हुनर हाट ने कई लोगों की जिन्दगी बदली : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 24 फ़रवरी 2020

हुनर हाट ने कई लोगों की जिन्दगी बदली : मोदी

hunar-haat-change-peoples-life-modi
नयी दिल्ली 23 फरवरी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘हुनर हाट’ की जमकर प्रशंसा करते हुए कहा है कि इससे कलाकरों में न केवल आर्थिक समृद्धि आई है बल्कि इसने कई लोगों की जिन्दगी बदल दी है । श्री मोदी ने रविवार को अपने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कहा, “ कुछ दिनों पहले मैंने, दिल्ली के हुनर हाट में एक छोटी सी जगह में, हमारे देश की विशालता, संस्कृति, परम्पराओं, खानपान और जज्बातों की विविधताओं के दर्शन किये। पारंपरिक वस्त्र, हस्तशिल्प, कालीन, बर्तन, बांस और पीतल के उत्पाद, पंजाब की फुलकारी, आंध्र प्रदेश का शानदार लेदर का काम, तमिलनाडु की खूबसूरत पेंटिंग, उत्तर प्रदेश के पीतल के उत्पाद, भदोही के कालीन, कच्छ के कॉपर के उत्पाद, अनेक संगीत वादय यंत्र, अनगिनत बातें, समूचे भारत की कला और संस्कृति की झलक, वाकई अनोखी ही थी ।’’ उन्होंने कहा कि इनके पीछे, शिल्पकारों की साधना, लगन और अपने हुनर के प्रति प्रेम की कहानियाँ भी, बहुत ही प्रेरणादायक होती हैं। प्रधानमंत्री ने कहा , “हुनर हाट में एक दिव्यांग महिला की बातें सुनकर बड़ा संतोष हुआ। उन्होंने मुझे बताया कि पहले वो फुटपाथ पर अपनी पेंटिंग बेचती थी। लेकिन हुनर हाट से जुड़ने के बाद उनका जीवन बदल गया। आज वो ना केवल आत्मनिर्भर है बल्कि उन्होंने खुद का एक घर भी खरीद लिया है। हुनर हाट में मुझे कई और शिल्पकारों से मिलने और उनसे बातचीत करने का अवसर भी मिला। मुझे बताया गया है कि हुनर हाट में भाग लेने वाले कारीगरों में पचास प्रतिशत से अधिक महिलाएँ हैं।” 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...