लखनऊ में हिन्दू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष रणजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 2 फ़रवरी 2020

लखनऊ में हिन्दू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष रणजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या

hindu-mahasabha-president-shot-dead-lucknow
लखनऊ, 02 फरवरी, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रविवार सुबह अज्ञात बदमाशों ने अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष रणजीत बच्चन की गोली मारकर हत्या कर दी। इस घटना में उनके रिश्ते के भाई आदित्य घायल हो गया। पुलिस सूत्रों ने यहां यह जानकारी दी। उन्हाेंने बताया कि ओसीआर विधायक निवास में रहने वाले 40 वर्षीय श्री बच्चन सुबह अपने मित्र एवं रिश्ते के भाई आदित्य के साथ टहने गये थे। हजरतगंज इलाके में ग्लोबल पार्क (सीडीआरआई ) के पास बाइक सवार बदमाशों ने उनके सिर में गोली मार दी ,जिससे उनकी मौके पर ही मृत्यु हो गई । इस घटना में आदित्य के हाथ में भी गोली लगी है,जिसे अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। हत्या के कारण का पता नहीं चल सका है। उन्होंने बताा कि घटना की सूचना पर पुलिस के आलाअधिकारी मौके पर पहुंचे। शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मूल रूप से गोरखपुर के रहने वाले रणजीत बच्चन हजरतगंज इलाके की ओसीआर बिल्डिंग के बी ब्लॉक में रहते थे। राजधानी के सबसे व्यस्त इलाके में ताबड़तोड़ फायरिंग से सनसनी फैल गई है। सुबह-सुबह हुई गोलीबारी से इलाके में दहशत का माहौल है। सूत्रों ने बताया कि श्री बच्चन का कल जन्मदिन था और रात को ओसीआर ही उनके आवास पर मनाया गया था। हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए कई टीमें गठित कर दी गई है। पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। श्री बच्चन पहले समाजवादी पार्टी में थे। गौरतलब है कि इसके पहले लखनऊ में पिछले साल 18 अक्टूबर में हिन्दुवादी नेता कमलेश तिवारी की खुर्शेदबाग इलाके में गला रेतकर हत्या कर दी थी। इसके पहले सहारनपुर के देवबंद में भी एक हिन्दू संगठन के नेता की हत्या कर दी गई थी। 

कोई टिप्पणी नहीं: