पद्म पुरस्कार अब पीपुल्स अवार्ड बन गया है : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 26 जनवरी 2020

पद्म पुरस्कार अब पीपुल्स अवार्ड बन गया है : मोदी

padam-award-become-people-award-modi
नयी दिल्ली, 26 जनवरी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पद्म पुरस्कार से सम्मानित लोगों के योगदान के बारे में लोगों से पढ़ने की अपील करते हुए रविवार को कहा कि पहले पद्म पुरस्कार संबंधी निर्णय सीमित लोगों के बीच होते थे और वह अब पूरी तरह से लोकोन्मुखी बन गया है। उन्होंने कहा कि पद्म-पुरस्कारों को लेकर देश में एक नया विश्वास और सम्मान पैदा हुआ है| प्रधानमंत्री ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में अपने संबोधन में कहा कि भारत अपनी इन महान विभूतियों को लेकर गर्व की अनुभूति करता है, जमीन से जुड़े लोगों को सम्मानित कर गौरवान्वित महसूस करता है।  उन्होंने कहा, ‘‘ मेरा आग्रह है कि आप सब इन लोगों के बारे में ज़रूर पढें | इनके योगदान के बारे में, परिवार में, चर्चा करें।’’  उन्होंने कहा कि 2020 के पद्म-पुरस्कारों के लिए, इस साल 46 हज़ार से अधिक नामांकन प्राप्त हुए हैं। ये संख्या 2014 के मुक़ाबले 20 गुना से भी अधिक है। ये आँकड़े जन-जन के इस विश्वास को दर्शाते हैं कि पद्म-अवार्ड, अब पीपुल्स अवार्ड बन चुका है।  प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ अब पद्म- पुरस्कारों की सारी प्रक्रिया आनलाइन है। पहले जो निर्णय सीमित लोगों के बीच होते थे वो आज, पूरी तरह से लोकोन्मुखी हैं।’’  उन्होंने कहा कि अब सम्मान पाने वालों में से कई लोग ऐसे होते हैं जो कड़े परिश्रम के बलबूते आगे बढ़े हैं।  मोदी ने कहा कि उनकी मजबूत इच्छाशक्ति, सेवा की भावना और नि:स्वार्थ-भाव, हम सभी को प्रेरित करता है।  प्रधानमंत्री ने कहा कि स्वच्छता के बाद जल संरक्षण’ जन-भागीदारी की भावना आज तेजी से बढ़ रही है। मोदी ने कहा, ‘‘ पिछले मानसून के समय शुरू किया गया ये ‘जल-शक्ति अभियान’ जन-भागीदारी से अत्यधिक सफलता की ओर आगे बढ़ रहा है।’’ 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...