रांची : टी वी की रोकथाम के लिए नई दवा प्रणाली की शुरुआत, अब नहीं लेना पड़ेगा इंजेक्शन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 25 जनवरी 2020

रांची : टी वी की रोकथाम के लिए नई दवा प्रणाली की शुरुआत, अब नहीं लेना पड़ेगा इंजेक्शन

रांची में टीबी की रोकथाम के लिए नई दवा प्रणाली की शुरुआत की गई है. टीबी के मरीजों के इलाज के लिए अब इंजेक्शन की जगह ओरल रेजिमन दवा की व्यवस्था होगी.
tb-new-medicine-innovate-ranchi
रांची (आर्यावर्त संवाददाता)  झारखंड में टीवी से ग्रसित मरीजों की बेहतर इलाज के लिए नई दवा प्रणाली ओरल रेजिमेन की शुरुआत की गई है. इस नई प्रणाली के तहत टीबी रोगियों को इंजेक्शन की जरूरत नहीं पड़ेगी. यह दवा राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध होगी. इसकी शुरुआत भारत सरकार के चिकित्सा, शिक्षा और परिवार कल्याण विभाग के विशेष सचिव संजीव कुमार ने की है. आईसीएमआर) और यक्ष्मा प्रभाग के संयुक्त तत्वाधान में मिलने वाली टीवी रोगियों का सर्वे करने के लिए टीवी डायग्नोस्टिक वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया है. इस अवसर पर भारत सरकार के विशेष सचिव संजीव कुमार ने राज्य में टीबी पर हुए कार्यों को लेकर संतुष्टि जताई और मौके पर मौजूद टीबी की बीमारी से ठीक हुए मरीज टीबी चैंपियन से मिलकर उन्हें अपने क्षेत्र के लोगों को टीबी के प्रति जागरुक करने का आग्रह किया इस मौके पर स्वास्थ्य सचिव नितिन मदन कुलकर्णी, निदेशक शैलेश चौरसिया, डॉ कुलदीप सिंह सचदेवा, उपनिदेशक रघुराम राव, डॉ जेपी सांगा सहित स्वास्थ्य विभाग से जुड़े कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...