फसलों का उत्पादन बढ़़ायें वैज्ञानिक, पोषण सुरक्षा भी हो सुनिश्चित : वेंकैया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 14 फ़रवरी 2020

फसलों का उत्पादन बढ़़ायें वैज्ञानिक, पोषण सुरक्षा भी हो सुनिश्चित : वेंकैया

scientest-ensure-more-productivity-venkaiyah
नयी दिल्ली 14 फरवरी, उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने देश की बढ़ती आबादी को खाद्य और पोषण सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिये पौष्टिक तत्वों से भरपूर फसलों का उत्पादन बढ़़ाने पर जोर दिया है। श्री नायडु ने शुक्रवार को भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान के स्नातकोत्तर विद्यालय के दीक्षांत समारोह को सम्बोधित करते हुये कृषि के क्षेत्र में वैज्ञानिकों द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना की और कहा कि वर्ष 1949-50 के दौरान देश में खाद्यान्न उत्पादन पाँच करोड़ टन से कुछ ही अधिक था जो अब बढ़कर 28 करोड़ टन से अधिक हो गया है। गेहूँ का उत्पादन 10 करोड़ टन और धान का उत्पादन 10 करोड़ 15 लाख टन पर पहुँच गया है। उन्होंने कहा कि रिकॉर्ड खाद्यान्न उत्पादन के बावजूद देश में भोजन की कमी और कुपोषण की समस्या बनी हुयी है जो चिन्ताजनक है। खाद्य सुरक्षा के साथ साथ पोषण सुरक्षा बढ़़ाने की अपील करते हुये उन्होंने कहा कि अनाजों में प्रोटीन और विटामिन की मात्रा बढ़़ानी होगी। उन्होंने फसलों की कम उत्पादकता पर चिन्ता व्यक्त करते हुये कहा कि छोटे से देश वियतनाम में भारत से धान गया था जिसकी उत्पादकता वहाँ यहाँ की तुलना में 10 गुना अधिक है।  

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...