इस्लाम विरोधी पोस्ट डालने के मामले में भारतीय को यूएई में नौकरी से निकाला गया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 13 अप्रैल 2020

इस्लाम विरोधी पोस्ट डालने के मामले में भारतीय को यूएई में नौकरी से निकाला गया

indian-fire-to-post-anti-muslim-post-uae
दुबई, 13 अप्रैल, कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर फेसबुक पर इस्लाम विरोधी पोस्ट कथित रूप से साझा करने के मामले में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में एक अन्य प्रवासी भारतीय को नौकरी से हटा दिया गया है। ‘गल्फ न्यूज’ ने बताया कि दुबई की मोरो हब डेटा सोल्यूशंस कंपनी में प्रमुख लेखाकार के तौर पर कार्यरत बाला कृष्ण नक्का को उसके फेसबुक पोस्ट के वायरल हो जाने के बाद कंपनी से बर्खास्त कर दिया गया। उसकी पोस्ट पर बड़ी संख्या में लोगों ने आपत्ति जताई है। नक्का की पोस्ट के बाद कई लोगों ने उसके खिलाफ कार्रवाई की फेसबुक एवं ट्विटर पर मांग की थी। कंपनी ने त्वरित कार्रवाई करते हुए उसे नौकरी से निकाले जाने की घोषणा की।  कंपनी ने एक बयान में कहा, ‘‘मोरो इस्लाम विरोधी या घृणा फैलाने वाली टिप्पणी को कतई बर्दाश्त नहीं कर सकती।’’  इससे पहले दुबई स्थित ‘एमरिल सर्विसेस’ में टीम लीडर के रूप में कार्यरत राकेश बी कित्तूरमठ के सोशल मीडिया पोस्ट पर लोगों के आपत्ति जताए जाने के बाद उसे बृहस्पतिवार को उसके पद से बर्खास्त कर दिया गया था। इससे पूर्व अबु धाबी के निवासी मितेश उदेशी को फेसबुक पेज पर इस्लाम का कथित रूप से मजाक उड़ाने वाला एक कार्टून पोस्ट करने को लेकर बर्खास्त किया गया था। इसी तरह दुबई में ‘फ्यूचर विजन इवेंट्स एंड वेडिंग्स’ के समीर भंडारी के खिलाफ उस समय पुलिस में शिकायत की गई थी जब उसने नौकरी का आवेदन करने वाले एक भारतीय मुसलमान को पाकिस्तान जाने को कहा था। यूएई में 2015 में पारित एक कानून के तहत धार्मिक या नस्ली भेदभाव गैर कानूनी है।

कोई टिप्पणी नहीं: