कुमारस्वामी के बेटे का विवाह सादगी से होगा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 6 अप्रैल 2020

कुमारस्वामी के बेटे का विवाह सादगी से होगा

kumarswami-son-simple-marreige
बेंगलुरू, छह अप्रैल, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 के प्रकोप के कारण उनके बेटे निखिल की शादी 17 अप्रैल को निकट पारिवारिक सदस्यों की मौजूदगी में सादगी से होगी। निखिल की सगाई पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस विधायक एम कृष्णप्पा की पोती रेवती से हुई थी।  दोनों परिवारों ने रामनगर के जनपडा लोक के पास एक भव्य शादी समारोह करने का फैसला किया था और उसके लिए तैयारियां जोरों से चल रही थीं। कुमारस्वामी ने कहा, ‘‘क्या यह (रामनगर में विवाह) ऐसी स्थिति में हो सकता है, हमने शादी की रस्में घर पर परिवार के 15-20 सदस्यों की उपस्थिति में पूरी करने का फैसला किया है।"  उन्होंने रामनगर में पत्रकारों से बात करते हुए कहा, ‘‘देखते हैं कि (भव्य कार्यक्रम के लिए) समय कब आता है, फिलहाल हमने 17 अप्रैल को इसे घर पर ही करने का फैसला किया है, यह एक शुभ दिन है, हम इसे स्थगित नहीं करना चाहते हैं। अन्य चीजों के बारे में भविष्य में देखेंगे।’’  निखिल की शादी रामनगर के पास 95 एकड़ भूमि पर करने की योजना बनायी गई थी जिसमें जिसमें पार्टी के लाखों कार्यकर्ता और शुभचिंतक शामिल होते। उसके बाद बेंगलुरु में भव्य रिसेप्शन आयोजित होना था।  निखिल ने कुछ कन्नड़ फिल्मों में अभिनय किया है।  जदएस संरक्षक एवं पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा के पोते ने पार्टी के गढ़ मांड्या से 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ा था और भाजपा द्वारा समर्थित एक निर्दलीय उम्मीदवार सुमालता अंबरीश से हार गए थे।  इस बीच कुमारस्वामी ने कहा कि इस बारे में कोई स्पष्टीकरण नहीं है कि 14 अप्रैल को लॉकडाउन समाप्त होगा या संक्रमण के मामले बढ़ने के चलते यह जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि ऐसी खबरें हैं कि लॉकडाउन लगभग 16 जिलों में जारी रहेगा, जबकि यह अन्य जिलों से वापस ले लिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘मेरी भी इस पर नजर है कि सरकार क्या कदम उठाएगी, यह आलोचना का समय नहीं है। यह समय सरकार को कुशलता से काम करने की सलाह देने का है।’’  उन्होंने सरकार से आग्रह किया कि वह चिकित्सकों, चिकित्सा कर्मियों को तुरंत व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) मुहैया कराये जो कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में सबसे आगे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...