बिहार : नौ मिनट बंद किया तो 48 घंटे गुल हो सकती है बिजली : प्रेमचंद्र मिश्र - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 5 अप्रैल 2020

बिहार : नौ मिनट बंद किया तो 48 घंटे गुल हो सकती है बिजली : प्रेमचंद्र मिश्र

48-hours-power-may-fail-premchandra-mishra
पटना 04 अप्रैल, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं बिहार विधान परिषद के सदस्य प्रेमचंद्र मिश्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रविवार रात नौ बजे नौ मिनट तक दीया जलाने की अपील को कोरोना महामारी में दूसरी आपात स्थित को आमंत्रित करना बताया और आगाह किया कि यदि प्रत्येक घर में नाै मिनट बिजली बंद की गई तो पावर ग्रिड फेल हो सकता है और पूरे देश में 48 घंटे तक के लिए बिजली आपूर्ति बाधित हो सकती है। श्री मिश्रा ने आज यहां कहा कि यदि रविवार को प्रत्येक घर में नाै मिनट बिजली बंद की गई तो पावर ग्रिड फेल हो सकता है और पूरे देश में 48 घंटे तक के लिए बिजली आपूर्ति बाधित हो सकती है। उन्होंने विद्युत संयंत्रों एवं वितरकों की कार्यप्रणाली पर विस्तारपूर्वक चर्चा की और समझाया कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए लागू लॉकडाउन के कारण औद्योगिक गतिविधियां सुस्त पड़ने से इनकी विद्युत मांग कम है और बिजली संयंत्रों पर औद्योगिक लोड काफी कम है। उन्होंने कहा कि देश के सभी विद्युत संयंत्र कम लोड पर चल रहे हैं। विधान पार्षद ने बताया कि जब मांग और आपूर्ति में अंतर नहीं रहती तब पावर ग्रिड फ्रिक्वेंसी 50 हर्ट्ज रहती है। मांग और आपूर्ति में थोड़ा-बहुत उतार-चढ़ाव होता रहता है। हालांकि ये सभी आपस में जुड़े होते हैं। उन्होंने बताया कि जब विद्युत आपूर्ति अधिक और मांग कम हो जाती है तब फ्रिक्वेंसी 50 हर्ट्ज से ज्यादा हो जाती है। यदि एक साथ पूरे देश में नौ मिनिट के लिए लाइट बंद की जाएगी तो मांग एकदम घट जाएगी और फ्रिक्वेंसी एकदम बढ़ जाएगी। श्री मिश्रा ने बताया कि इसी तरह रविवार को नौ मिनट के बाद अचानक देश की लाइटें चालू होंगी तो ग्रिड की फ्रिक्वेंसी काफी नीचे चली जाएगी। उन्होंने कहा कि जब एक साथ लाइट चालू और बंद होंगी तो ग्रिड की फ्रिक्वेंसी के विचलन का ग्राफ काफी-ऊपर नीचे होगा। फ्रिक्वेंसी और वोल्टेज में उतार-चढ़ाव से विद्युत संयंत्र ठप होने की संभावना बन जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...