बिहार : लॉक डाउन में किसानों की मांगों की हो रही उपेक्षा, सरकार मुआवजा दे : राजाराम सिंह - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 अप्रैल 2020

बिहार : लॉक डाउन में किसानों की मांगों की हो रही उपेक्षा, सरकार मुआवजा दे : राजाराम सिंह

  • अखिल भारतीय किसान महासभा के आह्वान पर किसानों का देशव्यापी धरना.
  • बिहार में अपने घरों में रहकर किसानों ने दिया धरना.
kisan-mahasabha-demand-relief
पटना 27 अप्रैल, लॉक डाउन में किसानों की हो रही लगातार उपेक्षा के खिलाफ आज अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रव्यापी आह्वान पर पूरे राज्य में अपने घरों में रहकर किसानों ने एकदिवसीय धरना दिया. पटना में प्रमुख रूप से संघटन के महासचिव व पूर्व विधायक राजाराम सिंह, वरिष्ठ नेता केडी यादव, उमेश सिंह; भोजपुर में विधायक सुदामा प्रसाद; विक्रमगंज में पूर्व विधायक अरुण सिंह, सिवान में किसान नेता व पूर्व विधायक अमरनाथ यादव; जहानाबाद के निघवा में राज्य सचिव रामाधार सिंह, वैशाली में राज्याध्यक्ष विशेश्वर यादव, मुजफ्फरपुर में जितेंद्र यादव, अरवल में राजेश्वरी यादव, पीरो में पूर्व विधायक चंद्रदीप सिंह आदि नेताओं ने धरना दिया. कॉमरेड राजाराम सिंह ने कहा कि आज का धरना हर ग्राम में फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकारी खरीद की गारंटी करने; प्राकृतिक आपदा, आगजनी और लाकडाउन से बर्बाद फसलों का 25 हजार रु. प्रति एकड़ मुआवजा देने; बिजली के निजीकरण की मुहिम पर तत्काल रोक लगाने;  कोरोना, लॉक डाउन में भूख व पुलिस दमन से हुई मौतों पर 20 लाख रुपया मुआवजा देने; नफरत नहीं भाईचारा को मजबूत करने; कोरोना को पराजित करने; जिला स्तर पर कोरोना की नि: शुल्क जांच व इलाज, आईसीयू वार्ड व वेंटिलेटर का प्रबन्ध करने आदि मांगों पर की गई थी. उन्होंने कहा कि पूरे बिहार में लगभग सौ केंद्रों पर आज का कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें हजारों किसानों ने तख्तियों के साथ धरना दिया और ईमेल के जरिये अपनी मांग प्रधानमंत्री तक पहुंचाने की कोशिश की है. हमें उम्मीद है कि इन मांगों पर अविलम्ब कार्रवाई होगी और किसानों को राहत दी जाएगी. पटना जिला के सदर प्रखंड के फतेहपुर ग्राम में किसानों के धरना का नेतृत्व राज्य सह सचिव कॉमरेड उमेश सिंह ने किया. धरना में किसान नेता अवध किशोर सिंह, विद्यानंद सिंह,विनय कुमार सिंह,रमेश सिंह,जितेंद्र कुमार आदि शामिल हुए. नौबतपुर के अमरपुरा गांव में किसान महासभा के जिला सचिव कृपा नारायण सिंह के नेतृत्व में किसान-धरना पर बैठे. इसमें प्रखंड अध्यक्ष किसान नेता मधेश्वर शर्मा, बृजमोहन शरण सिंह, नलिन कुमार वर्मा, शिव जन्म राम,संतोष पंडित आदि प्रमुख थे. अलावल पुर में किसान नेता अशोक यादव के नेतृत्व में उमेश यादव, बिनोद वर्मा, विजेन्द्र ठाकुर, लाल मोहन चौधरी धरना पर बैठे. फतुहा में शैलेन्द्र यादव के नेतृत्व में धरना दिया गया. बिहटा के कन्हौली मे अखिलभारतीय किसान महा सभा के राष्ट्रीय आहवान पर एक दिवसीय धरना दिया गया. लौकडाउन का पालन करते हुए कां राजेश प्रसाद बिहटा सचिव कां जगरनाथ चौधरी मोहमद आसिफ बिजेंदर महतो श्रवन पंडित माधुरी गुप्ता लालती देवी जसोदा देवी गप्पु कुमार धरना मे शामिल हुए. अरवल में किसान नेता राजेश्वरी यादव के नेतृत्व में राजेपुर गांव में धरना दिया गया. अन्य गांवों में भी धरना दिया गया. सुपौल जिले के किसनपुर प्रखंड के मलार पंचायत में धरना का नेतृत्व  रामचंद्र शर्मा,मुकेश यादव,परमिला देवी और अन्य लोगों ने किया. अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रव्यापी किसान धरना के तहत भाकपा माले जिला कार्यालय, आरा में किसानों ने धरना दिया. इसमें कॉमरेड सुदामा प्रसाद के अलावा अन्य किसान नेता शामिल हुए. मुजफ्फरपुर में किसान नेता जितेंद्र यादव ने धरना का नेतृत्व किया. दाउदनगर में किसान नेता जनार्दन सिंह धरना पर रहे. दरभंगा  में खेग्रामस-किसान महासभा के संयुक्त तत्वधान में धरना दिया गया.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...