रमजान में लाॅकडाऊन का हो पालन: नकवी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 17 अप्रैल 2020

रमजान में लाॅकडाऊन का हो पालन: नकवी

folow-lock-down-in-ramadan
नयी दिल्ली ,16 अप्रैल, केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री एवं केंद्रीय वक्फ परिषद अध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी ने रमजान के पवित्र महीने में सभी धार्मिक, सार्वजनिक, व्यक्तिगत स्थलों पर लॉकडाउन, कर्फ्यू, सोशल डिस्टेंसिंग का प्रभावी ढंग से पालन करने एवं लोगों को अपने-अपने घरों पर ही रह कर इबादत आदि करने को कहा है। श्री नकवी ने बृहस्पतिवार को देश के 30 से ज्यादा राज्य वक्फ बोर्डों के वरिष्ठ अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये बात की। देश के विभिन्न वक्फ बोर्डों के अंतर्गत सात लाख से ज्यादा पंजीकृत मस्जिदें, ईदगाह, दरगाह, इमामबाड़े एवं अन्य धार्मिक-सामाजिक स्थल हैं। वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग में उत्तर प्रदेश (शिया एवं सुन्नी), आंध्र प्रदेश, बिहार (शिया एवं सुन्नी), दादर एवं नागर हवेली, हरियाणा, कर्नाटक, केरल, मध्यप्रदेश, पंजाब, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, असम, मणिपुर, राजस्थान, तेलंगाना, अण्डमान एवं निकोबार, छत्तीसगढ़, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, झारखण्ड, महाराष्ट्र, ओडिशा, पुडुचेरी, तमिलनाडु, त्रिपुरा और उत्तराखंड आदि के वक्फ बोर्डों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों, सुरक्षा बलों, प्रशासनिक अधिकारियों और सफाई कर्मचारियों से सहयोग किया जाना चाहिए। ये लोग अपनी जान हथेली पर लेकर जन स्वास्थ्य-सुरक्षा के लिए काम कर रहे हैं। क्वारंटाइन, आइसोलेशन सेंटरों को लेकर फैलाई जा रही अफवाहों को ध्वस्त किया जाना चाहिए एवं लोगों में जागरूकता पैदा करनी चाहिए। उन्हाेंने कहा, “हमें बताना चाहिए कि ऐसे केंद्र; लोगों को, उनके परिवार और समाज को किसी भी तरह के संक्रमण से सुरक्षित करने के लिए हैं।” उन्हाेंने सभी राज्य वक्फ बोर्डों, धार्मिक - सामाजिक संगठनों से कहा कि फेक न्यूज़ एवं भड़काऊ बातों और अफवाह फ़ैलाने वाले साजिश- षड़यंत्र से होशियार रहना चाहिए। देश में बिना भेदभाव सभी नागरिकों की सेहत सलामती के लिए काम हो रहा है। इस तरह की साजिश- षड़यंत्र, कोरोना के खिलाफ देश की सामूहिक जंग को कमजोर करने की कोशिश है। सभी को सजग और सचेत हो कर एकजुटता के साथ ऐसी साजिशों, दुष्प्रचार, अफवाहों को परास्त कर कोरोना के खिलाफ इस जंग में विजय हासिल करनी है। श्री नकवी ने सभी राज्य वक्फ बोर्डों के अधिकारियों से कहा कि रमजान के पवित्र महीने में इबादत, इफ्तार, तराबी एवं अन्य धार्मिक गतिविधियों में केंद्रीय गृह मंत्रालय, राज्य सरकारों एवं केंद्रीय वक्फ परिषद के दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित कराने में सक्रिय भूमिका निभाएं। उन्हाेंने कहा कि कोरोना की चुनौतियों के मद्देनजर देश के सभी मंदिरों, गुरुद्वारों, चर्चों एवं अन्य धार्मिक-सामाजिक स्थलों पर भीड़-भाड़ वाली सभी धार्मिक-सामाजिक गतिविधियां रुकी हुई हैं। इसी तरह सभी मस्जिदों एवं अन्य मुस्लिम धार्मिक स्थलों पर किसी भी तरह की भीड़-भाड़ वाली धार्मिक गतिविधि नहीं हो रही है। कोरोना के कहर के कारण देश के सभी क्षेत्रों के धर्मगुरुओं, धार्मिक-सामाजिक संगठनों ने रमजान के पवित्र महीने में इबादत, इफ्तार, तराबी एवं अन्य धार्मिक कर्त्तव्य, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अपने घरों में ही अदा करने की अपील की है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि दुनिया के अधिकांश मुस्लिम राष्ट्रों ने भी रमजान में मस्जिदों एवं अन्य धार्मिक स्थलों पर भीड़-भाड़ वाली गतिविधियों पर रोक लगा रखी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सभी राज्य सरकारों के साथ मिल कर लोगों की सेहत और सलामती के लिए प्रभावी कार्य कर रहे हैं। लोगों के सहयोग ने कोरोना के खिलाफ जंग में काफी राहत दी है। लेकिन चुनौतियाँ अभी कम नहीं है। इन चुनौतियों पर विजय तभी पाई जा सकती है जब हम केंद्र एवं राज्य सरकारों के सभी दिशा-निर्देशों का कड़ाई एवं मुस्तैदी से पालन करते रहेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: