मधुबनी : 108 कन्यायों के कलश यात्रा के साथ शुरू हुआ सीताराम महायज्ञ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 27 फ़रवरी 2020

मधुबनी : 108 कन्यायों के कलश यात्रा के साथ शुरू हुआ सीताराम महायज्ञ

kalash-yatra-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता)  नगर के प्रसिद्ध गोकुलवली आश्रम मंदिर में गुरुवार को 108 कन्यायों के कलश यात्रा के साथ श्री सीताराम महायज्ञ का शुभारंभ हो गया है। 49वाँ श्री विराट प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव के उपलक्ष्य में श्री सीताराम महायज्ञ, अखंड नाम संकीर्तन एवं उदभट संतो के द्वारा श्री राम कथा 27 फरवरी से 08 मार्च 2020 तक आयोजित किया जाएगा। यज्ञ का शुभारंभ मुख्य अतिथि प्रकाश मंडल एवं सैकड़ो श्रद्धालुओं की उपस्थिति मे जिबेन्द्र मिश्र उद्योगपति ने भव्य उद्घाटन किया। मिथिला निवासी सनातन धर्मावलम्बी भक्त प्रेमीजन समुदाय नगर के गोकुलवली आश्रम मंदिर तिलक चौक पर अवस्थित दीनबंधु श्री सीताराम कुंज मे अंनत श्री विभूषित वैष्णव कुलभूषण श्री राम भजन दास जी महाराज द्वारा श्री राम कथा, अखंड नाम संकीर्तन एवं काशी विश्वनाथधाम के वैदिकों द्वारा वेद-ध्वनि एवं हवनात्मक महायज्ञ का आयोजन ऋतुराज वसंत के मधुरतम बेला मे किया गया है। त्रिगुण से परे होकर सांसारिक बंधन से मुक्त होने के लिये श्री शिव-पार्वती संवाद श्री तुलसीदास विरचित मानस ही भवमेषज मानव मात्र के लिये है। असुरत्व से देवत्व प्राप्ति के लिए संतो का सदुपदेश सुलभ मार्ग भगवद भक्तो के लिए है। श्री सीताराम महायज्ञ का भव्य शुभारंभ से पुरा शहर भक्तिमय हो गया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...