दिल्ली हिंसा में मृतकों की संख्या 25, हालात तनावपूर्ण - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 27 फ़रवरी 2020

दिल्ली हिंसा में मृतकों की संख्या 25, हालात तनावपूर्ण

25-dead-delhi-violance
नयी दिल्ली, 26 फरवरी, उत्तर पूर्वी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ फैली हिंसा में बुधवार को मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हो गई है। इलाके में धारा 144 लगे होने के बावजूद भी गोकुलपुरी में आज सुबह कुछ उपद्रवियों ने एक दुकान में आग लगा दी। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस ने 18 प्राथमिकी दर्ज करके 106 लोगों को गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी मंदीप सिंह रंधावा ने कहा कि पुलिस हिंसा करने वाले उपद्रवियों की पहचान करने के लिए जांच कर रही है। उन्होंने कहा कि जिले में हालात नियंत्रण में हैं और लोगों से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की है। श्री रंधावा कहा कि यदि किसी ने भी माहौल बिगाड़ने की कोशिश की तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि हालात पर नियंत्रण रखने के लिए पुलिस और अर्धसैनिक बल लगातार इलाके में मार्च कर रहे हैं। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में पिछले तीन दिन से जारी हिंसा की घटनाओं पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए स्थिति की समीक्षा की और लोगों से शान्ति बनाये रखने के अपील की। श्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि उन्होंने दिल्ली के विभिन्न इलाकों में स्थिति की व्यापक समीक्षा की है। पुलिस एवं अन्य एजेंसियां स्थिति को सामान्य बनाने और शान्ति कायम रखने के लिए जमीनी स्तर पर काम कर रही हैं। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा,“ शान्ति और सौहार्द हमारा स्वभाव रहा है। मैं दिल्ली के भाइयों और बहनों से अपील करता हूं कि वे शान्ति और भाईचारा हमेशा बनाये रखें। स्थिति को जल्द से जल्द सामान्य और शांत करना हमारे लिए जरूरी है।” दिल्ली उच्च न्यायालय ने इस मामले की सुनवाई के दौरान हिंसा पर कड़ा संज्ञान लेते हुए सरकारी वकील को पुलिस आयुक्त को हिंसा से संबंधित वीडियों की जांच करने तथा कथित रूप से भड़काऊ भाषण देने वाले भारतीय जनता पार्टी नेता के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करने का परामर्श देने को भी कहा।  

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...