चाईबासा: प्रशिक्षण प्राप्त सभी डॉक्टर करेंगे कोरोना को लेकर जागरुक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 18 मार्च 2020

चाईबासा: प्रशिक्षण प्राप्त सभी डॉक्टर करेंगे कोरोना को लेकर जागरुक

  • देश के बाहर से आए लोगों पर होगी विशेष निगरानी

पश्चिम सिंहभूम के चाईबासा सदर अस्पताल में कोरोना की रोकथाम को लेकर एक दिवसीय जिला स्तरीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया. इसमें प्रशिक्षित किए गए एएनएम, जीएनएम को बताया गया कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर क्षेत्र के लोगों को जागरूक करेंगे और कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर पहल करेंगे.
awareness-by-doctor-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) पश्चिम सिंहभूम के चाईबासा सदर अस्पताल स्थित सभागार में नोवेल कोरोना वायरस से बचाव और रोकथाम के लिए एक दिवसीय जिला स्तरीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया. प्रशिक्षण में मुख्य रूप से जिले के कई क्षेत्रों से आए मेडिकल ऑफिसर एमओआईसी, एएनएम, जीएनएम सहित कोल्हान मुंडा मानकी संघ के मुंडा और मानकी शामिल रहे. प्रशिक्षण प्राप्त सभी डॉक्टर एमआईसी, एएनएम, जीएनएम अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर क्षेत्र के लोगों को जागरूक करेंगे और कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर पहल करेंगे. देश के बाहर से आए लोगों पर विशेष रूप से निगरानी रखेंगे और कोरोना वायरस के संक्रमण से संदिग्ध व्यक्ति की सूचना मिलने पर तुरंत जाकर उसकी जांच कराएंगे. इसके साथ ही बताया गया कि आम लोगों के बीच यह संदेश फैलाएं कि वह अपना बचाव खुद करें. रोजाना हाथ को अल्कोहल युक्त सैनिटाइजर से अच्छी तरह से धोएं. अफवाहों से बचें और भीड़-भाड़ वाली जगहों में नहीं जाएं. प्रशिक्षण में बताया गया कि स्वस्थ्य आदमी को मास्क पहनने की आवश्यकता नहीं है. वायरस पीड़ित लोगों से स्वस्थ्य व्यक्ति को नुकसान ना हो इसके लिए पीड़ित को मास्क पहनाया जाता है. कोई भी मामला संज्ञान में आने पर पीड़ित को स्वच्छ वातावरण और चिकित्सक की देखरेख में रखकर जांच कराई जाएगी. जांच के बाद पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर उसे सदर अस्पताल स्थित आइसोलेशन वार्ड में चिकित्सक की निगरानी में रखकर इलाज किया जाएगा. 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...