मधुबनी : मस्जिद को जांचने गई पुलिस पर हमला, पथराव और फायरिंग - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 1 अप्रैल 2020

मधुबनी : मस्जिद को जांचने गई पुलिस पर हमला, पथराव और फायरिंग

mosq-people-attack-police-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) कोरोना अलर्ट के बीच दिल्ली से तबलीगी मरकज से बिहार आये लोगों का पता लगाने मधुबनी पुलिस जब एक मस्जिद में गई तो वहां लोगों ने उसपर हमला कर दिया। घटना अंधराठाढ़ी प्रखंड के गीदड़गंज गांव स्थित मस्जिद का है। सोशल डिस्टेंसिंग की बात जब पुलिस ने समझानी चाही तो मस्जिद के लोग भड़क गए और पथराव करने लगे। घटना में अंचलाधिकारी सहित कई जवान घायल हो गए। इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस—प्रशासन की टीम पर फायरिंग भी शुरू कर दी। मामला बिगड़ता देख जख्मी सीओ व अन्य जवानों को लेकर बीडीओ व थानाध्यक्ष किसी तरह जान बचाकर वहां से निकले। इसबीच उन्मादी भीड़ ने प्रशासन की एक गाड़ी को क्षतिग्रस्त कर तालाब में धकेल दिया। मधुबनी एसपी ने बताया कि थानाध्यक्ष को मस्जिद में भीड़ और बाहरी लोगों के होने की सूचना मिली थी। इसपर जब पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की टीम पहुंची तो ग्रामीणों के एक गुट ने अचानक हमला बोल दिया। तबलीगी मरकज से लौटे लोग छिपे हैं मस्जिद में पुलिस ने इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज कर हमलावरों की पहचान शुरू कर दी है। झंझारपुर डीएसपी ने पुलिस टीम पर फायरिंग की पुष्टि करते हुए कहा कि मौके पर भारी पुलिस फोर्स भेजी गई है। हर हाल में लॉकडाउन और तबलीगी लोगों की खोज की जाएगी और उन्हें क्वारंटीन किया जाएगा। पुलिस को मस्जिद में जमात में कई लोगों के छिपे होने की सूचना मिली थी। विदेश की यात्रा से लौटे लोगों के भी जमात में शामिल होने की खबर है। बताया जाता है कि जब मस्जिद पहुंचे अधिकारियों ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग बनाने को कहा तो उन्होंने आदेश मानने से इनकार कर दिया। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई शुरू की तो छतों से पत्थरबाजी शुरू हो गई।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...