ग्रामीण एसपी ने मुख्यमंत्री दीदी किचेन का किया निरीक्षण, सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन का दिए निर्देश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 7 अप्रैल 2020

ग्रामीण एसपी ने मुख्यमंत्री दीदी किचेन का किया निरीक्षण, सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन का दिए निर्देश

sp-visit-didi-kitchen-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) राज्य सरकार के निदेश के आलोक में जिला प्रशासन द्वारा जेएसएलपीएस के माध्यम से मुख्यमंत्री दीदी किचेन का संचालन पंचायत स्तर पर किया जा रहा है। पोटका प्रखंड के जुड़ी पंचायत अंतर्गत तिरिंग गांव मे संचालित किये जा रहे मुख्यमंत्री दीदी किचन का निरीक्षण आज पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) पियूष पांडेय द्वारा  किया गया। इस दौरान पोटका के प्रखंड विकास पदाधिकारी कपिल कुमार एवं थाना प्रभारी अशोक राम भी मौजूद थे। इस दौरान ग्रामीण एसपी ने कितने लोगों को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है इसकी जानकारी ली तथा किचन का संचालन कर रही आजीविका समूह की महिलाओं को साफ-सफाई का ध्यान रखते हुए सोशड डिस्टेसिंग के अनुपालन करने का भी निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 14 अप्रैल तक लॉक डाउन है। इस दौरान किसी को भूखा नहीं रहना पड़े, जिसको लेकर झारखंड सरकार की ओर से प्रत्येक पंचायत में एक-एक मुख्यमंत्री दीदी किचन संचालित किया जा रहा है, जिसके माध्यम से निराश्रित एवं जरुरतमंद लोगों को प्रतिदिन दो वक्त का भोजन कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन के दौरान पुलिस-प्रशासन की ओर से भी भोजना का वितरण लगातार क्षेत्र मे किया जा रहा है। कहीं भी भोजन की कमी नहीं होने दी जायेगी। लोगों से अपील है कि वह अनावश्यक घर से बाहर नहीं निकलें तथा घर में रहकर लॉक डाउन का अनुपालन करें। इस दौरान एक दूसरे के बीच सोशल डिस्टेसिंग का भी ख्याल रखें। ग्रामीण एसपी के निरीक्षण के अवसर पर पोटका थाना के एएसआई अभय शर्मा, वीरेंद्र कुमार के अलावा जेएसएलपीएस के वीओ से जुड़ी कमलाबती सरदार, सुलोचना सरदार तथा अन्य उपस्थित थे ।

कोई टिप्पणी नहीं: