जल संकट गहराने से पहले तैयारियों में जुटा नगर निगम, इस बार गर्मी में नहीं होगी पानी की किल्लत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 12 मार्च 2020

जल संकट गहराने से पहले तैयारियों में जुटा नगर निगम, इस बार गर्मी में नहीं होगी पानी की किल्लत

सरायकेला के शहरी क्षेत्र में अब गर्मी दस्तक दे दी है, नगर निगम को शहरी क्षेत्र में रहने वाली एक बड़ी आबादी को पेयजल आपूर्ति करने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है. इस बार गर्मी से पूर्व ही शहरी क्षेत्र में जल संकट गहराने से पहले निगम ने कमर कस तैयारियां शुरू किए जाने का दावा किया है.
water-problame-jamshedpur
सरायकेला/जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) : जिले के आदित्यपुर नगर निगम क्षेत्र की कुल आबादी लगभग दो लाख है ऐसे में अप्रैल से जून तक 3 महीनों में यहां जलस्तर काफी नीचे चला जाता है और शहरी क्षेत्र के एक बड़े आबादी को पीने का पानी तक नसीब नहीं हो पाता है. हालांकि, इस बार नगर निगम ने गर्मी में लोगों को भरपूर मात्रा में जल आपूर्ति किए जाने की योजना पर काम शुरू कर दिया गया है. जिसके तहत नगर निगम ने अब गर्मी में जलापूर्ति को लेकर एक विशेष दल का गठन किया है जो पानी के किल्लत वाले क्षेत्र को मॉनिटरिंग कर वहां टैंकर से जलापूर्ति करने का काम सुनिश्चित करेगी. जलापूर्तिनगर निगम के 35 वार्ड के कुल दो लाख आबादी को पानी की किल्लत से बचाने के उद्देश्य से निगम ने छोटे-बड़े कुल 10 टैंकरों के माध्यम से लगातार जल आपूर्ति किए जाने की योजना बनाई है. जिसके तहत संबंधित वार्ड में रूट चार्ट तैयार कर लिया गया है. समय के अनुसार लोगों को टैंकर से जल की आपूर्ति की जाएगी. इसी महीने से नगर निगम शहरी क्षेत्र में टैंकर से जलापूर्ति सेवा शुरू करने जा रहा है. यह सेवा सालों भर चलते रहती है लेकिन गर्मी के मौसम में खासकर 3 महीने के लिए विशेष रूप से योजना का निर्माण किया गया है. आंकड़ों के अनुसार नगर निगम इन 3 महीनों में प्रतिदिन टैंकर से 50 हजार लीटर जल आपूर्ति करेगी ताकि एक बड़े आबादी को पेयजल प्राप्त हो सके पाइपलाइन और डीप बोरिंग योजना पूर्व से ही है संचालित नगर निगम क्षेत्र के लगभग सभी शहरी इलाकों में पूर्व से ही पेयजल और स्वच्छता विभाग ने तैयार किए गए पाइपलाइन से जलापूर्ति योजना संचालित है. हालांकि, इस योजना का देखरेख नगर निगम करती है. इसके अलावा निगम के सभी 35 वार्ड में दो-दो डीप बोरिंग पहले से संचालित हैं. जहां से लोगों को पानी प्राप्त होता है. वहीं, नगर निगम खराब पड़े डीप बोरिंग को अब दुरुस्त करने का काम कर रहा है, 500 करोड़ की वृहद जलापूर्ति योजना पर चल रहा कामनगर निगम क्षेत्र में बृहद जलापूर्ति योजना का भी काम चल रहा है. हालांकि, अब भी इस योजना को पूरा होने में काफी वक्त लगेगा. कुल 500 करोड़ की इस योजना में 134 किलोमीटर पाइपलाइन बिछाई जाएंगी, जिसके तहत हर घर में 24 घंटे जलापूर्ति होगी. नगर विकास विभाग के इस योजना को शुरू हुए 2 साल बीत चुके हैं. हालांकि अभी इस योजना में काफी काम होना बाकी है. गर्मी से पूर्व संपूर्ण नगर निगम क्षेत्र में बेहतर तरीके से जलापूर्ति करने को लेकर नगर निगम ने तैयारियां शुरू कर दी है. नगर निगम का दावा है कि इस बार गर्मी में निगम क्षेत्र में जल संकट नहीं होगा और लोगों को पानी की किल्लत से भी नहीं जूझना पड़ेगा. नगर निगम के मेयर विनोद श्रीवास्तव ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि पाइप लाइन के अलावा डीप बोरिंग और टैंकर के माध्यम से जलापूर्ति सुनिश्चित किया जाएगा. वहीं, गर्मी को देखते हुए कई नए टैंकर भी नगर निगम खरीदने जा रहा है, जिनसे बेहतर तरीके से जलापूर्ति की जाएगी.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...