बिहार : लॉकडाउन टू को तोड़ने के एवज में एक हजार रूपये ऐंठ लिया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 17 अप्रैल 2020

बिहार : लॉकडाउन टू को तोड़ने के एवज में एक हजार रूपये ऐंठ लिया

एकता परिषद के पूर्व जिला अध्यक्ष कौशल कुमार ने कहा कि काफी गिड़गिड़ाने के बाद भी असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर नवीन कुमार सिंह पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा
bribe-in-lock-down-bihar
मधेपुरा,17 अप्रैल। नागरिकों को वैश्विक कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाने का प्रयास कोरोना वॉरियस के द्वारा जोरदार ढंग से किया जा रहा है।  उसका झलक पूर्णिया गोला चौक पर दिखा।बेवजह बाजारों में घूमने वालों को पकड़ पुलिस वालों ने उठक बैठक करवाया। उसी दरम्यान मां की दवा खरीद करने  जाने वाले एकता परिषद के पूर्व जिला अध्यक्ष कौशल कुमार भी चपेट में आ गए।उनसे लॉकडाउन टू को तोड़ने के एवज में एक हजार  (1000.00) रूपये ऐंठ लिया गया। गुरुवार को शहर में पुलिस प्रशासन पूरी तरह सख्त दिखी। बेवजह बाजारों में घूमने वालों को पकड़ पुलिस वालों ने उठक बैठक भी करवाया। साथ ही बाजार में बिना अधिकृत पास के सौ बाइक चलाने वालों को पकड़ सभी से जुर्माना भी वसूल बाइक मुक्त किया गया। लॉकडाउन टू को सख्ती से पालन करने को लेकर शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर सुबह छह बजे से ही पुलिस मुस्तैद रहकर बाजार में बिना पास के घूम रहे बाइक सवारों को रोक बाइक जब्त करना शुरू कर दिया था। शहर के विभिन्न चौराहों पर दिखी सख्ती पुलिस प्रशासन की टीम शहर के थाना चौक, कॉलेज चौक, बस स्टैंड चौक, जपालपट्टी चौक, कर्पूरी चौक, पूर्णिया गोला चौक, सुभाष चौक सहित अन्य चौक-चौराहों पर सुबह से ही बाजार में बिना अधिकृत पास के घूम रहे बाइक सवारों का बाइक जब्त कर जुर्माना वसूल करना एवं बेवजह बाजार में घूमने वालों को पकड़ उठक बैठक करवाना शुरू किया जो पूरे दिन चलता रहा। पुलिस द्वारा शुरू की गई कार्रवाई के बाद बाजार में बाइक लेकर आने जाने वालों की संख्या काफी कम हो गई। साथ ही। सिर्फ बैंकों में रुपये निकासी को आने वालों की भीड़ सभी बैंकों के सामने जमा थी।कमांडो दल एवं पुलिस वाले बैंकों में पहुंच लोगों को शारीरिक दूरी का पालन करने का निर्देश देते दिखे। लाइव आर्यावर्त को एकता परिषद के पूर्व जिला अध्यक्ष कौशल कुमार ने कहा कि मेरा घर सहरसा जिले के सौर प्रखंड में रहता हूं। बीमार मां की दवा लाने मधेपुरा जिला जा रहे थे।चूंकि मां की दवा सहरसा जिले में उपलब्ध नहीं है।जैसे ही बाइक से पूर्णिया गोला चौक पहुंचे थे कि पुलिस ने बाइक रोकने को रह दिया। आपबीती बयान करने के बाद भी पुलिस नहीं मानी। बतौर जुर्माना दो हजार रूपये की मांग कर दी। अंत में एक हजार रूपये का रसीद काट डाला। रसीद संख्या 4008377 है। मोटर अधिनियम 1988 की धारा 177 आईपीसी लॉकडाउन के अन्तर्गत लिखकर 1000/- रू.लिया।असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर नवीन कुमार सिंह ने हस्ताक्षर कर दिया।सामान्य (धारा-177) और (नई धारा-177-ए) के तहत ट्रैफिक नियम तोड़ने पर पहले 100 रु. का जुर्माना लगता था, अब 500 रुपए जुर्माना लगेगा। एकता परिषद के पूर्व जिला अध्यक्ष कौशल कुमार ने कहा कि काफी गिड़गिड़ाने के बाद भी असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर नवीन कुमार सिंह पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा।

कोई टिप्पणी नहीं: