बिहार : भागलपुर में होगी कोरोना टेस्टिंग की व्यवस्था : अश्विनी चौबे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 13 अप्रैल 2020

बिहार : भागलपुर में होगी कोरोना टेस्टिंग की व्यवस्था : अश्विनी चौबे

corona-testing-bhagalpur-ashwini-chaube
भागलपुर (आर्यावर्त संवाददाता) कोरोना महामारी इस वक्त पूरी दुनिया में तबाही मची हुई है। भारत में भी कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ी है। पिछले दो दिनों में भारत में लगभग 2 हजार मरीज सामने आये हैं। जबकि 70 से ज्यादा मरीजों ने इस जानलेवा बीमारी के कारण दम तोड़ दिया है। इस बीच बिहार से एक खबर आ रही है कि केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे के प्रयास से भागलपुर जवाहरलाल मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 टेस्टिंग को लेकर जो तकनीकी अड़चन आ रही है उसे दूर किया जा रहा है। सबौर को देश के सर्वश्रेष्ठ कृषि ...केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने बताया कि भागलपुर में कोविड-19 टेस्टिंग लैब स्थापना में आ रही तकनीकी अड़चनों को दूर किया जा रहा है। यहाँ यथाशीघ्र व्यवस्था हो जाएगी। लैब को शुरू करने के लिए सबौर कृषि विश्वविद्यालय ने भी पहल की है। इस संबंध में विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर ने केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे से बातचीत की। मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने भी केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे से बातचीत कर मौजूदा स्थिति से अवगत कराया था। इसके उपरांत केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री चौबे ने एम्स दिल्ली के निदेशक एवं आरएमआरआई पटना के निदेशक से बातचीत की। भागलपुर में टेस्टिंग लैब्स दिल्ली और आरएमआरआई पटना सहयोग कर रही है। गौरतलब है कि एम्स दिल्ली कोविड-19 टेस्टिंग लैब की स्थापना के संदर्भ में महत्वपूर्ण मार्गदर्शन दे रहा है। बिहार के सभी टेस्टिंग लैब की मॉनिटरिंग एम्स दिल्ली द्वारा की जा रही है। ताकि किसी तरह की परेशानी न हो। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे ने बताया कि जो तकनीकी अड़चन है उसे यथा शीघ्र दूर कर लिया जाएगा। इसका लगातार प्रयास किया जा रहा है। आईसीएमआर एम्स एवं आरएमआरआई स्तर पर लगातार मार्गदर्शन किया जा रहा है। इस संबंध में मैंने संबंधित विभागों को निर्देशित किया है। यहां पर टेस्टिंग की व्यवस्था शीघ्र शुरू हो जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं: