बिहार : कोरोना के खिलाफ कसी कमर, आज से IGMS में भी जांच - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 26 मार्च 2020

बिहार : कोरोना के खिलाफ कसी कमर, आज से IGMS में भी जांच

igms-corona-testing-center-bihar
पटना (आर्यावर्त संवाददाता)  कोरोना से जंग के लिए केंद्र और राज्य सरकार ने कमर कस ली है। आज से पटना के इंदिरा गांधी आर्युर्विज्ञान संस्थान में भी कोरोना वायरस की जांच होने लगी है। बिहार सरकार की मांग पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने पुणे से कोरोना की जांच किट उपलब्ध कराते हुए पटना के आईजीआईएमएस में कोरोना मरीजों के सैम्पल्स की जांच की व्यवस्था की है।इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में इस किट से जांच के बाद रिपोर्ट 12 घंटे में ही मिल जाएगी। इसे केंद्रीय जांच अभिकरण के तौर पर उपयोग में लाया जाएगा और यहां बिहार के सभी 9 मेडिकल कॉलेजों से जांच सैम्पल्स भेजे जा सकेंगे। मालूम हो कि बिहार में अबतक सिर्फ अगमकुआं स्थित आरएमआरआई में ही कोरोना वायरस की जांच होती थी। स्पष्ट है कि केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की नीतीश सरकार ने कोरोना के खिलाफ जंग को काफी गंभीरता से लिया है। दोनों सरकारें ​जिस अंदाज में काम कर रही हैं, उनके विरोधी भी अब इन दोनों नेताओं को तरह—तरह की उपमा देने लगे हैं। मालूम हो कि बिहार में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर छह हो गई है। एक मरीज की इलाज के दौरान पटना एम्स में मौत हो चुकी है, जबकि कोरोना पॉजिटिव 2 मरीजों का एनएमसीएच और एक मरीज का पटना एम्स में इलाज चल रहा है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार बिहार में कुल 1228 यात्रियों को ऑब्जर्वेशन में रखा गया है। इसके अलावा राज्य के कई ट्रांजिट प्वाइंट पर कुल 385332 यात्रियों की स्क्रीनिंग हो चुकी है। विभाग ने कुल 6 बुद्धिस्ट स्थलों को लगातार सर्विलांस पर रखा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...