कोरोना को लेकर मोदी ने प्रिन्ट मीडिया के प्रमुखों से की बात - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 24 मार्च 2020

कोरोना को लेकर मोदी ने प्रिन्ट मीडिया के प्रमुखों से की बात

modi-talked-with-print-media-owner
नयी दिल्ली 24 मार्च, देश के लिए बड़ी चुनौती बनकर उभरे कोरोना वायरस से निपटने के उपायों के बारे में विभिन्न पक्षों के साथ निरंतर संवाद कर रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को प्रिन्ट मीडिया के प्रमुखों के साथ इस बारे में विस्तार से चर्चा की। वीडियों कांफ्रेस के माध्यम से हुई इस चर्चा में देश के अनेक प्रिन्ट मीडिया संस्थानों के प्रमुखों ने हिस्सा लिया और अपने सुझाव दिये। उन्होंने प्रधानमंत्री को कोरोना वायरस से लडाई में सरकार के साथ सहयोग का आश्वासन भी दिया। प्रधानमंत्री कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न स्थिति के तमाम पहलुओं पर विचार विमर्श के लिए सभी संबंधित पक्षों के साथ बातचीत कर रहे हैं। इस कड़ी में उन्होंने सोमवार को पहले इलेक्ट्रानिक मीडिया और बाद में उद्योगपतियों के साथ भी संवाद किया था। इन संवादों के दौरान यह बात भी उभर कर सामने आयी थी कि प्रधानमंत्री को समय-समय पर देशवासियों को इस बारे में संबोधित करते रहना चाहिए। इसे ध्यान में रखते हुए श्री मोदी आज शाम 8 बजे फिर से देशवासियों को संबोधित करेंगे और उनके साथ इस बारे में कई महत्वपूर्ण बातें भी साझा करेंगे। श्री मोदी ने कोरोना से लड़ाई में सोमवार को मीडिया की भूमिका की सराहना करते हुए कहा था कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को इस लंबी लड़ाई में सही जानकारी देकर लोगों को जागरूक करना होगा जिससे उनमें नकारात्मक विचार न आयें और देश में अफरा तफरी का माहौल न बनें। कोरोना के महामारी का रूप लेने के कारण देश के 32 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में पूर्णबंदी लागू हैं। सोमवार को कुछ लोगों द्वारा इसका उल्लंघन किये जाने के बाद श्री मोदी ने लोगों से इसका सख्ती से पालन करने और घरों में रहने को कहा था। आज के अपने संबोधन में संभवत: वह लोगों से पूर्णबंदी को पूरी तरह पालन करने का अनुरोध करेंगे। इससे पहले गुरूवार को अपने संबोधन में उन्होंने लोगों से रविवार को 14 घंटे के जनता कर्फ्यू में शामिल होने को कहा था। लोगों ने इसका करीब शत प्रतिशत पालन भी किया था। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...