कोविंद ने श्री राम चंद्र मिशन के नए वैश्विक केंद्र का किया उद्घाटन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 2 फ़रवरी 2020

कोविंद ने श्री राम चंद्र मिशन के नए वैश्विक केंद्र का किया उद्घाटन

kovind-inaugrate-new-world-center
हैदराबाद 02 फरवरी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तेलंगाना के रंगारेड्डी जिले में श्री राम चंद्र मिशन के नए वैश्विक मुख्यालय कान्हा शान्ति वनम का रविवार को उद्घाटन किया। श्री कोविंद ने इस दौरान सैकड़ों की संख्या में आये लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि वह श्री राम चंद्र मिशन के आदि गुरु लालजी महाराज की पुण्यतिथि के इस पावन दिन पर यहां होने पर बेहद खुश है। उन्होंने कहा, “यह दिन श्री राम चंद्र मिशन की स्थापना की 75 वीं वर्षगांठ की खुशी मनाने का भी एक अवसर है। मुझे यह जानकर खुशी हुई कि यह मिशन दुनिया भर में 150 से अधिक देशों में मौजूद होने के साथ एक मजबूत आध्यात्मिक शक्ति भी बन गया है।” श्री कोविंद ने इस मौके पर आध्यात्मिक गुरू पार्थसारथी राजगोपालचारी लोकप्रिय नाम ‘चारी जी’ की पुण्यतिथि पर उन्हें समर्पित की गयी एक किताब का स्मरण करते हुए कहा “जब श्री चारी जी इस मिशन से वर्ष 1964 में जुड़े थे तब इसमें अभ्यास करने वालों की संख्या मात्र 40 की थी लेकिन आज लाखों लोग इस मिशन से जुड़ गए है। मुझे बताया कि पिछले एक वर्ष के दौरान विश्व भर से एक लाख 60 हजार लोग इस परिसर में आये हैं।” राष्ट्रपति ने कहा कि विश्व को आध्यात्मिकता भारत का अनमोल तोहफा है। वेदों की पढाई से लेकर तीर्थंकर,गौतम बुद्ध, गुरु नानक और कबीर के सन्देश बहुत ही सनातन बुद्धिमता पूर्ण सन्देश है जो बाद में स्वामी विवेकानंद और महात्मा गांधी तथा अन्य आध्यात्मिक महापुरूषों ने आगे बढ़ाये हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें बहुत ख़ुशी है कि श्री राम चंद्र मिशन व्यक्तिगत और समाज में बदलाव जैसे संदेशों को बढ़ावा दे रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...