युवा भारत पुरानी समस्याओं से टकराने के लिए तत्पर है : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 28 जनवरी 2020

युवा भारत पुरानी समस्याओं से टकराने के लिए तत्पर है : मोदी

young-india-ready-to-fight-modi
नयी दिल्ली 28 जनवरी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि आज का युवा भारत दशकों पुरानी बड़ी-बड़ी समस्याओं को टालने की बजाय उनसे टकराने का संकल्प रखता है और 2022 तक देश को ऐसी सभी समस्याओं से मुक्त कर उसके सामर्थ्य को सशक्त बनाने के लिए तत्पर है। श्री मोदी ने यहां दिल्ली छावनी में गणतंत्र दिवस समारोह में भाग लेने आये राष्ट्रीय कैडेट कोर के छात्र-छात्राओं की परेड की सलामी लेने के बाद समारोह को संबोधित करते हुए ये कहा। इस अवसर पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद यशो नाईक, चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ जनरल बिपिन रावत, तीनों सेनाओं के प्रमुख और रक्षा सचिव भी उपस्थित थे। प्रधानमंत्री ने कहा कि जिस देश के युवा में अनुशासन हो, दृढ़ इच्छाशक्ति हो, निष्ठा हो, लगन हो, उस देश का तेज गति से विकास कोई नहीं रोक सकता। देश का युवा जब बाहर जाता है और दुनिया देखता है तब उसे भारत में दशकों पुरानी समस्याएं नजर आती हैं। उन्होंने कहा कि अब युवा इन समस्याओं का शिकार होने के लिए तैयार नहीं है। वह देश बदलना चाहता है, स्थितियां बदलना चाहता है। और इसलिए उसने तय किया है कि अब टाला नहीं जाएगा, अब टकराया जाएगा, निपटा जाएगा। यही है युवा सोच, यही है युवा मन, यही है युवा भारत। उन्होंने कहा कि युवा भारत कह रहा है कि देश को अतीत की बीमारियों से मुक्त करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए। देश के वर्तमान को सुधारते हुए, उसकी नींव मजबूत करते हुए तेज गति से विकास होना चाहिए और देश का हर निर्णय आने वाली पीढ़ियों को उज्जवल भविष्य की गारंटी देने वाला होना चाहिए। उन्होंने कहा कि अतीत की चुनौतियों, वर्तमान की जरूरतों और भविष्य की आकांक्षाओं को ध्यान में रखते हुए तीनों ही स्तरों पर हमें एक साथ काम करना होगा। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...