लॉक डाउन के आदेशों की अवमानना करने पर मजबूरन पुलिस को चलाना पड़ा डंडा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 24 मार्च 2020

लॉक डाउन के आदेशों की अवमानना करने पर मजबूरन पुलिस को चलाना पड़ा डंडा

police-action-begusarai
अरुण शाण्डिल्य (बेगूसराय) आज लॉक डाउन के दूसरे दिन ही हैं और लोगों का सड़कों पर बे-वजह निकलना हुआ जारी।इस दौरान जो भी लोग सड़क पर बिना वजह निकलने से बाज नहीं आ रहे थे,उनसे पहले तो निकलने का सबब पुलिस ने पूछा।कोई ठोस वजह नहीं बताने पर पहले तो पुलिस ने उनको प्रेम से समझाया,समझाने के बावजूद भी जब नहीं माने तो मजबूरन ऐसे लोगों को डंडे की भाषा में समझाना पड़ा।जी हाँ ये घटना बेगूसराय नगर की है,आपको बता दूँ कि बेगूसराय के नगर थाने की पुलिस ने नगर थाना चौक पर लोगों को लाठी-डंडे से पीटकर वहाँ से भगाने को मजबूर हुआ।कुछ ऐसे भी लोग हैं जो समझाने के बाद भी समझने को तैयार नहीं हैं तो उनके साथ सख्ती से पेश आना जरूरी भी है।और  फिर पुलिस ने कठोरता का रुख अपनाने पर विवश हुआ।कोरोना जैसी महामारी के संक्रमण को देखते हुए बिहार में लॉक डाउन की अपील की गई लेकिन बेगूसराय में लोग सोमवार से इस आदेश की धज्जियां उड़ाने पर तुले हुए थे लोगों द्वारा इस तरह लॉक डाउन का उपहास करने पर पुलिसप्रशासन को इस तरह की कार्रवाई करनी पड़ी।पुलिस ने लोगों से अपील की है कि घर से बाहर नहीं निकले,सिर्फ इमरजेंसी कार्यों के तहत ही घर से निकालें।ये लॉक डाउन भी एक तरह से कर्फ़्यू ही है,किन्तु इसमें कुछेक को छूट भी है जिन्हें और जिस आपातकालीन स्थिति में छूट को रखा गया है उसके सिवा अगर कोई बाहर निकलय हैं तो ये उनकी मनमानी होगी और ऐसे में पुलिसप्रशासन सख्ती से अपना कार्य करेगी। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...