देखो और इंतजार करो की नीति पर चलेगा आईओए - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 24 मार्च 2020

देखो और इंतजार करो की नीति पर चलेगा आईओए

ioc-will-wait-and-watch
नयी दिल्ली 23 मार्च, वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना वायरस के कारण इस साल 24 जुलाई से होने वाले टोक्यो ओलम्पिक खेलो को स्थगित करने की अटकलें तेजी से बढ़ती जा रही हैं और भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) ने कहा है कि वह ओलंपिक में हिस्सा लेने पर अगले एक महीने तक देखो और इंतजार करो की नीति पर चलेगा। कनाडा और ऑस्ट्रेलिया ने टोक्यो ओलम्पिक से हटने का फैसला कर लिया है। कनाडा ओलंपिक से हटने वाले पहले देश बना था जिसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने भी हटने का फैसला किया। कनाडा ओलम्पिक समिति और कनाडा पैरा ओलंपिक समिति ने कहा है कि उसके लिए अपनी एथलीटों को ओलंपिक और पैरा ओलंपिक में भेजना बहुत मुश्किल होगा। ऑस्ट्रेलिया ने टोक्यो 2020 से हटने की घोषणा करते हुए कहा कि वह अपने खिलाड़ियों इन खेलों में नहीं भेजेगा यदि इन खेलों का आयोजन निर्धारित कार्यक्रम पर होता है। अंतराष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (आईओसी) के अध्यक्ष थॉमस बाक का कहना है कि ओलम्पिक स्थगित करने को लेकर कोई भी फैसला चार सप्ताह के अंदर लिए जायेगा जबकि जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अाबे ने संकेत दिया है कि मौजूदा हालात को देखते हुए टोक्यो ओलम्पिक स्थगित किये जा सकते हैं। आईओए के महासचिव राजीव मेहता ने ओलंपिक में भारत की भागीदारी के संदर्भ में कहा, “हम कोरोना से उत्पन्न भयावह स्थिति पर लगातार नजर रखे हुए हैं। हम अगले एक महीने तक देखो और इंतजार करो की नीति पर चल रहे हैं और हम कोई फैसला आईओसी और खेल मंत्रालय के साथ विचार-विमर्श के बाद ही लेंगे।” जानलेवा बन चुके कोरोना वायरस के अबतक दुनियाभर में करीब तीन लाख मामले सामने चुके हैं और करीब 13 हजरों लोगों की इस वायरस के चपेट में आने के कारण मौत हो गयी हैं। इस वायरस के स्त्रोत चीन इसके नए मामले आने थम चुके है लेकिन यूरोप में ख़ास कर तेजी से फ़ैल चुका है। भारत में देश के 75 जिलों में लॉकडाउन घोषित हो चुका है और जिंदगी जैसे थम गयी है। भारत में रविवार को जनता कर्फ्यू लगाया गया था ताकि लोग घरों में रह सकें। खेल के तमाम केंद्र बंद किये जा चुके है और केवल वही शिविर जारी हैं जहां ओलंपिक ट्रेनिंग चल रही है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...