शेयर बाजार में बिकवाली जारी, सेंसेक्स 310 अंक और निफ्टी 69 अंक टूटा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 16 अप्रैल 2020

शेयर बाजार में बिकवाली जारी, सेंसेक्स 310 अंक और निफ्टी 69 अंक टूटा

sensex-continue-to-faling
मुंबई 15 अप्रैल, कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 21 दिवसीय राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को तीन मई तक बढ़ाये जाने और इस वायरस के कारण वैश्विक स्तर पर महामंदी आने की आशंका के दबाव में बुधवार को शेयर बाजार में बिकवाली जारी रही जिससे बीएसई का सेंसेक्स 310 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 69 अंक टूट गया। हालांकि छोटी और मझौली कंपनियों में हुयी लिवाली से इस गिरावट को काफी हद तक नियंत्रित करने का काम किया। बीएसई का सेंसेक्स 310.21 अंक टूटकर 30379.81 अंक पर और एनएसई का निफ्टी 68.55 अंक फिसलकर 8925.30 अंक पर रहा। हालांकि इस दौरान छोटी और मझौली कंपनियों में लिवाली देखी गयी जिससे बीएसई का मिडकैप 1.32 प्रतिशत चढ़कर 11416.50 अंक पर और स्मॉलकैप 1.17 प्रतिशत बढ़कर 10366.53 अंक पर रहा। बीएसई में गिरावट में रहने वाले प्रमुख समूहों में बैंकिंग 2.49 प्रतिशत, वित्त 2.38 प्रतिशत, एनर्जी 2.27 प्रतिशत, सीडी 1.15 प्रतिशत और ऑटो 1.63 प्रतिशत शामिल है। बढ़त में रहने वाले समूहों में एफएमसीजी 4.33 प्रतिशत, इंडस्ट्रियल 1.12 प्रतिशत, रियल्टी 1.92 प्रतिशत शामिल है। बीएसई में कुल 2570 कंपनियों में कारोबार हुआ जिसमें से 1436 बढ़त में और 957 गिरावट में रहे जबकि 177 में कोई बदलाव नहीं हुआ। कोरोना वायरस के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था के वर्ष 1930 के बाद की सबसे बड़ी मंदी की चपेट में आने की आशंका का दबाव वैश्विक बाजार पर दिखा। हालांकि अमेरिकी बाजार हरे निशान में खुले लेकिन यूरोपीय बाजार और अधिकांश एशियाई बाजार लाल निशान में रहे। ब्रिटेन का एफटीएसई 2.36 प्रतिशत, जर्मनी का डैक्स 2.11 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 1.19 प्रतिशत, चीन का शंघाई कंपोजिट 0.57 प्रतिशत और जापान का निक्केई 0.45 प्रतिशत की गिरावट में रहा जबकि दक्षिण कोरिया का कोस्पी 1.72 प्रतिशत बढ़ गया।

कोई टिप्पणी नहीं: