बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे क्षेत्र के जनजीवन को बदलने वाला सिद्ध होगा : प्रधानमंत्री - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 29 फ़रवरी 2020

बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे क्षेत्र के जनजीवन को बदलने वाला सिद्ध होगा : प्रधानमंत्री

bundelkhand-expressway-will-change-life-pm-modi
चित्रकूट 29 फरवरी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि बुंदेलखंड को विकास के एक्सप्रेसवे पर ले जाने वाला बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे इस क्षेत्र के जन जीवन को बदलने वाला सिद्ध होगा और करीब करीब 15 हजार करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला यह एक्सप्रेसवे यहां रोजगार के कई अवसर मुहैया कराएगा । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को चित्रकूट में करीब 15 हजार करोड़ रूपये की लागत से बनने वाले 296 किलोमीटर लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का बटन दबाकर उसकी आधारशिला रखी ।  उत्तर प्रदेश सरकार बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का निर्माण कर रही है, जो चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर और जालौन जिलों से होकर गुजरेगा। यह एक्सप्रेसवे बुंदेलखंड क्षेत्र को आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे और यमुना एक्सप्रेसवे के रास्ते से जोड़ेगा, साथ ही बुंदेलखंड क्षेत्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा। उन्होंने कहा, 'बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे हो, पूर्वांचल एक्सप्रेस वे हो या फिर प्रस्तावित गंगा एक्सप्रेस वे, ये सभी उत्तर प्रदेश में सड़क संपर्क तो बढायेंगे ही रोजगार के अनेक अवसर पैदा करेंगे । इस साल के बजट में उत्तर प्रदेश रक्षा कोरिडोर के लिये 3700 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है ।  उन्होंने कहा कि इन दोनों योजनाओं का आपस में गहरा नाता है । बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे से रक्षा कोरिडोर को भी गति मिलने वाली है ।' प्रधानमंत्री ने कहा कि हम देश के अन्नदाता की चिंता करते हैं, उनकी बेहतरी के लिए सोचते हैं। उन्होंने कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य हो या, मृदा स्वास्थ्य कार्ड हो, यूरिया की 100 प्रतिशत नीम कोटिंग हो, दशकों से अधूरी सिंचाई परियोजनाओं को पूरा करना हो, हर स्तर पर सरकार ने काम किया है।  उन्होंने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने की अहम यात्रा का, आज भी एक अहम पड़ाव है और यहां पर हमने देश के हर प्रांत के किसानों को क्रेडिट कार्ड दिया है। उन्होंने कहा कि देश में किसानों से जुड़ी जो नीतियां थी, उन्हें हमारी सरकार ने निरंतर नई दिशा दी है।  प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि किसान की लागत घटे, उत्पादकता बढ़े और उपज के उचित दाम मिले और इसके लिए बीते पांच वर्ष में बीज से बाजार तक अनेक फैसले किये गये हैं। उन्होंने कहा कि थोड़ी देर पहले ही यहां देश के किसानों की आय बढ़ाने के लिये, किसानों को सशक्त करने के लिये 10 हजार एफपीओ यानि किसान उत्पादक संगठन बनाने के योजना की शुरूआत की है, यानि किसान अब तक उत्पादक ही था अब वह एफपीओ की माध्यम से व्यापार भी करेगा ।  मोदी ने कहा कि चित्रकूट सहित पूरे उत्तर प्रदेश के करीब दो करोड़ से अधिक किसान परिवारों के खातें में भी करीब 12 हजार करोड़ जमा हुये है और आप कल्पना कर सकते हैं कि 12 हजार करोड़ रूपये, सिर्फ एक वर्ष में और वो भी सीधे बैंक खाते में बिना बिचौलिये के, बिना किसी भेदभाव के । मोदी ने कहा, 'आपने दशकों में वो दिन भी देखे है जब बुंदेलखंड के नाम पर, किसानों के नाम पर हजारों करोड़ के पैकेज घोषित होते थे, लेकिन किसान की जेब तक कुछ नही पहुंचता था और अब उन दिनों को हम पीछे छोड़ चुके हैं। दिल्ली से निकलने वाली पाई पाई उसके हकदार तक पहुंच रही है । इस वर्ष के बजट में भी अनेक महत्तवपूर्ण निर्णय लिये गये है, जिनका लाभ किसानो को होगा।’’  प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘किसानों की आय बढाने के लिये एक 16 सूत्री कार्यक्रम बनाया गया है। सरकार का प्रयास है कि किसान को उसके खेत के कुछ किलोमीटर के दायरे में ही एक ऐसी व्यवस्था मिले, जो उसे देश के किसी भी मार्केट से जोड़ दे और आने वाले समय में ये ग्रामीण हाट कृषि अर्थव्यवस्था के नये केंद्र बनेंगे ।'

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...