जमशेदपुर : लॉकडाउन में अपनों ने छोड़ा, आधी रात को बुजुर्ग महिला को घर से निकाला - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 1 अप्रैल 2020

जमशेदपुर : लॉकडाउन में अपनों ने छोड़ा, आधी रात को बुजुर्ग महिला को घर से निकाला

देश मे कोरोना को लेकर लॉकडाउन है. घर से निकलना माना है. वहीं समाज में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो मानवता को शर्मसार करते है. जमशेदपुर में एक परिवार ने बुजुर्ग महिला को घर से बेघर कर दिया, उसे पुलिस की मदद से दूसरे रिश्तेदार के घर पहुंचाया गया है.
old-remove-from-home-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) : शहर में मानवता को शर्मसार करने का मामला सामने आया है. यहां एक बुजुर्ग महिला को उसके घरवालों ने आधी रात को घर से निकाल दिया. जानकारी के अनुसार शहर के जुगसलाई क्षेत्र में आधी रात के वक्त सड़क किनारे पुलिस को अकेली बैठी एक बुजुर्ग महिला दिखाई दी. पुलिस ने उससे इस समय बाहर होने का कारण पूछा. बुजुर्ग महिला ने बताया कि उसके रिश्तेदारों ने उसे धक्का मारकर घर से निकाल दिया है. बाद में पुलिस ने दूसरे जिले में रह रहे उसके भतीजा के पास पहुंचाया गया. दरअसल पुलिस को सूचना मिली कि जुगसलाई क्षेत्र में गुरुद्वारा के पास सड़क किनारे एक बुजुर्ग महिला अकेली बैठी है. इस सूचना पर पुलिस वहां पहुंची और बुजुर्ग महिला से बात कर जानकारी ली. 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला ऊंची आवाज में सुनती है जिसके कारण पुलिस को पूछताछ में काफी वक्त लगा. बुजुर्ग महिला ने बताया है कि उसके रिश्तेदारों ने उसे घर से धक्का मारकर निकाल दिया है और किसी के जरिये यहां छोड़ दिया गया है. महिला ने पुलिस को एक डायरी दी है जिसमें उसके रिश्तेदारों के नंबर लिखे हुए थे. जिस रिश्तेदार ने बुजुर्ग महिला को घर से निकाला था उसका भी नंबर डायरी में था. पुलिस उस नंबर पर संपर्क साधा तो जवाब मिला हां मैं उस बुजुर्ग महिला को जानती हूं कृपया उन्हें यहां लेकर ना आये मैं उनकी दूर की रिश्तेदार हूं. पुलिस समझाती रही, लेकिन जवाब नही मिला. इधर पुलिस ने जब दूसरे नंबर पर संपर्क साधा तो पता चला कि वो बुजुर्ग महिला का भतीजा है, जो आदित्यपुर में रहता है पुलिस ने जब पूरी बात की जानकारी दी तब जवाब मिला आप जैसा समझे करें. भतीजे के तैयार होने पर पुलिस बुजुर्ग महिला को अपने वाहन में बैठाकर उसे आदित्यपुर भतीजे के घर पहुंचाया. पूरे मामले में पुलिस अधिकारी जगत पाल माझी ने बताया है कि बुजुर्ग महिला को बागबेड़ा में रहने वाले उसके रिश्तेदारों ने अपने साथ रखने से मना कर दिया बताया गया कि वो दूर के रिश्तेदार हैं, जबकि महिला के भतीजा का पता लगाया गया जो आदित्यपुर का रहने वाला है. उसके पास महिला को पहुंचाया जा रहा है.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...