विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 25 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 25 जनवरी 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 25 जनवरी

मतदाता जागरूकता क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले पुरस्कृत हुए

vidisha news
दसवां राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर 25 जनवरी को जिला मुख्यालय पर मतदाता जागरूकता कार्य करने वालो को पुरस्कृत किया गया। एसएटीआई के पॉलिटेक्निक सभागार कक्ष में आयोजित कार्यक्रम में सामाजिक न्याय एवं विकलांग कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव तथा जिले के प्रभारी सचिव श्री जेएन कंसोटिया, कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के संदेश का वाचन कर शपथ दिलाई। प्रभारी सचिव श्री कंसोटिया ने कहा कि 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने के बाद मत देने का अधिकार हमारे देश के मौलिक अधिकार में शामिल है। भारत के संविधान में मताधिकार के संबंध में की गई पहल को रेखांकित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रजातंत्र में हर मतदाता को मत देने का अधिकार मिला हुआ है। उन्होंने प्रजातंत्र को और मजबूत बनाने के लिए हर मतदाता को अपने मत का प्रयोग करने का आव्हान करते हुए नव मतदाताओं को मत का अधिकार समझते हुए अच्छे चरित्र संदेश का चयन करें ताकि विकास और स्वच्छ छवि से आपके द्वारा चुना जाने वाला जाना जाएं। उन्होंने कहा कि भारत के संविधान द्वारा सभी को मत देने का समान अधिकार है इसमें किसी भी प्रकार का भेदभाव नही है जबकि अनेक देशो में उच्च कुलिंग वर्ग को ही मत देने का अधिकार रहा है। हमारे यहा किसी भी प्रकार विषमता नही पाई जाती है। कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने दसवें राष्ट्रीय मतदाता दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि फ्री एवं फेयर चुनाव में मतदाता सूची की शुद्वता अति आवश्यक है। उन्होंने जिले में मतदाता सूची की परिशुद्वता के लिए किए गए कार्यो को रेखांकित किया। उन्होंने बताया कि जिले में 18 हजार 640 नए मतदाताओं के नाम जोड़े जाने की कार्यवाही पूर्ण हुई है। भारत देश दुनिया के सामने मिसाल है यहां मतदान का अधिकार सभी को एक समान है चाहे वह दिव्यांग हो अथवा थर्ड जेण्डर, उन्होंने नवीन मतदाताओं से कहा कि बिना किसी प्रभावित हुए अपने मत का प्रयोग करें। जिले में मतदान के प्रतिशत में वृद्वि के लिए किए गए प्रबंधो पर भी उन्होंने प्रकाश डाला। उन्होंनें कहा कि प्रजातंत्र का प्रमुख आधार मतदान का अधिकार है और हम इस अधिकार से वंचित ना हो के लिए जनजागरूकता संबंधी कार्यक्रम समय-समय पर संचालित हुए है। उन्होंने बीएलओ को महत्वपूर्ण कडी बताते हुए कहा कि आयोग की मंशा के अनुरूप जिले में इपिक कार्डो के लक्ष्यों की प्राप्ति की गई है। महिला मतदाताओें की संख्या शत प्रतिशत मतदाता सूची में दर्ज कर इपिक कार्ड वितरण करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि हमारा भी नैतिक दायित्व है कि हम अपने मत का प्रयोग कर स्वतंत्र स्वच्छ प्रजातंत्र के सहभागी बनें। ऐसे व्यक्ति जिन्होंने अब तक निर्वाचक नामावली में अपना नाम नही जुडवाया है वे अविलम्ब संबंधित बीएलओ से सम्पर्क कर अपना नाम अनिवार्य रूप से जुड़वाए। पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा ने कहा कि मतदाताओं को मतदान का जो अधिकार मिला है वही प्रजातंत्र का आधार है। मतदाता अपने अधिकार से वंचित ना हो इसके लिए आयोग द्वारा विशेष प्रावधान किये गए है। निर्वाचन आयोग की मंशा के अनुरूप नव मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में जोड़ने के बाद उन्हें आज इपिक कार्ड प्रदाय किए जा रहे है।  एक जनवरी 2020 तक 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले नवीन मतदाताओं को अतिथियों द्वारा ईपिक कार्ड प्रदाय किए गए। वही मतदाता जागरूकता के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वालो को इस दौरान पुरस्कृत भी किया गया। कार्यक्रम के शुभांरभ में उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री प्रवीण प्रजापित ने आयोजन के उद्वेश्यों को रेखांकित किया। मतदाता जागरूकता के संदर्भ में जिले में किए गए नवाचार और विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से संदेश पहुंचाने के कार्यो को सम्पादित करने पर उन सभी को आज राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में पुरस्कृत किया गया है। जिसमें शैक्षणिक संस्थाओं में आयोजित मतदाता जागरूकता संबंधी कार्यक्रमों को गति देने वालो को अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम स्थल पर जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल, डिप्टी कलेक्टर द्वय श्री बिजेन्द्र यादव, श्री तन्मय वर्मा, एसएटीआई के संचालक श्री जेएस चौहान के अलावा अन्य अधिकारी, कर्मचारी, शैक्षणिक संस्थाओं के गुरूजन, विद्यार्थी, नव मतदाता मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती दीप्ति शुक्ला ने किया तथा आभार जिला शिक्षा अधिकारी श्री एसपी त्रिपाठी ने व्यक्त किया। 

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ध्वजारोहण कर परेड की सलामी लेंगे

विदिशा जिला मुख्यालय पर आयोजित होने वाले 26 जनवरी गणतंत्र दिवस समारोह कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रमिंसंह ध्वजारोहण कर परेड़ की सलामी लेंगे। उक्त कार्यक्रम पुलिस परेड ग्राउण्ड पर आयोजित किया जाएगा मुख्य समारोह स्थल पुलिस परेड़ ग्राउण्ड पर मिनिट टू मिनिट आयोजित होने वाले कार्यक्रमो जानकारी देते हुए अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि 26 जनवरी की प्रातः 8.59 बजे मुख्य अतिथि का आगमन, प्रातः नौ बजे ध्वजारोहण एवं राष्ट्रीय गान, प्रातः 9.05 बजे परेड का निरीक्षण, प्रातः 9.10 बजे मुख्यमंत्री जी के संदेश का वाचन, प्रातः 9.25 बजे मध्यप्रदेश गान, 9.30 बजे मार्च पास्ट, प्रातः 9.40 बजे से झांकियों का प्रदर्शन तथा 10 बजे से छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियों के उपरांत 10.40 बजे पुरस्कारों का वितरण मुख्य अतिथि द्वारा किया जाएगा। 

मध्यान्ह भोजन
गणतंत्र दिवस 26 जनवरी पर विशेष मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम का आयोजन किया गया है ग्राम हांसुआ में आयोजित होने वाले मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम में कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह सहित अन्य अधिकारी व जनप्रतिनिधिआयोजित विशेष मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम में शामिल होंगे। 

भारत पर्व का आयोजन आज

26 जनवरी गणतंत्र दिवस की संध्या पर भारत पर्व समारोह का आयोजन एसएटीआई के कैलाश सत्यार्थी सभागृह में सायं छह बजे से आयोजित किया गया है।  संस्कृति विभाग द्वारा जनसम्पर्क विभाग तथा जिला प्रशासन के सहयोग से आयोजित किए जाने वाले लोक उत्सव ‘‘भारत पर्व’’ में मध्यप्रदेश के पारम्परिक रूप से लोक रूचि गायन (लोक, भक्ति, सुराज, आजादी के तराने) वादन और नर्तन (जनजातीय एवं लोक) पर आधारित कार्यक्रम प्रस्तुत की जाएंगी। इसके अलावा स्थानीय कलाकारो को भी अपनी प्रतिभा के प्रदर्शन हेतु मंच मुहैया कराया जाएगा। 

शब्द नहीं चित्र
जनसम्पर्क विभाग के द्वारा आयोजन स्थल पर शब्द नही चित्र पर आधारित प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। इस प्रदर्शनी में प्रदेश एवं जिला स्तर पर सम्पादित हुए विकास कार्यो एवं योजनाओं पर आधारित छाया चित्रों का आगंतुकगण अवलोकन कर योजनाओं एवं विकास कार्यो से अवगत हो सकेंगे।

अपील
कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जिले के समस्त जनप्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों, स्कूलों, महाविद्यालयों के शिक्षकों एवं विद्यार्थियों तथा स्वंयसेवी क्षेत्रों में कार्यरत संस्थाओं के पदाधिकारियों से अपील की है कि लोक उत्सव भारत पर्व आयोजन में शामिल होकर कलाकारो का हौंसला अफजाई करें। कलेक्टर ने जिला मुख्यालय के सभी अधिकारियों, कर्मचारियों को निर्देश दिए है कि आयोजन स्थल कैलाश सत्यार्थी सभागृह में अपनी उपस्थिति अनिवार्यतः दर्ज कराएं।

मिलावटी तत्वों का प्रदर्शन चौराहो पर फ्लैक्स से करें-प्रभारी सचिव 

सामाजिक न्याय एवं विकलांग कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव तथा जिले के प्रभारी सचिव श्री जेएन कंसोटिया ने आज विदिशा के सर्किट हाउस में स्वास्थ्य, कृषि एवं सामाजिक न्याय विभाग के कार्यो की समीक्षा की। इस अवसर पर कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। प्रभारी सचिव श्री कंसोटिया ने ‘‘शुद्व के लिए युद्व’’ की कार्यवाही में और तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा कि खाद्य पदार्थो में जिन तत्वों की मिलावट की जाती है उन तत्वों से सभी आमजन भलीभांति अवगत हो सकें इसके लिए मिलावटी तत्वों का प्रदर्शन चौराहो पर फ्लैक्सों के माध्यम से किया जाए। उन्होंने जागरूकता पर बल देते हुए कहा कि हाट बाजारों में इस प्रकार के आयोजन किए जाएं। प्रभारी सचिव श्री कंसोटिया ने महाविद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के स्वास्थ्य परीक्षण हेतु शिविर आयोजित करने के निर्देश दिए है ताकि उक्त हेल्थ चैकअप केम्पों में सामान्यतः रक्तचाप और शुगर की जानकारी विद्यार्थियों को सुगमता से दी जा सकें। इसके अलावा अच्छे स्वास्थ्य के लिए उन्हें जागरूक किया जा सकें। प्रभारी सचिव ने श्रीमंत माधवराव सिंधिया जिला चिकित्सालय के माध्यम से मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं की भी जानकारियां प्राप्त की। प्रभारी सचिव श्री कंसोटिया ने ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से क्रियान्वित महात्मा गांधी नरेगा योजना अंतर्गत गौशालाओंं की प्रगति के संबंध में चर्चा की और निर्माणाधीन गौ-शालाओं को शीघ्र पूर्ण कराने पर बल दिया है। उन्होंने प्रगतिरत आवासों के संबंध में भी पूछताछ की। इसी प्रकार कृषि विभाग के माध्यम से क्रियान्वित योजनाओं पर बल दिया। उन्होंने जिले में जौ उत्पादन को बढ़ावा देने के प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए जौ से होने वाले फायदों का व्यापक प्रचार-प्रचार करने की अपेक्षा व्यक्त की है। इस दौरान जिले में खाद्य की उपलब्धता तथा गेंहू, चना को समर्थन मूल्य पर क्रय करने हेतु किए जा रहे प्रबंधों के साथ-साथ जय किसान फसल ऋण माफी योजना के प्रथम चरण में लाभांवितों की जानकारियां प्राप्त की है। सामाजिक न्याय एवं निःशक्त कल्याण विभाग के माध्यम से क्रियान्वित योजनाओं के लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु किए गए प्रबंधो से भी अवगत हुए है।

कर्मचारियों के मोबाइल नम्बरों की प्रविष्टि आई.एफ.एम.आई.एस में अनिवार्य

जिला कोषालय अधिकारी ने कहा है कि कर्मचारियों के मोबाइल नम्बरों की प्रविष्टि आई.एफ.एम.आई.एस में अनिवार्यतः की जाये। जिन कर्मचारियों की प्रविष्टि नहीं की गई है उनके आहरण संवितरण अधिकारी शीघ्र पूर्ण करायें।  जिला कोषालय अधिकारी ने सभी आहरण संवितरण अधिकारियों से कहा है कि पैंण्डिंग व्हाउचर्स की इंट्री आई.एफ.एम.आई.एस. सॉफ्टवेयर में की जाये। मंहगाई दरों की 2 प्रतिशत एवं एरियर का आहरण किया जाये। कार्यालयों के मृत, सेवा से पृथक, त्यागपत्र देने वाले तथा व्ही.आर.एस. लेने वाले कर्मचारियों का आई.एफ.एम.आई.एस. पर नियमानुसार प्रोसेस किया जाये। जिससे ये समस्त नाम सिस्टम से हट जाये। समस्त विभागीय भविष्य निधि अभिदाताओं के 31 मार्च 2019 के अवशेषों की राशि की प्रविष्टि आई.एफ.एम.आई.एस. में की जाये।  

जिला पेंशन कार्यालय विभागीय भविष्य निधि लेखों का करेगा रख-रखाव

मध्यप्रदेश शासन वित्त विभाग द्वारा विभागीय भविष्य निधि के लेखों का रख-रखाव एवं अंतिम भुगतान प्राधिकृत करने का कार्य जिला पेंशन कार्यालयों को सौंपा गया है। इस निर्देश के पालन में जिला पेंशन कार्यालय में विभागीय भविष्य निधि के लेखों के संधारण एवं अंतिम भुगतान प्राधिकृत करने का कार्य किया जायेगा।  समस्त आहरण एवं संवितरण अधिकारियों से कहा गया है कि प्रत्येक आहरण एवं संवितरण अधिकारी कार्यरत विभागीय भविष्य निधि कर्मचारी के जमा एवं आहरण की जानकारी डीपीएस पासबुक, अकाउन्ट स्लिप व अन्य संधारित अभिलेख तथा आहरण राशियों स्वीकृत आदेश जिला पेंशन कार्यालय में प्रस्तुत करें। डीपीएफ के प्राप्ति एवं भुगतानों संधारित एवं सत्यापित करते हुए 31 मार्च 2019 की स्थिति में आहरण एवं संवितरण अधिकारी प्रत्येक कर्मचारी अंतिम शेष तथा इस आशय का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करेगा तथा 31 मार्च 2020 की स्थिति में पुनः व्याज सहित अंतिम शेष की गणना की जाकर लेखा प्रस्तुत किया जाएगा। जो 1 अप्रैल 2020 की स्थिति में प्रारंभिक शेष रूप में सॉफ्टवेयर में दर्ज किया जाएगा। जिसमें पुनः परिवर्तन किया जाना संभव नहीं होगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...