बिहार : कोरोना वायरस के प्रसार करने का सिलसिला में ब्रेक लगना शुरू - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 18 अप्रैल 2020

बिहार : कोरोना वायरस के प्रसार करने का सिलसिला में ब्रेक लगना शुरू

corona-care-announcement
पटना,18 अप्रैल (आर्यावर्त संवाददाता) । भारत में कोरोना वायरस के प्रसार करने का सिलसिला में ब्रेक लगना शुरू हो गया है।अभी खबर है कि देश के 23 राज्यों के 47 जिलों में पिछले 28 दिनों से कोरोना संक्रमित व्यक्ति नहीं मिला है।इसमें अपना बिहार के 3 जिले भागलपुर, लखीसराय और गोपालगंज है। देश के 12 जिलों में पिछले 12 दिनों से कोरोना संक्रमित व्यक्ति नहीं मिल रहा था जिसमें पटना जिला भी शामिल था। पटना के निवासियों का दुर्भाग्य रहा कि संपूर्ण लोकबंदी के आदेश पालन करने बाद खाजपुरा में रहनेवाली महिला कोरोना पॉजिटव की चपेट में आ गयी। इसके साथ ही बिहार में 86 पॉजिटिव केस हो गया। जिसमें 42 ठीक हुए हैं और 2 की मौत हो गयी है। इस तरह बिहारवासियों को मिलीजुली खबर मिली है। मगर राजधानीवासियों को चिंता में डूबाने वाली खबर जरूर है। जो 12 दिनों के अंदर शनिवार को सदमे में डाल दिया।पटना में एक और कोरोना मरीज की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने से हड़कंप मच गई है। ये मरीज महिला है, जो 32 साल की है और राजधानी पटना के खाजपुरा मुहल्ले की रहनेवाली है। इसे सांस लेने में तकलीफ थी, जिसकी वजह से उसे पटना के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसका सैंपल जांच के लिए भेजा गया था और रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। इसको मिलाकर पटना में 7 कोरोना पॉजिटिव केस हो गया। पटना के राजा बाजार स्थित खाजपुरा की रहनेवाली इस महिला का पति एटीएम कैशवैन का ड्राइवर है। मरीज की कांट्रेक्ट ट्रेसिंग की जा रही है। क्योंकि ना तो इसकी ट्रैवल हिस्ट्री है, ना ही यह किसी पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आई है। उसकी जांच रिपोर्ट का पता चलते ही इसकी कांटेक्ट ट्रैसिंग शुरू कर दी गई है। पटना प्रशासन की टीम खाजपुरा पहुंच गई है और अनुमंडल पदाधिकारी तनय सुल्तानिया ने कहा कि तत्काल जांच की जा रही है। आसपास के इलाके को सील करने की बात की जा रही है। बता दें बिहार में कोरोना के 86 पॉजिटिव केस में 42 को ठीक कर लिया गया है। जहां पूरे हिंदुस्तान में 10 प्रतिशत ही मरीज ठीक हो रहे हैं। वहीं आज बिहार में 48 प्रतिशत कोरोना मरीज ठीक हो गए हैं। सबसे पहले सिवान की बात करे तो वहां 29 मरीज में 17 को ठीक कर लिया गया है। जबकि बेगूसराय में हाल के दिनों में आंकड़े बढ़कर 9 हो गये जिसमें 1 मरीज ठीक हुआ। वही देखा जाय तो सिवान के बाद मुंगेर हॉट स्पॉट बना है, जहां 17 मरीज मिले। जमालपुर में 10 मरीज है। एक ही परिवार के 6 पॉजिटिव है।जिन्नी जोसेफात ने कहा कि जमालपुर को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। जिसमें 6 को ठीक कर लिया गया है। वहीं बात करे राजधानी की तो यहां 7 मरीज मिले है, जिसमें 5 को ठीक कर लिया गया है। जबकि गया में 5 मरीज में 4 को ठीक कर लिया गया है। बात करे नवादा की तो वहां भी 3 मरीज मिले हैं, जिसमें 1 ठीक हो गया है। अगर नालंदा पर अगर ध्यान दिया जाय तो इन दिनों यहां मरीजों की संख्या बढ़कर 7 हो गई हैं, जिसमें अभी तक 2 को ही ठीक किया जा चुका है। वहीं सारण, लखीसराय, भागलपुर में 1-1 मरीज मिले थे, जो सभी को ठीक कर लिया गया है। नये केस में लोगों के बीच चर्चा का विषय बना है वैशाली और बक्सर, वैशाली का केस लोगों के बीच घबराहट पैदा कर दिया है क्योंकि उस मरीज का कोई ट्रेवल हिस्ट्री नहीं था, ना ही ये पता चला कि किसके संपर्क में था और उसकी मौत शुक्रवार को पटना एम्स में हो गई। वहीं दूसरी ओर बक्सर में 2 मरीज को मिलने से पूरे शाहाबाद में हड़कंप मच गया। छानबीन में ये पता चला कि आसनसोल से 6 लोग स्कॉर्पियो से आये थे, जिसमें 3 भोजपुर और 3 बक्सर उतरे थे। जिसमें कल शाम में भोजपुर से 35 लोगों को जांच के लिए पकड़ा गया, जिसमें सभी का केस आज नगेटिव बताया गया। सूत्रों के हवाले से एक महिला की खोज अभी भी जारी हैं। यानी कुल 86 केस में 42 को ठीक कर लिया गया है, जबकि कोरोना से 2 (मुंगेर और वैशाली) की मौत हुई है, वहींं 41 का इलाज अभी जारी है। गत 16 अप्रैल से शुरू डोर-टू- डोर अभियान जोरशोर से जारी है। पल्स पोलियो की तरह घर घर जाकर स्क्रींनिग की जा रही है। बुखार,खांसी,सर्दी,गला में दर्द,दम फुलने आदि की शिकायत मिलने पर लोकल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भेज दिया जाता है।एम्बुलेंस की सुविधा उपलब्ध करायी जाती है। औरंगाबाद, पूर्वी चम्पारण, नालंदा,दरभंगा,धनरूआ आदि में कौरोना योद्धाओं पर आक्रमण होने की शिकायत पर पुलिस सक्रिय हो गयी है। चिन्हित फिल्ड में जाकर कौरोना योद्धाओं से पूछताछ करने लगे हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र,की मेरीकुट्टी जौर्ज के नेतृत्व में धनरूआ प्रखंड के नदवां पंचायत के रद्युनाथपुर गांव के 289 घरों में डोर-टू- डोर जाकर स्क्रींनिग की है। इस बीच भारतीय जनता पार्टी के बिहार प्रदेश अल्पसंख्यक मोर्चा के  प्रदेश अध्यक्ष जनाब तुफैल खान कादरी जी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग किए। इसमें  बिहार प्रदेश अल्पसंख्यक मोर्चा राजन क्लेमेंट साह जुड़ कर पार्टी के कार्यकर्ताओं एवं विभिन्न सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ कोरोना के कारण Lockdown के दौरान हो रहे सामाजिक सेवा पर चर्चा की गयी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...