जमशेदपुरः पुलिस के हत्थे चढ़े गैंगस्टर सुधीर दुबे के साथी, बंगाल जाने की फिराक में थे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 3 मई 2020

जमशेदपुरः पुलिस के हत्थे चढ़े गैंगस्टर सुधीर दुबे के साथी, बंगाल जाने की फिराक में थे

जमशेदपुर के कुख्यात बदमाश सुधीर दुबे के 6 साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इस गैंग ने पुलिस की नींद उड़ा रखी थी. धालभूमगढ़ में अपराधियों को पकड़ा गया.
gangster-arrest-jamshedpur
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) शहर में पिछले कुछ समय से आतंक का पर्याय बने एक खूंखार गिरोह के सदस्यों को पुलिस ने दबोचा है. इस गिरोह ने शहर की शांति व्यवस्था को बिगाड़ रखी है. इनकी गिरफ्तारी से न केवल आम जनता बल्कि प्रशासन ने भी राहत की सांस ली है. जानकारी के अनुसार पुलिस ने 24 घंटे के भीतर गैंगस्टर सुधीर दुबे गिरोह के 6 सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है कि बुधवार की देर रात सीतारामडेरा थाना क्षेत्र के स्लैग रोड में दो अपराधियों के बीच खूनी खेल खेला गया था । जमशेदपुर की जिला पुलिस ने गैंगवार के 24 घंटे के भीतर अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार किए गए अपराधियों में सुधीर दुबे के मुख्य साथी पंकज दुबे व अन्य सहयोगी भी शामिल हैं. जानकारी के मुताबिक बुधवार की देर रात गैंगस्टर अखिलेश सिंह के मुख्य साथी कन्हैया सिंह के साथ गैंगस्टर सुधीर दुबे के बीच गैंगवार हुआ. इस घटना के बाद सुधीर दुबे गैंग के मुख्य साथी पूर्वी सिंहभूम के धालभूमगढ़ से पश्चिम बंगाल जाने की फिराक में थे, तभी धालभूमगढ़ में अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पकड़े गए अपराधियों के पास से 8 खोखा, तीन लग्जरी गाड़ियां भी बरामद की गईं हैं. पुलिस की जांच अभी भी जारी है. कई और गैंगस्टर के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है. लाशगैंगस्टर कन्हैया सिंह और सुधीर दुबे द्वारा सीतारामडेरा थाना में अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. पुलिस के सामने सुधीर दुबे के मुख्य साथी ने बताया है कि पहले गोली कन्हैया सिंह द्वारा गोली चलाई गई थी, जिसके बाद पंकज दुबे द्वारा गोली चलाई गई. इधर टाटा मुख्य अस्पताल में इलाज करा रहे कन्हैया सिंह के मुख्य साथियों को भी इलाज कराने के बाद हवालात जाना पड़ेगा. फ़िलहाल पुलिस कई अन्य बिंदुओं पर भी जांच कर रही है.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...