके पर पहुंचे भारतीय मित्र पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष धनेश्वर महतो ने कहा कि अगर धरना पर बैठे क्रांतिकारी  नेताओं के कुछ ग़लत किया जाएगा तो हमारी पार्टी चुप नहीं बैठेगी, इस मौके पर पर मुखिया अजित पासवान,मजहर कमाल,मोनसी समीउर रहमान, कमलेश पासवान,अबसार अहमद, मोहम्मद आरजू,जफर इकबाल, वासिफ अली,असजद, राशिद खलील,राशिद अंसारी, रहबर, सलमान इस्माईल,मेराज, सहित दर्जनों लोगों ने संबोधित किया

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...