देश में कोरोना के मामलों में वृद्धि, 918 नये मामले - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 13 अप्रैल 2020

देश में कोरोना के मामलों में वृद्धि, 918 नये मामले

918-new-corona-cases-in-india
नयी दिल्ली 12 अप्रैल, देश में 21 दिनों के लॉकडाउन खत्म होने में मात्र दो दिन बचे हैं लेकिन पिछले 24 घंटों में देश भर में 918 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 8447 हो गयी तथा 31 और लोगों की मौत के बाद मृतकों का आंकड़ा 273 हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक वीडियो कांफ्रेंस के जरिए शनिवार को मुख्यमंत्रियों को संबोधित करते हुए कोरोना के मामलों में लगातार हो रही वृद्धि के कारण लॉकडाउन की अवधि को आगे बढ़ाने के संकेत दिये हैं। प्रधानमंत्री एक-दो दिन में इसकी औपचारिक घोषणा कर सकते हैं। बैठक के दौरान कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री से लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने का अनुरोध किया था। ओडिशा, राजस्थान,पंजाब, महाराष्ट्र, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल ने अपने-अपने राज्यों में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने की घोषणा भी कर दी है। देश में सबसे गंभीर रूप से प्रभावित महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में 187 नये मामले सामने आने के साथ कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1761 हो गयी है और 127 लोगों की मौत हुयी है। राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामलों में दूसरे नंबर पर है। दिल्ली में 166 नये मामले सामने आये हैं जिससे कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1069 हो गयी है। तमिलनाडु में 58 नये मामले सामने आये हैं और कुल मामलों की संख्या बढ़कर 969 हो गयी है। राजस्थान में 147 नये मामले सामने आने के साथ कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 700 हो गयी है। जैसा कि देशव्यापी लॉकडाउन बढ़ाने की मांग जोरो पर है ऐसे में केंद्र ने राज्य सरकारों को स्पष्ट किया है कि अंतरराज्यीय परिवाहन निगम पर किसी तरह का कोई प्रतिबंध नहीं लगाया जाएगा। आवश्यक वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति के लिये गृह मंत्रालय ने राज्यों को आवश्यक वस्तुओं का विनिर्माण करने वाले कर्मचारियों को पास जारी करने के लिये कहा है। आंकड़ों में तेजी से हो रही वृद्धि के बीच गृह मंत्रालय ने एक डाटा साझा करते हुए कहा कि पर्याप्त व्यवस्था की जा चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने रोजाना होने वाले संवाददाता सम्मेलन में बताया कि 601 अस्पतालों में कुल एक लाख से अधिक बेड उपलब्ध कराये गये हैं। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के एक अधिकारी ने कहा, “जांच के लिये 219 जांच केंद्र बनाये गये हैं जिसमें 151 सरकारी लैब कार्यरत हैं। रविवार दोपहर तक कुल 186906 नमूनों की जांच की जा चुकी है। ”

कोई टिप्पणी नहीं: