सोनिया ने असंगठित क्षेत्र के श्रमिको की समस्या को लेकर मोदी को लिखा पत्र - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 24 मार्च 2020

सोनिया ने असंगठित क्षेत्र के श्रमिको की समस्या को लेकर मोदी को लिखा पत्र

sonia-write-letter-to-modi
नयी दिल्ली, 24 मार्च, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कहा है कि कोरोना वायरस के कारण असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के समक्ष रोज़ी रोटी का संकट पैदा हो गया है इसलिए उन्हें आर्थिक मदद देने के लिए ज़रूरी कदम उठाने की सख्त जरूरत है। श्रीमती गांधी ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि कोरोना जैसी अभूतपूर्व महामारी को देखते हुए श्रमिक हित की व्यवस्था के तहत श्रमिक कल्याण बोर्ड उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान करे। श्रीमती गांधी ने सोमवार को श्री मोदी को यह पत्र लिखा जिसे पार्टी ने मंगलवार को यहां जारी किया। उन्होंने इस पत्र में वर्तमान में कोरोना वायरस के कारण बनी विपरीत परिस्थियों को देखतर हुए असंगठित क्षेत्र के बेरोजगार हुए कामगारों को मज़दूरी देने का आग्रह किया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने इस बात पर गहरी निराशा व्यक्त की है कि श्रमिको के कल्याण के लिए 1996 में बने अधिनियम के तहत गठित श्रमिक कल्याण बोर्ड ने मार्च 2019 तक 49688 करोड़ रुपये से ज्यादा की धनराशि एकत्रित की लेकिन श्रमिक कल्याण के कार्यो पर महज़ 19380 करोड़ रुपये ही खर्च हुए है। उन्होंने कहा कि कोरोना के भय के कारण पिछले कुछ दिनों में बड़ी संख्या में श्रमिक अपने घरों और गांव की तरफ रवाना हुए है और उनके समक्ष रोजी रोटी का अभूतपुर्व संकट पैदा हो गया है जिसे देखते हुए उन्हें राहत देना ज़रूरी हो गया है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...