नागरिकता कानूून से पीड़ित मासूम को राहत दे सरकार : प्रियंका गाँधी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 2 जनवरी 2020

नागरिकता कानूून से पीड़ित मासूम को राहत दे सरकार : प्रियंका गाँधी

priyanka-gandhi-appeal-to-government-for-protesters
नयी दिल्ली, 01 जनवरी , कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन के समय लोगों के साथ अमानवीय व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए बुधवार को कहा कि इस दौरान हुई गिरफ्तारी से पीड़ित डेढ़ साल की एक मासूम की खुशी के लिए जेल में बंद उसके माता पिता को रिहा किया जाना चाहिए। श्रीमती वाड्रा ने बुधवार को एक खबर का हवाला देते हुए कहा कि वाराणसी की डेढ़ साल की मासूम चंपक की मां और पर्यावरण कार्यकर्ता एकता शेखर तथा रवि शेखर को नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार भाजपा सरकार ने 19 दिसंबर को जेल भेज दिया था। चंपक तब से बहुत परेशान है और उसकी तबियत भी ठीक नहीं है इसलिए सरकार को उस पर रहम करना चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया “भाजपा सरकार ने नागरिक प्रदर्शनों को दबाने के लिए ऐसी अमानवीयता दिखाई है कि एक छोटे से बच्चे को मां-बाप से जुदा कर दिया है। चंपक की तबीयत खराब हो गई है लेकिन भाजपा सरकार की खराब नीयत पर कोई असर नहीं पड़ा है। चंचल के माता पिता शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने के चलते जेल में हैं।” कांग्रेस महासचिव ने कहा कि गिरफ्तार दम्पति निर्दोष हैं और सरकार को इस बच्ची की खुशी के लिए उन्हें जेल से छोड़ दिया जाना देना चाहिए। उन्होंने कहा “इस सरकार का नैतिक कर्तव्य है कि वह इस बच्चे की बेगुनाह माता को घर जाने दे।” 

कोई टिप्पणी नहीं: