विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 01 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 1 जनवरी 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 01 जनवरी

सिटी हास्पिटल लोकार्पित 

vidisha news
पुराने जिला चिकित्सालय में आज से सिटी हास्पिटल संचालित होने लगी है। ततसंबंधी शुभांरभ कार्यक्रम में विदिशा विधायक श्री शशांक भार्गव ने रिबिन काटकर सिटी हास्पिटल का लोकार्पण किया है। उन्होंने विभिन्न कक्षों का भ्रमण कर सिटी हास्पिटल के माध्यम से मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं का अवलोकन कर जायजा लिया है।  शुभांरभ कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए विधायक श्री शशांक भार्गव ने कहा कि पुराने जिला चिकित्सालय भवन का इससे बेहतर सदुपयोग संभव नही था। नवीन जिला चिकित्सालय शहर से बाहर होने के कारण प्राथमिक उपचार हेतु मरीजों को आने जाने में राशि व्यय करनी पड़ रही थी। इन सभी बातो को ध्यानगत रखते हुए सिटी हास्पिटल के कंसेप्ट को विदिशा जिले में भी लागू किया गया है।  उन्होंने सिटी हास्पिटल के माध्यम से मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं में वृद्वि करने की सलाह देते हुए सुझाव दिया कि मायनर अटैक से पीड़ितों का फर्स्टएड के रूप में सिटी हास्पिटल में भी इलाज संभव हो इसके लिए चिकित्सक एवं इसीजी की व्यवस्थाएं कराने पर बल दिया।  जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी ने शहर के बीच में मरीजों को इलाज की व्यवस्थाएं बनी रहने के कार्य को अनुकरणीय बताते हुए उन्होंने चिकित्सकों से कहा कि वे आने वाले मरीजों से मधुर व्यवहार करें ताकि उन्हें भटकाव ना हो सकें। उन्होंने कहा कि अभी भी दूरदराज के लोग पुराने चिकित्सालय में इलाज कराने आ रहे थे जब यहां आकर उन्हें इस बात की जानकारी मिली कि यहां से शिफ्ट हो गया है ऐसे समय तत्काल इलाज मुहैया ना होने के कारण कई बार अप्रिय स्थिति बन जाती है ऐसी सभी विषम परिस्थितियों से सिटी हास्पिटल का संचालन होने से विराम लगेगा। विदिशा जिला पंचायत की उपाध्यक्ष श्रीमती गुड्डीबाई लालाराम चौधरी ने नववर्ष में शहरवासियों को मिले स्वास्थ्य सुविधाओं के नए तोहफे की प्रशंसा की और उन्होंने कहा कि सिटी हास्पिटल जिला चिकित्सालय जैसा इलाज के मामले में जाना जाए। कार्यक्रम को विदिशा जनपद पंचायत अध्यक्ष की अध्यक्ष श्रीमती रामदेवी रंधीर सिंह ठाकुर ने भी सम्बोधित किया। विदिशा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष श्री मुन्नालाल जैन ने कहा कि व्यापार महासंघ के सहयोग से 15 लाख की राशि संकलित की गई है। उक्त राशि का उपयोग सोनोग्राफी मशीन के क्रय संचालन में किया जाएगा। उन्होंने सोनोग्राफी कार्य के सम्पादन हेतु चिकित्सक की पूर्ति कराने का आग्रह स्वास्थ्य विभाग से किया है। श्री जैन ने बताया कि वर्तमान में डायलेसिस सेन्टर के माध्यम से जन सेवा की जा रही है। अब शीघ्र ही सोनोग्राफी मशीन स्थापित हो जाने से मात्र सौ रूपए में यह सुविधा आमजनों को मिलेगी और अतिगरीब एवं पीडित व्यक्तियों के लिए आवश्यकतानुसार निःशुल्क मुहैया कराई जाएगी।  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने सिटी हास्पिटल के कंसेप्ट और स्वास्थ्य मंत्री द्वारा 15 नवम्बर को नवीन जिला चिकित्सालय भवन के लोकार्पण के अवसर पर की गई घोषणा के अनुपालन में उपरोक्त कार्यवाही की गई है। उन्होंने बताया कि सिटी हास्पिटल सातो दिन संचालित किया जाएगा। यहां पृथक से चिकित्सकों की व्यवस्था की जा रही है एवं सामान्य स्वास्थ्य परीक्षण के पैथालॉजी लैब का भी संचालन किया जाएगा। यहां आने वाले मरीजों को चिकित्सकों द्वारा लिखी गई दवाईयां भी निःशुल्क प्रदाय की जाएगी। उन्होंने बताया कि सिटी हास्पिटल में मरीज अपना इलाज हेतु प्र्रातः नौ बजे से सांय चार बजे तक उपस्थित हो सकेंगे।   सीएमएचओ डॉ अहिरवार ने निकट भविष्य में ईसीजी सहित अन्य उपकरण भी सिटी हास्पिटल को प्रदाय कराने से आश्वस्त कराया। कार्यक्रम के अंत में सिटी हास्पिटल के प्रभारी चिकित्सक डॉ केएस उपाध्याय ने आगंतुको के प्रति आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन डाक्टर प्रमोद मिश्रा एवं मीडिया आफीसर श्री बीएस दांगी ने किया। आयोजन स्थल पर रोगी कल्याण समिति के सदस्य श्री सुरेन्द्र भदौरिया के अलावा अन्य जनप्रतिनिधि तथा मेडीकल कॉलेज के डीन श्री सुनील नंदेश्वर, सिविल सर्जन सह अधीक्षक डॉ संजय खरे के अलावा स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे। 

वन्दे मातरम् का गायन हुआ

आज एक जनवरी को शासकीय कार्यालयों में वंदे मातरम के गायन उपरांत शासकीय कार्यो का सम्पादन की शुरूआत हुई है। नवीन कलेक्ट्रेट प्रागंण में डिप्टी कलेक्टर श्री बिजेन्द्र सिंह यादव की उपस्थिति में अधिकारियों, कर्मचारियों ने वंदे मातरम का गायन किया है।

कोषालयीन कम्प्यूटरीकरण प्रशिक्षण तीन एवं चार को

जिले के सभी शासकीय कार्यालयों में एकीकृत कोषालयीन कम्प्यूटरीकरण प्रणाली (आईएफएमआईएस) द्वारा सभी प्रकार के भुगतान ऑन लाइन प्रक्रिया के तहत किए जा रहे है। उपरोक्त कार्य के साथ-साथ पेंशन एवं सर्विस मेन्टर संबंधी दिक्कतों के निदान हेतु दो दिवसीय प्रशिक्षण जिला कोषालय के माध्यम से तीन एवं चार जनवरी को आयोजित किया गया है। जिला कोषालय अधिकारी श्री उमेश श्रीवास्तव ने बताया कि नवीन कलेक्ट्रेट के ई दक्ष केन्द्र में दोनो दिन दो-दो पालियों में प्रशिक्षण आयोजित किया गया है। प्रथम पॉली प्रातः 11 बजे से दो बजे तथा द्वितीय पॉली ढाई बजे से पांच बजे तक आयोजित की जाएगी। प्रत्येक पॉली में क्रमशः 17-17 विभागों के आहरण एवं संवितरण अधिकारी एवं कार्यालय के कम्प्यूटर कार्य करने वाले लेखापालों को उक्त प्रशिक्षण में कौन सी पॉली, तिथि में उपस्थित होना है के आश्य का पत्र जिला कोषालय के माध्यम से प्रेषित किया गया है। 

साक्ष्य सहित दो को उपस्थित 

एकीकृत बाल विकास परियोजना नटेरन के निलंबित भृत्य बबलू सिंह मीना के विरूद्व मध्यप्रदेश सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण तथा अपील) नियम 1966 के नियम 14 अंतर्गत की जाने वाली विभागीय जांच प्र्रकरण में बचाव साक्ष्य संबंधी तमाम दस्तावेंजो सहित दो जनवरी को नवीन कलेक्ट्रेट में जिला विभागीय जांच अधिकारी एवं डिप्टी कलेक्टर श्री बिजेन्द्र सिंह यादव के समक्ष नटेरन मे वर्तमान बाल विकास परियोजना अधिकारी को उपस्थित होने संबंधी सूचना प्रेषित की गई है।

डाटा फीडिंग कार्य करें

महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे ने जिले के समस्त परियोजना अधिकारियों को निर्देश दिए है कि पोषण अभियान (राष्ट्रीय पोषण मिशन) के अंतर्गत वर्ष 2019-20 की अभिसरण कार्ययोजना के लक्ष्य प्राप्ति की डाटा फीडिंग का कार्य एमआईएस के बेवपेज पर प्रथम त्रैमास की जानकारी अनिवार्यतः अंकित की जाए।

व्हीसी के माध्यम से समीक्षा 

महिला एवं बाल विकास विभाग के आयुक्त द्वारा दो जनवरी को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से स्थाई एवं अस्थाई एजेण्डा में निर्धारित बिन्दुओं पर समीक्षा प्रातः 11 बजे से आहूत की गई है। विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे ने बताया कि उपरोक्त वीडियो कांफ्रेसिंग में समस्त परियोजना अधिकारियों को उपस्थित होने के निर्देश प्रसारित किए जा चुके है। वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से होने वाली समीक्षा बैठक में स्थायी एजेण्डा बिन्दुओं के अंतर्गत बजट व्यय एवं आवंटन, पोषण आहार तहत आंगनबाडी केन्द्रों में टीएचआर की उपलब्धता, परिवहन, रखरखाव एवं वितरण के अलावा वन स्टाप सेन्टर संचालन की समीक्षा एजेण्डा बिन्दु में शामिल है। इसी प्रकार अस्थायी एजेण्डा बिन्दु अंतर्गत लाडली लक्ष्मी योजना, पोषण अभियान, निर्माण तथा आईसीपीएस के तहत सम्मिलित बिन्दुओं को अस्थायी एजेण्डा में शामिल किया गया है।

लाड़ली लक्ष्मी के प्रकरण में सुनवाई छह को

लाडली लक्ष्मी योजना के अंतर्गत परियोजना लटेरी, बासौदा एक एवं दो में जिन प्रकरणों के मामले में सुनवाई हेतु जिला महिला एवं बाल विकास कार्यालय के माध्यम से पत्र प्रेषित किया गया है। उन हितग्राहियों एवं कार्यकर्ताओं को अपना पक्ष रखने हेतु छह जनवरी सोमवार को जिला कार्यालय विदिशा में आमंत्रित किया गया है ताकि प्रकरणों में दावे आपत्तियों का निराकरण किया जा सकें। 

खण्ड स्तर पर स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन

vidisha news
आयुष्मान भारत ‘‘निरामयम’’ योजना के तहत जिले के सभी विकासखण्ड मुख्यालयों पर स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन एक से 23 जनवरी के मध्य किया गया है कि जानकारी देते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि स्वास्थ्य संचालनालय द्वारा जारी निर्देशो के अनुपालन में आयुष्मान भारत के तहत स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। स्वास्थ्य शिविर प्रातः 11 बजे से शुरू होंगे। विकासखण्डवार आयोजित होने वाले स्वास्थ्य शिविरों के आयोजन की तिथियां इस प्रकार से है। दो जनवरी को ग्यारसपुर के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में, चार जनवरी शनिवार को नटेरन के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में, सात जनवरी को त्योंदा (बासौदा) का स्वास्थ्य शिविर जन चिकित्सालय गंजबासौदा में नौ जनवरी को लटेरी के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में, 11 जनवरी को सिरोंज के जन चिकित्सालय में, 16 जनवरी को कुरवाई के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में तथा 23 जनवरी को नवीन जिला चिकित्सालय में आयोजित किया गया है। जबकि पीपलखेडा (विदिशा) का स्वास्थ्य शिविर आज एक जनवरी को पुराना जिला चिकित्सालय में सम्पन्न हुआ है।

पर्यवेक्षिकाओं के प्रभार में संसोधन

बाल विकास परियोजना लटेरी की परियोजना अधिकारी ने बताया कि मुरवास एवं झूकरजोगी की पर्यवेक्षको के प्रभार में आंशिक संशोधन किया गया है। परियोजना क्षेत्र में पदस्थ पर्यवेक्षिका श्रीमती नसरीन बानो को मुरवास सेक्टर तथा कुमारी सपना रायकवार को झूकरजोगी सेक्टर का प्रभार सौंपा गया है। दोनो पर्यवेक्षिकाओं को निर्देशित किया गया है कि विभागीय योजनाओं एवं कार्यक्रमो का लाभ संबंधितों को दिलाते हेतु ऑन लाइन पोर्टल पर दर्ज कराने की कार्यवाही सम्पादित की जाए।

मरीजों को उपचार औषधियां प्रदाय करें

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने राजीव गांधी जन चिकित्सालय सिरोंज में आने वाले मरीजो को उपचार एवं आवश्यक दवाईयां प्रदाय नही किए जाने की प्राप्त सूचना को अति गंभीरता से लेते हुए क्षेत्र के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी को पत्र प्रेषित कर जन चिकित्सालय में उपचार हेतु आए हितग्राहियों को आवश्यक औषधियां शासन की मंशा के अनुरूप ओपीडी के माध्यम से निःशुल्क दवाएं प्रदाय कराया जाना सुनिश्चित करें।  डॉ अहिरवार ने संबंधितों को सचेत करते हुए पत्र में उल्लेख किया है कि भविष्य में इस प्रकार की शिकायते प्राप्त होती है तो संस्था में पदस्थ संबंधित चिकित्सक, कर्मचारियों के विरूद्व अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगभ्। जिसके लिए वे स्वंय जिम्मेदार होंगे। 

पशुओं को ठंड से बचाव के उपाय

जिले में जारी शीत लहर एवं अतिरिक्त ठंड के मौसम में पशुओं में बीमारी व बचाव के संबंध में पशु चिकित्सा सेवाएं विभाग के उप संचालक डॉ एससीएल वर्मा ने पशुपालकों एवं गौशाला में रह रहे पशुओ की देखभाल के संबंध में आवश्यक उपाय सुझाए है।  अत्यधिक सर्दी के मौसम में पशुओं में सांस की बीमारी, बुखार, जुकाम ठंड के अधिक होने से उनके शरीर का तापक्रम सामान्य से अत्यन्त कम हो जाना, निमोनिया आदि बीमारियॉ होने की संभावना रहती है। पशु चिकित्सा सेवाएं को उप संचालक डॉ एससीएल वर्मा ने पशुओं को ठंड से बचाव हेतु पर्याप्त व्यवस्थाएं जैसे पशुओं को बोरो से ढककर रखें, पशुओ के स्थानों पर दरवाजे व खिड़कियों में टाट, बोरे, पॉलिथिन के पर्दे लगाएं, पशुओं को गर्मी हेतु कंडे का अलावा जलाएं ताकि प्रतिकूल मौसम में पशुओं को ठंड से बचाया जा सकें। गौ-शाला संचालक गौशालाओं में गौवंश के शेड में भी पर्दे आदि का उपयोग करें तथा गर्मी हेतु कंडे का अलाव जलाएं एवं यदि गौवंश एवं पशुओं में उक्त बीमारियों के लक्षण दिखाई देते है तो तत्काल निकटस्थ पशु चिकित्सा संस्थाओं में इसकी सूचना दे सकते है इसके अलावा 1962 टोल फ्री नम्बर पर भी सूचित किया जा सकता है ताकि अविलम्ब सुविधा मुहैया हो सकें। 

नवीन बाल शिक्षा केन्द्र की सूची भेजने के निर्देश

महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे ने जिले के परियोजना अधिकारियों को पत्र प्रेषित कर नवीन बाल शिक्षा केन्द्र विकसित करने हेतु आंगनबाडी केन्द्रों का चयन कर सूची उपलब्ध कराने के निर्देश प्रसारित किए है।  जिला कार्यक्रम अधिकारी  श्री शिवहरे ने बताया कि प्रत्येक परियोजना में दो-दो नवीन बाल शिक्षा केन्द्र विकसित किए जाने है। द्वितीय चरण में विकसित होने वाले इन बाल शिक्षा केन्द्रों का तीस जनवरी 2020 को शुभांरभ किया जाएगा। चयन सूची में शामिल आंगनबाडी केन्द्रों के उन्नयन हेतु दो-दो लाख रूपए प्रति आंगनबाडी केन्द्र, भवन के मान से आवंटन जारी किया जाएगा।  प्रथम चरण में जिन मानको के आधार पर बाल शिक्षा केन्द्रों का चयन किया गया था उन ही मापदण्डों के अनुरूप द्वितीय चरण में भी आंगनबाडी केन्द्रो का चयन बाल शिक्षा केन्द्रों के रूप में विकसित करने हेतु किया जाना है। ऐसे आंगनबाडी केन्द्रो का चयन करें जो पांच वर्ष या उससे पूर्व में निर्मित हुए है। चयन के समय इस बात का भी ध्यान रखा जाए कि जिन भवनों में बाल शिक्षा केन्द्र के संचालन संबंधी मूलभूत सुविधाएं एवं संसाधन सुलभता से उपलब्ध होने की संभावना हो। उन ही केन्द्रो का चयन उन्नयनीकरण हेतु किया जाए। प्रत्येक परियोजना से दो-दो आंगनबाडी केन्द्रों के नाम एवं उन केन्द्रों की तीन-तीन फोटो चेकलिस्ट के साथ संलग्न कर जिला कार्यालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। 

खुशियों की दास्तां : निरामयम योजना का मौके पर 216 को लाभ मिला

आयुष्मान भारत निरामयम योजना के तहत इस वर्ष का प्रथम स्वास्थ्य शिविर पीपलखेडा (विदिशा) का आज सिटी हास्पिटल में सम्पन्न हुआ है। उक्त शिविर की शुरूआत सिटी हास्पिटल के शुभांरभ उपरांत हुई है। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पीपलखेडा एवं सिटी हास्पिटल के प्रभारी डॉ अजय कुमार उपाध्याय के मार्गदर्शन में सम्पन्न हुई स्वास्थ्य उपचार केम्प में 216 मरीजों का परीक्षण कर निःशुल्क दवाईयां प्रदाय की गई है। जिसमें 25 मरीज हाई बीपी, 20 बीपी शुगर के तथा 171 सामान्य बीमारियों के पाए गए है। सिटी हास्पिटल की शुरूआत होते ही प्रारंभिक उपचार मरीजों को मिलने लगा है। इस नई पहल से मरीजों के साथ-साथ परिजनों को भी भटकाव पर विराम लगा है।  

तहसीलवार 98 प्रतिशत गिरदावरी कार्य पूर्ण 

आयुक्त भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में फसल गिरदावरी संबंधी जिले की तहसीलवार 98 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि जिले में कुल 11 तहसील, 587 हल्के, 1658 ग्राम में कुल क्षेत्रफल 744082.722 हेक्टेयर में से 731102.796 हेक्टेयर में गिरदावरी का कार्य पूर्ण हो चुका है जो 98.26 प्रतिशत है।

स्वास्थ्य किट प्रदाय किए 

सीएससी लटेरी में खण्ड चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में आशा दिवस का आयोजन किया गया था और आशा एवं सहयोगिनी को स्वास्थ्य किटो का वितरण किया गया है जिसमें मलेरिया, आरडीटी किट के अलावा एलटी द्वारा मलेरिया आरडीटी कि जांच की ट्रेनिंग भी दी गई तथा आशा एवं आशा सहयोगिनी की जिज्ञासाओं का समाधान बीएमओ एवं बीसीएम के द्वारा किया गया है।

टीकाकरण हेतु व्यापक प्रचार प्रसार 

जिले में मिशन इन्दधनुष एवं सघन पल्स पोलियो अभियान की मंशा से अवगत कराने हेतु हर स्तर पर व्यापक प्रचार-प्रसार के प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि सार्वजनिक स्थलों पर होर्डिंग्स के माध्यम से वही ग्रामीण क्षेत्रों में वाल पेन्टिग के माध्यम से प्रचार-प्रसार कर संदेश देने का कार्य किया जा रहा है। जिले में राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान का क्रियान्वयन 19 से 21 जनवरी तक आयोजित किया गया है। सघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान-दो के तहत छह से 16 जनवरी तक आयोजन किया जाएगा।

एनपीएस अंशदान जमा करने की सुविधा जनवरी से सायबर कोषालय पर उपलब्ध

 राज्य शासन के अधिकारी एवं कर्मचारी जो कि निगम-मंडलों तथा अन्य केंद्र एवं राज्य शासन में प्रतिनियुक्ति पर पदस्थ होने से इनका एन.पी.एस. अंशदान भौतिक चालान के माध्यम से एजेंसी बैंक में जमा किया जाकर कोषालय अधिकारी द्वारा सत्यापन की प्रक्रिया वर्तमान में प्रचलन में है । लेकिन जनवरी 2020 से संबधित शासकीय सेवक कोष एवं लेखा की वेबसाईटूूूण्उचजतमेंनतलण्वतह पर सायबर कोषालय में उपलब्ध सुविधा के माध्यम से इम्पलाय कोड प्रविष्ट कर इंटरनेट बैंकिंग के द्वारा अंशदान जमा करने की कार्यवाही कर सकेगें । इस प्रक्रिया से अभिदाता के अंशदान का कटोत्रा एवं शासकीय अंशदान बिना विलम्ब के तत्काल प्रान खाते मे जमा होगा । परिवर्तित व्यवस्था प्रारंभ हो जाने के कारण एक जनवरी के पश्चात भौतिक चालान के माध्यम से जमा अंशदान राशि एन.एस.डी.एल को प्रेषित नहीं की जा सकेगी । शासन से अधिकृत बैंक शाखाओं को निर्देशित किया जा रहा है कि जनवरी से लेखा शीर्ष 0071-500 में एनपीएस कटोत्री की राशि जमा नहीं की जाये ।

अब कम्प्यूटराइज्ड जारी होंगे पीपीओ

राज्य शासन ने सेवानिवृत्त हो रहे शासकीय कर्मचारियों की पेंशन स्वीकृति और भुगतान प्रक्रिया के सरलीकरण के संबंध में आदेश जारी किया है । वित्त विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार अब पेंशन पेमेंट आर्डर (पीपीओ) कम्प्यूटर पर उपलब्ध डाटाबेस के आधार पर ऑनलाइन जारी किये जा सकेंगे । पेंशन का भुगतान भी कर्मचारी को उसके वेतन प्राप्त होने वाले बैंक खाते में त्वरित रूप से प्राप्त हो सकेगा ।

युवाओं हेतु निःशुल्क रहवासीय प्रशिक्षण 20 जनवरी से भोपाल में

केन्द्रीय कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्रालय द्वारा नाबार्ड की सहभागिता से एग्रीकल्चर विषय से हायर सेकेण्ड्री अथवा उच्च शिक्षित युवाओं हेतु 45 दिवसीय निःशुल्क रहवासीय प्रशिक्षण सेडमैप भोपाल में 20 जनवरी से संचालित होगा । योजनांतर्गत कृषि, खाद्य प्रसंस्करण, दुग्ध उत्पादन, एग्री क्लीनिक, कस्टम हायरिंग, पाली हाउस, पशुपालन, पोल्ट्री इत्यादि व्यवसाय स्थापना या स्टार्ट-अप पर प्रशिक्षण पश्चात अधिकतम 20 लाख रूपये ऋण एवं नाबार्ड पुनर्वित्तपोषण के माध्यम से 36 से 44 प्रतिशत तक अनुदान की पात्रता रहेगी । नये दिशा निर्देशानुसार वनस्पति विज्ञान, प्राणी-विज्ञान  तथा रसायन विज्ञान विषय से बी.एस.सी उत्तीर्ण युवा भी आवेदन कर सकते   हैं । प्रशिक्षण हेतु हितग्राहियों का चयन साक्षात्कार के माध्यम से किया जायेगा । आवेदन की अंतिम तिथि 10 जनवरी है । अधिक जानकारी के लिए श्री शरद मिश्रा नोडल अधिकारी उद्यमिता विकास केन्द्र मध्यप्रदेश (सेडमैप) से दूरभाष 0755-2575256 अथवा मोबाईल नं 7703020302 पर संपर्क किया जा सकता है । 

कमलसिंह रघुवंशी का निधन 
vidisha news
विदिशा। रघुवंशी समाज के वरिष्ठ एवं सेवानिवृत्त शिक्षक पालकी निवासी कमलसिंह रघुवंशी का 65 वर्ष की उम्र में बुधवार को सुबह हार्टअटैक से निधन हो गया। वे पत्रकार सुरेन्द्र रघुवंशी के अलावा महेन्द्र सिंह और बृजेन्द्र रघुवंशी के पिताजी थे। उनके निधन पर समाजजनों तथा स्वयंसेवी संस्थाओं ने शोक व्यक्त किया है। उनकी अंतिम यात्रा आज गुरूवार को सुबह 9:30 बजे निज निवास शेरपुरा युवराज क्लब के पास से स्थानीय मुक्तिधाम के लिए निकाली जाएगी।




विकासखण्ड मुख्यालयों पर दो को शिविर का आयोजन पिंक एक एवं दो के आवेदनों की आपत्तियों का निराकरण

जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत 26 एवं 27 दिसम्बर को बैंको में जमा किए गए पिंक आवेदन एक एवं दो में दर्ज आपत्तियों के निराकरण हेतु द्वितीय स्तर पर जिले के समस्त जनपद पंचायतों पर दो जनवरी को शिविरों का आयोजन किया गया है। उक्त शिविरों में बैंको द्वारा अनिराकृत पिंक वन एवं पिंक दो फार्मो का निराकरण जिला स्तर के वरिष्ठ अधिकारी के सुपरविजन में किया जाएगा। सभी सातो विकासखण्ड मुख्यालयों पर दो जनवरी की प्रातः 11 बजे से विशेष शिविर का आयोजन किया गया है।  उक्त शिविर में बैंकर्स प्रतिनिधि के अलावा कृषि विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। जिले के ऐसे कृषकबंधु जिनके जय किसान फसल ऋण माफी योजना के आवेदनों पर आपत्तियां बैंकर्स द्वारा दर्ज कराई गई है के निराकरण हेतु उक्त शिविर में अनिवार्यतः उपस्थित होना सुनिश्चित करें ताकि दर्ज आपत्ति का निराकरण कराकर योजना से लाभाविंत प्रक्रिया को पूरा किया जा सकें।

नोडल अधिकारी नियुक्त

प्रभारी कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने जिले के सभी विकासखण्ड मुख्यालयों पर जय किसान फसल ऋण माफी योजना के पिंक वन एवं पिंक दो के प्रकरणों का द्वितीय चरण पर निराकरण हेतु खण्ड मुख्यालयों पर आयोजित होने वाले शिविरों के लिए जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ श्री दयाशंकर सिंह को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। 

राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा आयोजन के संबंध में बैठक आज

राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2019 के आयोजन संबंध में जिला मुख्यालय पर की जाने वाली तैयारियों के परिपेक्ष्य में  दो जनवरी 2020 को एक बैठक आयोजित की गई है। परीक्षा के नोडल अधिकारी एवं डिप्टी कलेक्टर श्री बिजेन्द्र सिंह यादव ने बताया कि कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में प्रातः 11 बजे से आयोजित होने वाली उक्त बैठक में संबंधितों को राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा के संबंध में प्राप्त दिशा निर्देशों से अवगत कराया जाएगा। उन्होंने संबंधितो को बैठक में नियत समय पर उपस्थित होने के निर्देश प्रसारित किए है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...