बंगाल में लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ा, शैक्षणिक संस्थान 10 जून तक बंद - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 अप्रैल 2020

बंगाल में लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ा, शैक्षणिक संस्थान 10 जून तक बंद

lock-down-extand-in-bangal-till-30
कोलकाता, 11 अप्रैल, पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस (कोविड-19) के फैलाव को रोकने के लिए लगाये गये लॉकडाउन की अवधि 30 अप्रैल तक बढ़ा दी गयी है जबकि शैक्षणिक संस्थान 10 जून तक बंद रहेंगे। राज्य में कोरोना वायरस के छह नये मामले सामने आने के बाद इसके मरीजों की संख्या बढ़कर 95 हो गयी है और अब तक पांच संक्रमितों की मौत हो चुकी है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हुई बैठक के बाद कहा कि राज्य में लॉकडाउन 30 अप्रैल तक जारी रहेगा तथा सभी शैक्षणिक संस्थान अगले 10 जून तक बंद रहेंगे। श्री मोदी ने कोरोना महामारी से उत्पन्न स्थिति और इससे निपटने केे लिए आगे की रणनीति पर विचार-विमर्श के लिए शनिवार को सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बैठक की थी। उन्होंने बताया कि राज्य के कुल 95 सक्रिय मामलों में से 70 मामले 20 परिवाराें से जुड़े हैं। उन्होंने राज्य में कोरोना के सामुदायिक प्रसार से इन्कार करते हुए कहा कि अब तक सामने आये सभी मामले परिवार केंद्रित हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में 5000 लोगों को क्वारंटीन में रखा गया है। सुश्री बनर्जी ने राज्य में किसी धार्मिक आयोजन की अनुमति देने से इन्कार करते हुए कहा कि आवश्यक सेवाओं को छोड़ कर किसी प्रकार के अतंरराष्ट्रीय उड़ान की इजाजत नहीं होगी। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से सीमावर्ती इलाकों में चौकसी बढ़ाने का अनुरोध करते हुए कहा कि 30 अप्रैल के बाद लॉकडाउन स्थिति की समीक्षा की जाएगी। उन्होंने छोटे उद्यमियों तथा असंगठित क्षेत्रों के लिए विशेष पैकेज की घोषणा करते हुए कहा कि आवश्यक चीजों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए दुकानें पूर्वाह्न 10 बजे से शाम छह बजे तक खुली रहेंगी। इस बीच, राज्य सरकार ने नौ से 10 कोविड-19 हॉटस्पॉट की पहचान की है तथा इन इलाकों में पूर्णबंदी की घोषणा की है। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने प्रधानमंत्री से कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन की अवधि को आगे बढ़ाने का भी अनुरोध किया। राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भी मौजूदा लॉकडाउन को जारी रखने की अपील करते हुए कहा कि इसमें किसी प्रकार का फेरबदल विनाशकारी हो सकता है। उन्होंने आज एक ट्वीट में कहा, “ सामाजिक दूरियों का पालन न करने और धार्मिक आयोजन होने की रिपोर्टें बहुत परेशान करती हैं। निजामुद्दीन मरकज की तब्लीगी जमात की दुर्भाग्यपूर्ण घटना ने कहर ढाया। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के निर्देशों का पालन करें।”

कोई टिप्पणी नहीं: