झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 22 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 22 मार्च 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 22 मार्च

वेलकम कमल .... बाय-बाय कमल.... के साथ भाजपा कार्यकर्ताओं ने की आतिश्बाजी, छाई खुषी की लहर

jhabua news
झाबुआ। प्रदेष के वर्तमान मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सरकार में बहुमत सिद्ध नहंी होने से अपने पद से मीडिया के माध्यम से सार्वजनिक तौर पर इस्तीफा देने के बाद जिले के झकनावदा में भाजपा पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं में हर्ष का माहौल दिखाई दिया। भाजपा कार्यकर्ताओं ने वेलकम कमल ... बाय-बाय कमल ... के नारे लगाते हुए झकनावदा बस स्टैंड पर जोरदार आतिशबाजी की तथा भारतीय जनता पार्टी जिंदाबाद-जिंदाबाद के जमकर नारे लगाए। इस अवसर पर विषेष रूप से वरिष्ठ भाजपा नेता होकमचंद वोहरा, शैतानमल कुमट, जयंतीलाल कोटड़िया, सांसद प्रतिनिधि राजेश कांसवा, ओम प्रकाश सेमरोड़, बबलू मांडोत, नारायण राठौड़, कुनाल कासवा आदि सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे।

भाजपा ने लोकतंत्र की हत्या एवं साजिष रचकर कर मप्र की कुर्सी हथियाई -ः संभागीय कांग्रेस प्रवक्ता साबिर फिटवेल
प्रदेश की जनता को मुख्यमंत्री कमलनाथ के कार्य अच्छे लगे, लेकिन भाजपा को रास नहीं आए

jhabua news
झाबुआ। मप्र में भाजपा द्वारा लोकतंत्र की हत्या कर सत्ता हथियाई गई हंै। यह मप्र की साढ़े 7 करोड़ जनता अच्छी तरह से समझ एवं देख रहीं है। भाजपा का काम शुरू से ही सौदेबाजी करना एवं सरकार गिराने और बनाने का रहा है। अपनी आदत के अनुसार ही भाजपा ने घोर षडयंत्र और साििजष कर मप्र में सत्ता पाने मे ंकायमयाब हुई है, लेकिन 6 माह बाद पुनः बदलाव होगा और सत्ता में कांग्रेस पार्टी आसीन होगी। यह आरोप एवं बात मप्र कांग्रेस कमेटी के संभागीय प्रवक्ता एवं जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता साबिर फिटवेल ने कहीं। श्री फिटवेल ने आगे कहा कि भाजपाई यह सोच ले कि हमारी सरकार गिरी नहीं है, बल्कि 6 माह के लिए सुपुर्द की गई है। कांग्रेस सौदेबाजी एवं षड़यंत्र रचने में विष्वास नहीं रखती है। प्रदेष के प्रजातंत्र में जिस प्रकार दिन-दहाड़े डकैती डाली गई हे एवं एक पूर्ण बहुमत वाली सरकार को हटाने के लिए जो गलत हड़कंडे अपनाए गए है, उससे भाजपा जो अपने आपको अनुषासित पार्टी बताती हे, उसका चाल और चरित्र प्रदेष की जनता के सामने दूध का दूध और पानी का पानी हो गया है।

भाजपा नेताओं ने की कांग्रेसी विधायकों की खरीद फरोख्त
श्री फिटवेल ने आगे बताया कि मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ का इस्तीफा देने से पूर्व पे्रस कांफ्रेंस आयोजित कर प्रदेष की जनता को यह बताना मकसद था कि उनकी सरकार अल्प बहुमत में आई नहीं है, बल्कि लाई गई है। यह कु-षड़यंत्र मप्र में भाजपा के नेताओं एवं केंद्र में बैठी भाजपा सरकार के आला मंत्रियों ने रचा है। रातो-रात कांग्रेसी विधायकों की खरीद-फरोख्त कर उन्हें बैंगलुरू में जहां भाजपा की सरकार है, एक रेस्टोरेंट में बंद कर उनका बाहरी संपर्क पूरी तरह से खत्म कर दिया। भाजपा नेताओं ने हद तो तब कर दी, जब उन्होंने मप्र के संवैधानिक पदों पर बैठे एवं न्यायपालिका को भी गुमराह करने के कुंचित हथकंडे अपनाएं।

प्रदेश की जनता को काम अच्छा लगा, लेकिन भाजपा को रास नहीं आया
इस बीच जब उनसे मिलने कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजयसिंह, जीतू पटवारी, कांतिलाल भूरिया आदि पहुंचे तो उन्हें कांग्रेस के ही विधायकांे से बैंगलुरू सरकार के ईषारे पर पुलिस द्वारा मिलने नहीं दिया गया एवं कांग्रेस के दिग्गज एवं जिम्मेदार नेताआंे के साथ हुज्जबाती एवं बदत्मीजी करने जैसे कार्य पुलिस ने किए। श्री फिवटेल ने बताया कि इसलिए मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रेस कांफ्रेस में इन परिस्थितियों को निर्मित करने के पीछे सीधे तौर पर भाजपा को दोषी ठहराते हुए कहा कि 1 साल 4 महीने में प्रदेष की जनता को तो कांग्रेस सरकार का काम रास आया, लेकिन भाजपा को हजम नहंी होने से उन्होंने यह पूरा खेल और साजिष रची।

प्रदेष की जनता के लिए कई योजनाएं की संचालित, हर वर्ग का रखा ध्यान
संभागीय कांग्रेस प्रवक्ता श्री फिटवेल ने मप्र में कमलनाथ सरकार की प्रसंषा करते हुए कहा कि कमलनाथजी ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण करते हुए ही सबसे पहले कांग्रेस के हाईकमान राहुल गांधी द्वारा की गई प्रदेष के किसानों के 2 लाख रू. तक के कर्जे माफ करने की घोषणा को अमल में लाया। इसके साथ ही उन्होंने वृद्धावस्था पेंषन,, विधवा पेंषन, गरीब वर्ग के लोगों का बिजली बिल आधा करने, मुख्यमंत्री कन्या सहायता विवाह योजना के तहत प्रदेष में हजारों युवक-युवतियों के विवाह संपन्न करवाकर उन्हें इस योजना से लाभांन्वित करने के साथ समय-समय पर हर वर्ग के उत्थान एवं विकास के लिए अपने कार्यकाल के दौरान योजनाएं एवं सुविधाएं लागू कर लाभान्वित किया गया, जो भाजपाईयों को रास नहीं आ सका। 

प्रदेष की जनता देगी मुंहतोड़ जवाब देगी
अंत में प्रवक्ता श्री फिटवेल ने कहा कि लोकतंत्र में सरकार का तो आना-जाना लगा रहता है, लेकिन सत्ता की हवस में कुषड्यंत्र एवं कुंठित चाल चलकर भाजपा ने बेमानी की जो इबारत लिख दी है, वह इतिहास के पन्नो में हमेषा घिनौने अध्याय के रूप में लिखी एवं पढ़ी जाएगी। जल्द ही भाजपा की सरकार को इस कृत्य के लिए प्रदेष की जनता जवाब मुंहतोड़ जवाब देगी। 

सकल व्यापारी संघ ने जनता कर्फयू का किया पूर्ण समर्थन, शहर में जगह-जगह लगाए 22 मार्च को व्यापारियों से दुकानेे बंद रखने के होर्डिग्स
एलाउंस कर भी शहरवासियों से जनता कर्फयू का पालन करने की अपील की
jhabua news
झाबुआ। नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) से इन दिनों पूरा देष सहित दुनिया जूझ रहीं है। इसके लिए देष के नागरिकों को एकजुट होकर इससे लड़ने एवं इसके वायरस को देष से पूर्णतः समाप्त करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा देष के नाम अपने संबोधन में 22 मार्च को संपूर्ण देष में जनता कर्फयू की घोषणा करते हुए स्वेच्छा से देष के नागरिकों से इस दिन अपने घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की गई है। इसी कड्री में सकल व्यापारी संघ झाबुआ ने देषहित में प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा लिए गए इस निर्णय का पूर्ण समर्थन करते हुए एक दिन जनता कर्फयू से कोरोना वायरस की चेन खत्म होने से देष से यह वायरस स्वतः ही देष के काफी हद तक खत्म होन से शहर के व्यापारियों सहित समस्त शहरवासियों से अपने स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए एक दिन अपने घरों से बाहर नहीं निकलने का आग्रह किया है। सकल व्यापारी संघ ने शहर के समस्त व्यापारियों और शहरवासियों से इसमें अपनी एकजुटता का परिचय देते हुए पूर्ण सहयोग करने हेतु कहा है।

सकल व्यापारी संघ की बैठक में लिया गया निर्णय
इस संबंध में सकल व्यापारी संघ झाबुआ की आपात बैठक 20 मार्च, शुक्रवार रात 8  बजे स्थानीय पैलेस गार्डन पर आयोजित हुई। जिसमें उपस्थित सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर, सचिव पंकज जैन मोगरा, सह-सचिव हरिष शाह लालाभाई, कोषाध्यक्ष राजेष शाह, मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी, हार्दिक अरोड़ा के साथ वरिष्ठजनों में प्रवीण रूनवाल, भरत बाबेल, दीपक माहेष्वरी, अषोक सकलेचा, निलेष शाह, सुबोध कटकानी, मनोज कटकानी, अमित जैन, किराना व्यवसाय से सुरेष सावलानी, होटल व्यवसायी संघ से दीपक चैरसिया आदि ने सर्व सम्मति से देष हित एवं शहर हित में जनता कर्फयू का पूर्ण समर्थन का निर्णय लिया।

सोष्यल मीडिया पर समर्थन का किया प्रचार-प्रसार
इसके बाद सकल व्यापारी संघ के समस्त पदाधिकारियों ने सोष्यल मीडिया पर व्हाट्स-एप एवं फेसबुक पर जनता कर्फयू के समर्थन के सभी को पोस्टर्स पूरे शहर हीं अपितु जिलेभर में प्रत्येक व्यक्ति तक भेजकर तथा व्हाट्स-एप पर भी समर्थन की डीपी लगाने के साथ स्टेटस में भी अपलोड कर देष हित में लिए इस निर्णय को पूर्ण समर्थन प्रदान किया। जिसका शहर के समस्त लोगों और व्यापारियों की ओर से सकारात्मक फिडबैक भी व्यापारी संघ के पदाधिकारियों को प्राप्त हुआ। 

शहर में लगाए होर्डिंग्स और करवाया एलाउंस   
इसी क्रम में सकल व्यापारी संघ ने 21 मार्च जनता कर्फयू से एक दिन पूर्व  शहर के मुख्य स्थानों राजवाड़ा, विजय स्तंभ तिराहा, राजगढ़ नाका, मेघनगर नाका आदि स्थानों पर जनता कर्फयू के बड़े होर्डिंग लगाकर भी शहर के लोगों विषेषकर व्यापारियों से अपील कीर्है कि जनता के कफूर्य का पालन करते हुए इस दिन अपने घरों से स्वेच्छा से ही बाहर ना निकले। हमे कोरोना वायरस से लड़ने के लिए इस मुहीम में सहभागी बनना है। इसके साथ ही पूरे शहर में इसका एलाउस भी करवाया गया।

निर्भया के दोषियों को फांसी की सजा देने पर रामकृष्ण नगर की महिलाओं ने खुषी जाहिर की, एक-दूसरे को खिलाई मिठाई

झाबुआ। शहर में रामकृष्ण नगर की महिलाओं ने बहुचर्चित निर्भया कांड के चार दोषियों को फांसी की सजा मिलने पर अत्यधिक खुषी जाहिर की है। इसके साथ ही एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर मुंह मीठा करवाया। रामकृष्ण नगर की महिलाओं में वरिष्ठ कमला सोलंकी, शोभा राठौर, चन्द्रावंती दसोंधी, मंजुला सिसौदिया, सुमित्रा बैरागी, किरण ठाकुर, पवित्रा शर्मा, शारदा शर्मा, ज्योति सोलंकी, लेखा, सीमा, बरखा, जया झाला, अनिता, करिना, आषा, निहारिका आदि ने बताया कि देष की राजधानी दिल्ली में आज से करीब सवां 7 वर्ष पूर्ण हुई दिल दहलाने वाली घटना, जिसमें एक लड़की निर्भया (परिवर्तित नाम) का दिल्ली की सड़कों पर चलती बस में गैंग रेप कर उसकी निर्मम एवं निर्दयी हत्या कर दी गई थी। लड़की काफी तड़पती रहीं, लेकिन दरिंदों से उसे नहीं बक्षा। इस ह्रदय विदारक घटना के चार दरिंदों को बीते दिनों माननीय न्यायालय द्वारा अंतिम फैसला सुनाते हुए फांसी की सजा देने एवं चारो आरोपी युवकों को तिहाड़ जेल में अलसुबह फांसी होने के बाद निर्भया की मां सहित संपूर्ण देष में खुषी की लहर है।

महिला वर्ग के राहत की सांस ली
उक्त महिलाओं ने कहा कि आरोपियों को फांसी की सजा मिलने के बाद विषेषकर देष में महिला वर्ग ने राहत की सांस ली है, चूंकि यदि इन दरिंदों को फांसी नहीं मिलती, तो कहीं ना कहीं पूरे देष में महिलाओं के साथ अन्याय होता और ऐसे दरिंगों को ओर बल मिलने से वे भविष्य में भी इस तरह की घटनाओं को कारित करते। सभी ने इस दौरान कोर्ट के इस निर्णय का स्वागत करते हुए निर्भया की मां को न्याय मिलने से प्रसन्ता व्यक्त की है।

शहर के युवा सामाजिक कार्यकर्ता सचिन वाणी कोरोना वायरस को लेकर ग्रामीणांे को कर रहे जागरूक, महिला-पुरूषों से हैंड वाॅष करवाकर उन्हें निःषुल्क डेटोल साॅप का किया वितरण

jhabua news
झाबुआ। नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) जैसी महावारी (गंभीर रोग) से ग्रामीणों को जागरूक करने में शहर के सुवा सामाजिक कार्यकर्ता सचिन वाणी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर रहे है। वे गांव-गांव जाकर ग्रामीण महिला-पुरूष, युवा एवं बच्चों को दो-दो के समूह में इस जानलेवा बिमारी की जानकारी देकर उनके हाथ जेल से धुलवाकर निःषुल्क अपनी ओर से डेटोल साॅप का भी वितरण कर रहे है। शहर के कुरैषी कंपाउंड निवासी सचिन वाणी ने बताया कि उन्होंने 21 मार्च, शनिवार को सुबह थांदला विकासखंड के ग्राम मियाटी में ग्रामीणों को घर-घर जाकर कोरोना वायरस के लक्षण बताते हुए कहा कि यदि घर में किसी भी सदस्य को सर्दी-जुखाम, बुखार, बार-बार छींक आना, गले में खराष होना या सांस लेने में तकलीफ होने की षिकायत आती है, तो वह तुरंत अपने समीपस्थ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर जाकर आवष्यक परामर्ष लेने के बाद उपचार करवाएं।

बाहर से आने वाले परिवार के सदस्यों की जांच करवाएं
श्री वाणी ने विषेष रूप से बताया कि हमारे घर एवं परिवार के सदस्य, जो गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र राज्यों के शहरों में काम कर लौटते है या बाहर से पढ़ाई कर भी यदि कोई छात्र-छात्राएं लौटते है, तो उनकी निगरानी रखते हुए, यदि उन्हें किसी प्रकार की कोई तकलीफ हो तो, तत्काल समीपस्थ स्वास्थ्य केंद्र ले जाकर उनकी जांच करवाएं, चूंकि यह वायरस बाहर से आने वाले लोगों में संक्रमण के चलते अधिक फैल रहा है।

हैंडवाष करवाकर साबुन का किया वितरण 
युवा सचिन वाणी द्वारा स्प्रीड और एलोवीरा से बनाएं गए विषेष जेल से सभी ग्रामीणों के हाथ धुलवाएं  एवं उन्हें बताया कि यह जेल आप घर पर भी स्प्रीट ओर एलोवीरा से बनाकर यदि हम कोई भी ऐसी वस्तु को छूते है, जिससे यह वायरन की संभावना रहती है, तो वस्तु को छूने के बाद अपने दोनो हाथों को इस जेल से धोए, जिससे हाथों में आए सभी प्रकार के किटाणु मर जाएंगे। साथ ही श्री वाणी ने अपनी अपनी ओर से सभी को डेटोल साॅप का भी वितरण किया। कुल 30 साबुन वितरित किए एवं कहा कि हम खाना खाने से पहले, या बाजार से मजूदरी कर या कोई भी कार्य कर लौटते है, तो घर आकर पहले डेटोल साॅप से अपने हाथों को अच्छी तरह से धोए, उसके बाद ही चेहरे पर हाथ लगाए।

रोग प्रतिबंधात्मक क्षमता बढ़ाने के लिए फलों का करे सेवन
सचिन वाणी ने बताया कि कोरोना वायरस से बचने के लिए हम अपने शरीर की इम्यूनिटी पाॅवर ’(रोग प्रतिबंधात्मक क्षमता) को अधिक बढ़ाए, इसके लिए शरीर में विटामिन सी की मात्रा बढ़ सके, इस हेतु संतरा, अंगूर, इमली, बोर, नारियल पानी आदि का अधिकाधिक सेवन करे। ग्रामीण क्षेत्रों में जनसंपर्क के दौरान उनके साथ विषेष रूप से जितेन्द्र पाल, भरत पालिवाल, भीमसिंह भाबर आदि उपस्थित थे। आगामी दिनों मंे  श्री वाणी एवं उनकी टीम द्वारा जिले के गांवों में कोरोना वायरस को लेकर ग्रामीणजनों से संपर्क एवं प्रचार-प्रसारी जारी रखा जाएगा।

राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग की टीम ने निःषुल्क वितरित किए मास्क, कोरेना वायरस से बचने की दी सलाह

jhabua news
झाबुआ। विश्वव्यापी बिमारी कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम हेतु राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग की टीम ने 21 मार्च, शनिवार को जिले के बाजारों में दुकानों पर जाकर दुकानदारों एवं राह चलते लोगों को निःशुल्क मास्क (नेपकीन) वितरण किए। साथ ही कोरोना वायरस से बचाव हेतु इसका उपयोग करने की अपील की। टीम ने बताया कि चेहरे पर यह मास्क लगाने से एवं बार बार हाथ धोने से इस जानलेवा बिमारी से बचा जा सकता है।

यह रहे उपस्थित
इस अवसर पर राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के प्रतिनिधि प्रदेश अध्यक्ष मनीष कुमट ,संभागीय सचिव अरविंद राठौर, गोपाल सोनी, गोपाल विश्वकर्मा, शुभम कोटडिया, अंकित नगरिया, सोहनलाल लववंशी, अंकित देवड़ा, भगवानसिंह चैहान, निलेश लोधा, भोला देवड़ा आदि उपस्थित थे।

थांदला में कोरोना वायरस एक मिला संदिग्ध हम कितने तैयार प्रशासन की निष्क्रियता के चलते कई जिंदगियां लगी है दाव पर

थांदला। देश के प्रधानमंत्री जब देश के नाम सम्बोधन करके एक दिन का जनता कर्फ्यू लगाने की बात कर रहे है, तो निश्चित ही कोरोना वायरस एक गम्भीर महामारी व तेजी से फैलने वाली जानलेवा बीमारी है। लेकिन शायद न तो यहाँ का प्रशासन इसे लेकर गम्भीरता दिखा रहा है और ना ही हम लोग भी इसे लेकर गम्भीर है।
आज का दृश्य जब मैने हमारें थांदला के डॉक्टरों के यहाँ का देखा तो पता चला कि यह कोरोना वायरस महामारी कितनी बड़ी व गम्भीर समस्या है। डॉक्टर परस्ते ने कुछ दिनों के लिये अपने घर पर किसी भी पेशेंट को देखने से इंकार कर दिया है वही डॉक्टर मनीष दुबे ने अपने यहाँ आये पेशेंट को घर से बाहर ही एक्जामिन करना शुरू कर दिया है। आज कोरोना वायरस से विश्व में अनेक देशों ने सतर्कता बरत ली है। कोरोना वायरस की चपेट में आने वाला व इस को जन्म देने वाला देश चीन ने इस पर तेजी काम करते हुए इसे कम कर लिया है लेकिन क्या भारत यह कर पायेगा यह एक जिम्मेदारी वाला प्रश्न है..?
हम अपने देश की क्षमताओं को कम नही मानते लेकिन हमारी मजाकिया प्रवृत्ति, सोशल मीडिया पर इसे लेकर की जाने वाली मजाक, इसे लेकर गम्भीर व्यक्ति को भी हम अपने मजाक से आघात पहुँचाने से नही चुकने वाली प्रवृत्ति से भी क्या हम बच सकते है।
बात की जाए थांदला में कोरोना वायरस की तो आपको बतादे की निकट एक आदिवासी बांग्लादेश से वापस आया है वह संदिग्ध है, जरूरी नही कि उन्हें कोरोना हुआ ही है लेकिन फिर भी उन्हें अभी आइसोलेट पर रखा गया है। डॉक्टरों के अनुसार तो हर बाहर से आये व्यक्ति संदिग्ध ही है उन्हें स्वयं को डॉक्टरों की निगरानी में रखते हुए अपना सम्पूर्ण परीक्षण करवाना चाहिए। 
सूरत बड़ौदा कोटा से सैकड़ों आदिवासी का है नगर में आना-जाना प्रशासन कितना तैयार
कोरोना वायरस को लेकर यदि प्रशासन गम्भीर नही हुआ तो उसका खामियाजा पता नही कितनी जिंदगियों को भुगतना पड़ सकता है यह सोच कर तो रूह काँप उठती है। कारण धारा 144 लागू है लेकिन हर जगह भीड़ नजर आ रही है, शादी ब्याह चल रहे है यही नही अनेक आयोजन हो रहे है। सबसे बड़ी बात भाजपा के जनप्रतिनिधियों कि करें तो वे आतिशबाजी कर भीड़ में जश्न मना रही है। उन्हें अपने सबसे बड़े लीडर आइकॉन व देश के प्रधानमंत्री की अपील तक का असर नही है।
कुछ सूत्रों से पता चला है कि बड़ौदा में दो केस पॉजिटिव पाए गए है वही निकट राज्य राजस्थान में भी कुछ केस पॉजिटिव पाए गए है, ऐसे में यह खतरा और भी बड़ जाता है क्यों कि सूरत, बड़ोदा कोटा से सैकड़ो आदिवासी मजदूर का आना-जाना लगा ही रहता है।
 अपील 
हमें क्या करना है ........?

आपको बता दे डॉक्टर व स्पेशलिस्ट के अनुसार कोरोना वायरस की लाइफ 8 से 9 घण्टे की होती है। 
ऐसे में हम कम से कम लोगो के सम्पर्क में आएं।
किसी भी सार्वजनिक वस्तु को छूने से पहले सावधानी बरतें व बाद में अच्छे से हाथ धोएं।
हमेशा अपने पास आइसोलेशन रखें (गुलाबजल़डिस्टिल वॉटर) से अपने हाथ बार बार साफ करते रहें।
अपने मुँह पर बार बार हाथ लगाने से बचें व हाथ धोकर ही हाथ लगायें।
वायरस ब्रेक डाउन के लिये देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अपील 22 मार्च (कल) अपने आप को घर में ही रखे। यह एक दिन का जनता कर्फ्यू कोरोना वायरस को समाप्त करने में कारगार साबित होगा कृपया इसे मजाक में ना ले व पूरी गम्भीरता व जिम्मेदारी से इसका पालन आप स्वयं करें व अन्य से करवायें। आप कोरोना वायरस से लड़ने में देश की मदद करें। आप भी सुरक्षित रहें व अन्य को भी सुरक्षित रहने में मदद करें। कहा भी है ...... जान है तो जहान है।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए घर पर हाथ प्रक्षालक तैयार करने की विधि

झाबुआ । विष्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस से बचाव एवं सुरक्षा के लिए घर र हाथ प्रक्षालक (हैण्ड सेनीटाईजर ) बनाने की विधि जन सामान्य के लिए जारी की है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.बी.एस.बारिया ने बताया कि इस विधि के अनुसार एक लीटर डिस्टील वाटर में 850 मिली लीटर एथाईल एल्कोहाल, 50 मिली लीटर हाईड्रोजन पेरोक्साईड तथा 20 मिली लीटर ग्लेक्रोल मिलाकर तैयार किया जा सकता है। यह सभी सामग्री मेडीकल दुकानो पर आसानी से उपलब्घ हो जाएगी। उक्त हैण्ड सेनीटाईजर घर में तैयार करने से जनसामान्य बाजार में उपलब्घ मंहगे सेन्टीईजर की खरीदी एवं काला बाजारी से बच सकेगे।

हाई स्कूल-हायर सेकेंडरी एवं अन्य मुख्य परीक्षाएं स्थगित

झाबुआ ।    कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिये माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित  हाई स्कूल-हायर सेकेंडरी एवं अन्य मुख्य परीक्षाएं स्थगित कर दी गई है। इसी प्रकार 21 मार्च, 2020 से प्रारंभ होने वाला उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य भी 31 मार्च, 2020 तक के लिये स्‍थगित किया गया है। मंडल की स्थगित परीक्षाओं के कार्यक्रम की तिथियां एवं मूल्यांकन कार्य प्रारंभ करने की तिथियां  प्रथम से घो‍षित की जायेगी। इस संबंध में माध्यमिक शिक्षा मंडल मध्यप्रदेश भोपाल के सचिव द्वारा आदेश जारी कर दिये गये है।

जिला एवं सत्र न्यायालय में 31 मार्च तक के सभी प्रकरणों को आगे बढाया गया अत्यावश्यक प्रकरणों पर ही  होगी सुनवाई

झाबुआ । जिला एवं सत्र न्यायालय  और भोपाल जिले में स्थित सभी सिविल न्यायालयों में 31 मार्च 2020 तक किसी भी प्रकरण में सुनवाई नहीं की जाएगी । जिला न्यायालय भोपाल के रजिस्ट्रार ने जारी आदेश में कहा है कि अत्यावश्यक प्रकृति के मामलों में ही सुनवाई की जाएगी ।  उन्होंने सभी पक्षकारों से कहा है कि वे 31 मार्च तक न्यायालय में उपस्थित नहीं हों ।इस दौरान किसी के विरुद्ध कोई भी वारंट जारी नही किया जाएगा और ना ही कोई प्रकरण निरस्त किया जाएगा। आदेश में कहा गया है कि इस समयावधि के सभी प्रकरणों की नई तारीख सम्बन्धित अधिवक्ताओ को बता दी जाएगी। ऐसे प्रकरणों में तत्काल सुनवाई के आदेश प्रसारित किए हैं कि जिनमें केवल जमानत, आवेदन स्टे आदि के मामलों की ही सुनवाई की जाएगी । न्यायालय में आने वाले सभी अधिवक्ताओं से अनुरोध किया गया है कि वे न्यायालय परिसर में प्रवेश करने के पूर्व सेनेटाइजर का उपयोग करें । उन्होंने बताया कि न्यायालय में प्रवेश हेतु गेट क्रमांक एक और पांच से ही प्रवेश किया जा सकेगा । इस संबंध में सभी पक्षकारगण अपने अपने अधिवक्तागण से एवं न्यायालयीन हेल्प लाइन नंबर 0755-2764297 पर अपने प्रकरणों की तिथियां ज्ञात कर सकते हैं ।

शासकीय कार्यालयों में तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों की अल्टरनेट उपस्थिति के आदेश

झाबुआ। राज्य शासन ने कोविड 19 कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने और उससे बचाव, सुरक्षा की दृष्टि से शासकीय कार्यालयों में तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों की उपस्थिति को रोस्टर के आधार पर ही सुनिश्चित करने के निर्देश जारी कर दिए हैं। राज्य शासन की ओर से जारी आदेश में  बताया कि सभी कार्यालयों में तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को रोस्टर के आधार पर अल्टरनेट एक दिन छोड़कर बुलाया जाए साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए किसी प्रकार का शासकीय कार्य प्रभावित ना हो। तृतीय और चतुर्थ कर्मचारियों के रोस्टर बनाते समय इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि आवश्यकता पड़ने पर उनको कभी भी बुलाया जा सकता है ।शासकीय कार्यालय के आसपास रहने वाले शासकीय कर्मचारियों को प्रथम दिवस में बुलाया जाए और ऐसी व्यवस्था की जाए जिससे जो कर्मचारी घर पर रहे हैं उनको आवश्यकता पड़ने पर कभी भी बुलाया जा सके साथ ही आवश्यक काम अपने घर से भी कर सकें ,यह आदेश अति आवश्यक सेवाएं स्वास्थ्य ,नगर निगम, जलापूर्ति, पुलिस, आदि विभागों के कर्मचारियों पर लागू नहीं होगा

लोक सेवा केन्द्र के संचालक पर 2 हजार रूपये का अर्थ दंड आरोपित

झाबुआ । कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने लोक सेवा गांरटी अधिनियम 2010 के तहत संचालित लोक सेवा केन्द्र झाबुआ के संचालक लांेक संेवा केन्द्र में संतोश जन सवंाऐ प्रदाय ने करने पर कार्य में लापरवाही करने पर 2 हजार रूप्ये का अर्थ दण्ड आरोपित किया है। उन्हे निर्देष दिये है कि उक्त राषि तीन दिवस में जिला ई-गवर्नेस सोसयटी के बैक खाते 3 दिवस में जमा कर रसीद प्रस्तुत करे। साथ ही सेवा प्रदाय करने के मामले में इस तरह पुनर्वाति न करे। उल्लेखनीय है कि उनके कर्मचारियां द्वारा सेवा प्रदाय में लापरवाही की गई थी।

निर्माण कार्य पूर्ण नहीं करने पर राषि जमा करने के निर्देष

झाबुआ । मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री संदीप षर्मा ने जनपद पंचायत थादला क्षेत्र की ग्राम पंचायत कुकडीपाडा में मछली फाटा से मंगलिया नानुराम के घर तक सी.स. रोड के निर्माण के लिये 13 लाख 73 हजार 600 रूपये की राषि स्वीकृत होने के बाद कार्य पूर्ण नहीं किये जाने पर उक्त राषि सरपंच, सचिव, उप यंत्री तथा सहायक यंत्री को राषि जमा करने के निर्देष दिये है। इनमें सरपंच श्री बाबु पिता पुजां से 43 प्रतिषत, संचिव श्री लालचन्द्र कटारा से 42 प्रतिषत, तथा उपयंत्री श्री मनोज राय से 10 प्रतिषत एवं सहायक यंत्री श्री एन एस चैहान से 5 प्रतिषत राषि एक माह में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत थांदला के कार्यालय में आवष्यक रूप से जमा कराने के निर्देष दिये है। ज्ञात हो कि कार्य पूर्ण नहीे किये जाने के संबंध में प्राप्त षिकायत कि जाॅंच में उक्त अनियमितता सही पाई गई थी।

कोरोना वायरस से बचाव के आवष्यक उपाय एवं सलाह

झाबुआ । कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के लिये आवष्यक उपाय करने तथा जिले के नागरिको को आवष्यक सलाह दी गई है। जिला स्वास्थ्य समिति झाबुआ ने जिले की आमजनता से अपील की है कि वे खांसते व छींकते समय रूमाल या कोई कपडा मुह पर रखे। यदि रूमाल, कपडा न हो तो कम से कम हाथों से मुह, नांक को सामने से ढकना चाहिये। ताकि खांसी तथा छींक के माध्यम से वायरस वार्तावरण में न फैले वार्तालाप के समय एक मीटर या उससे अधिक दूरी बनाये रखे ताकि थुक आदि के सक्रमित कण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में न पहुचे। कम से कम लोगो से हाथ मिलाये। हाथ मिलाने के बाद तथा किसी सक्रमित वस्तु को चुने आदि के बाद हाथ अवष्यक धोये भोजन ग्रहण करने से पहले हाथो को यथा संभव साबुन या विसक्रामक घोल से धोये। साथ ही भीड-भाड वाले स्थानो जैसे माॅल, या बाजर, मेला, आदि स्थानों पर जाने में परहेज करे। इसी प्रकार विवाह, व अन्य कार्यक्रमो में इस बिमारी से बचने के लिये आवष्यक सावधानी बरते।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...