सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 30 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 30 अप्रैल 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 30 अप्रैल

जिला स्तरीय सकंट प्रबंधन समूह की बैठक संपन्न

sehore news
गुरुवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता की अध्यक्षता में जनप्रतिनिधियों एवं धर्मगुरुओं की उपस्थिति में जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह की बैठक आयोजित की गई।   जिले में अभी तक एक भी कोरोना संक्रमित मरीज न पाए जाने की स्थिति में जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह द्वारा आने वाले समय में भी इसी प्रकार जिले को कोरोना संक्रमण से मुक्त रखने के संबंध में बैठक में चर्चा की गई। इसके साथ ही कुछ अन्य व्यवसायों को भी सशर्त खोलने की स्वीकृति देने पर भी विचार विमर्श किया गया। आने वाले ग्रीष्मकालीन मौसम में मुख्यत: ग्रामीण क्षेत्रों में उत्पन्न होने वाले पेयजल संकट से निपटने के लिए नये बोर लगाने, प्राकृतिक जल स्त्रोतों को सुरक्षित रखने, तालाबों के गहरीकरण और ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित योजनाओं को सुचारु रखने की दिशा में किए जाने वाले आवश्यक उपायों पर भी चर्चा की गई और उपस्थित जनप्रतिनिधियों से सलाह भी ली गई। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री शशीन्द्र चौहान, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा, सीहोर विधायक श्री सुदेश राय, विधायक इछावर श्री करण सिंह वर्मा, विधायक आष्टा श्री रघुनाथ सिंह मालवीय, नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती अमीता अरोरा, समाजसेवी श्री अखिलेश राय, श्री रवि मालवीय, श्री रघुनाथ सिंह भाटी सहित धर्मगुरु एवं अन्य महत्वपूर्ण सदस्य उपस्थित थे।

कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना में ऊर्जा विभाग के कर्मी भी शामिल

राज्य शासन द्वारा कोरोना संक्रमण के बचाव कार्य में लगे अधिकारियों एवं कर्मचारियों के लिए प्रारंभ की गई कोविड -19 योद्धा कल्याण योजना के अंतर्गत शासन के स्वामित्व वाली ऊर्जा विभाग की कंपनियों के नियमित, संविदा और आउट सोर्स वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों को भी इस योजना के अंतर्गत पात्र घोषित किया है।

अभी तक कुल 30889 लोगों की स्क्रीनिंग की गई आज तक कुल 176 रिर्पोट निगेटिव आई

sehore news
स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा मैदानी स्तर पर ग्राम एवं शहरी वार्डो में निरंतर घर-घर सर्वे कर विदेश से सीहोर जिले में लौटे तथा अन्य जिलों व राज्यों से व्यक्तियों की खोजबीन की जा रही है। पिछले 24 घंटे के दौरान जिले में अन्य राज्यों व अन्य जिलों से आए हुए करीब 290 व्यक्तियों की पहचान व पता लगाकर उनकी तत्काल स्क्रीनिंग की गई तथा उन्हें होम क्वारेंटाईन किया गया है। सीहोर जिले में अन्य जिलों अथवा राज्यों से लौटे हुए यात्रियों की संख्या अब तक कुल 30889 है। उन्हें होम कोरेंटाईन से संबंधित गाईड लाईन की जानकारी प्रदान कर सख्त हिदायत दी गई है कि होम कोरेंटाइन गाइड लाइन का कड़ाई से पालन करेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान 290 ऐसे व्यक्तियों की पहचान की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे इन सभी व्यक्तियों की तत्काल स्क्रीनिंग कर इन्हें 30 अप्रैल को ही होम कोरेंटाईन कर दिया गया है जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 30889 है। डॉ.डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए। पिछले 24 घंटों में होकोंरेटाईन की अवधि से 205 लोग बाहर आ चुके हैं जबकि अब तक कुल 24862 व्यक्तियों का होम कोरेंटाइन पूर्ण किया जा चुका है। जिले से अब तक कुल 217 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 176 की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। बुधवार को 8 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए। कुल 41 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। आज की स्थिति में हास्पिटल आईसोलेशन में भर्ती मरीजों की संख्या, कोरोना संक्रमण पाजीटिव मरीजों की संख्या शून्य है। वहीं विदेश से आए यात्री जो गृह जिला या निवासरत जिला में वापस नहीं आए उनकी संख्या 48 है। विभाग की ओर से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर 7247704181 है इस नंबर पर बाहर से बाहर से आए हुए व्यक्तियों की जानकारी 24 घंटे दी जा सकती है। वहीं कलेक्ट्रेट कार्यालय में भी 24 घंटे के लिए काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है इस नंबर पर संपर्क कर कोविड-19 के संबंध में किसी प्रकार की सलाह ली जा सकती है 24 घंटे संचालित उक्त काल सेंटर में चिकित्सा अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है जिनके द्वारा विदेश, अन्य राज्यों व जिलों से आकर होम कोरेंटाइन किए गए व्यक्तियों को फोनकर  प्रतिदिन फीडबैक लिया जाता है तथा इसकी जानकारी जिला स्तरीय नोडल अधिकारी, संबंधित ब्लाक मेडिकल आफिसर को तत्काल दी जाती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसिन सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-401259 है यहां पर टेलीमेडिसिन के संबध में उचित सलाह ली जा सकती है।

कोरोना संक्रमण से बचने पुलिस एनाउंसमेंट कर लोगों को दे रही है समझाइश
शहर के प्रत्येक क्षेत्र में जाकर दे रहे जागरूकता का संदेश
वैश्विक आपदा जो प्रदेश के विभिन्न शहरों में भी अपनी दस्तक दे चुकी है जो कोरोना संक्रमण से आम आदमी को इससे ग्रसित कर रहा है।  वहीं जिला और पुलिस प्रशासन के साथ साथ स्वास्थ्य दलों द्वारा भी निरंतर अपनी सेवाओं से इस आपदा को नियंत्रण में करने मानव सेवा, समर्पण और त्याग से इस पर विजय पाने संकल्पित है। जिले में जगह-जगह बैरीकेटिंग कर आमजनों को संक्रमण से रोकने पुलिस मुस्तैदी से कार्य कर रही है। इसके साथ ही स्वास्थ्य दलों द्वारा संक्रमित व्यक्तियों की पहचान करने हेतु थर्मल स्क्रीनिंग और सघन जांच की जा रही है। नगर पालिका भी अपनी जिम्मेदारियों को समझकर साफ-सफाई सैनिटाइजेशन का कार्य व्यापक स्तर पर कर रहा है। इसी क्रम में पुलिस प्रशासन द्वारा भी विभिन्न क्षेत्रों में निरंतर कड़ी धूप में आम लोगों को समझाइश देने एनाउंसमेंट के साथ-साथ गाने गाकर जागरूकता का संदेश दे रही है। लोगों को समझाइश देने के अलावा पुलिस सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करने और कोरोना से जंग जीतने सभी से आवाहन भी कर रही हैं। यह पुलिस जवान दिन हो या रात अपनी सेवाएं मानव सेवा में लगा रहे हैं ताकि हर एक व्यक्ति को इस कोरोना संक्रमण से बचाया जा सके। मानव सेवा के परिणाम अब सार्थक होने लगे है लोग अब समझने लगे है कि सोशल डिस्टेंसिंग का महत्व क्या होता है और इस संक्रमण से कैसे बचा वह सकता है पुलिस द्वारा सभी वरिष्ठ, प्रबुद्धजन और शहर के नागरिकों को सुझाव भी दिए जा रहे हैं कि वह घर में सुरक्षित रहें। बिना मास्क के कहीं भी ना निकले और अत्यंत और अति आवश्यक कार्य पर ही में घर से बाहर निकले।

ग्रीन श्रेणी के सभी जिलों में प्रारंभ कराये जायेंगे कार्य

प्रदेश के समस्त ग्रीन श्रेणी के जिलों में यथाशीघ्र कार्य प्रारंभ करवा कर कार्यों को पूर्ण कराया जाने के साथ ही मजदूरों को आवश्यक काम की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जायेगी। प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास श्री संजय दुबे ने सभी कार्यक्रम अधिकारियों को यह निर्देश जारी किये हैं। निर्देशों में कहा गया है कि ग्रीन श्रेणी के जिलों के अलावा आरेंज श्रेणी के जिलों में एवं जहाँ कंटनेमेंट क्षेत्र नहीं हैं, वहाँ पर भी सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य सावधानी रखते हुए कार्य प्रारंभ करवाए जायें।

सेवानिवृत्त हो रहे अधिकारियों-कर्मचारियों को संविदा नियुक्ति

राज्य शासन ने निर्णय लिया है कि कोविड-19 के विरुद्ध अभियान को ध्यान में रखते हुए शासकीय विभागों तथा उनके अंतर्गत गठित निगम/मंडल/सार्वजनिक उपक्रमों तथा स्थानीय निकायों के 31 मार्च, 2020 को सेवानिवृत्त हुए अधिकारियों-कर्मचारियों को 3 माह की संविदा नियुक्ति पर आवश्यकतानुसार निरंतर रखे जाने के अधिकार प्रत्यायोजित किये जाएंगे। अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन श्री केके सिंह ने समस्त अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव और सचिव तथा पुलिस महानिदेशक, समस्त विभागाध्यक्ष, संभागीय आयुक्त और जिला कलेक्टर्स को पत्र भेजकर कहा है कि यह आदेश 30 अप्रैल, 2020 को सेवानिवृत्त होने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों पर भी नियत प्रक्रिया अनुसार लागू होगा। श्री केके सिंह ने इस संबंध में कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं।

बाहर फँसे प्रदेश के लोगों के लिए जारी होगा ई-पास

प्रदेश में लॉकडाउन के कारण प्रदेश के नागरिक अन्य राज्यों तथा अन्य प्रदेशों के नागरिक बड़ी संख्या में मध्यप्रदेश में फँसे हुए है। राज्य शासन ने ऐसे लोगों के आवागमन के लिए ई-पास की सुविधा देने का निर्णय लिया है। यह सुविधा भोपाल, इंदौर तथा उज्जैन जिलों में लागू नहीं होगी। इन जिलों में पारिवारिक सदस्यों की मृत्यु, चिकित्सकीय आकस्मिकता अथवा विशेष परिस्थितियों में पूर्ववत अनुमतियाँ जारी की जाएंगी। जिलों में लॉकडाउन के कारण रुके हुए प्रभावित लोग यदि अपने संसाधनों से वापस जाना चाहते है, तो वे अपना आवेदन  mapit.gov.in/covid-19  पर प्रस्तुत कर सकते हैं। संबंधित जिलों के द्वारा ई-पास जारी किया जायेगा। प्रदेश के बाहर रुके लोग अगर अपने संसाधन से प्रदेश में आना चाहते हैं, तो वे भी इस पोर्टल पर आवेदन कर सकते हैं। वे जिस जिले में वापस आ रहे हैं, उस जिले के अधिकारी द्वारा ई-पास जारी किया जायेगा। दोनों ई-पास जारी करने की प्रक्रिया पूर्ववत जारी पारिवारिक सदस्यों की मृत्यु, परिवार में चिकित्सीय आकस्मिकता के अतिरिक्त होगी। स्टेट कोरोना कंट्रोल रुम के प्रभारी अपर मुख्य सचिव श्री आई.सी.पी. केशरी ने सभी कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर कहा है कि ई-पास जारी करने की सुविधा इंदौर, उज्जैन, भोपाल में लागू नहीं होगी। इसके अतिरिक्त, जिलों के कन्टनमेंट क्षेत्रों से भी आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। प्रदेश में आने वाले व्यक्तियों का रिकार्ड रखा जायेगा तथा उनका आवश्यक स्वास्थ्य परीक्षण भी कराया जाएगा।

मेरा घर मेरी जिंदगी अभियान द्वारा कोरोनावायरस के प्रति लोगों को कर रहे जागरूक

sehore news
शासकीय चंद्रशेखर आजाद अग्रणी महाविद्यालय एवं शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सीहोर में संचालित राष्ट्रीय सेवा योजना के सम्मिलित प्रयास से मेरा घर मेरी जिंदगी अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान में 250 रासेयो स्वयंसेवक अपने घरों में रहकर सोशल मीडिया के माध्यम से पेंटिंग रंगोली एवं स्लोगन के पोस्टर बनाकर कोरोना महामारी से बचाव हेतु लॉक डाउन का पालन करने एवं आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करने के लिए लोगों को जागरूक कर रहे है। जागरूकता अभियान उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य  आर.के.बांगरे के नेतृत्व में एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी देवेंद्र कुमार बरबड़े और देवेंद्र कुमार राय के मार्गदर्शन में संचालित है। अभियान में सक्रिय वरिष्ठ स्वयंसेवक उमेश पंसारी अभिषेक विश्वकर्मा आशीष मेवाड़ा एवं स्वयंसेवक कुंदन वर्मा अजय चंदेल अरविंद नागर भूमिका शिवहरे महिमा सेन विवेक भूमिया व मुस्कान नागर ने सहभागिता कर विशेष योगदान दिया है। राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवक नागरिकों को फोन करके भी कोरोना महामारी के प्रति जागरुकता अभियान को आगे बढ़ा रहे हैं अभियान की सफलता हेतु राष्ट्रीय सेवा योजना के जिला संगठक राजेश बकोरिया जी एवं जिला शिक्षा अधिकारी  एसपीएस बिसेन जी ने कार्यक्रम अधिकारी एवं स्वयंसेवकों की सराहना कर  बधाई दी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...