झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 4 मई 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 मई

पेदल चलकर जंगल के रास्ते गुजतरात से पारा पहुंचे उत्तर प्रदेश के 33 मजदूर
नगरवासीयो ने सभी का नाश्ता के साथ थर्मल स्के्रनिग करवाया
jhabua news
पारा। शनिवार कि शाम को जब नगरवासीयो समेत पुलिस प्रशासन को खबर लगी कि पारा नगर के बायपास से बहुत सारे लोगो का हजुम पेदल चल कर कही जा रहा हे। तत्काल सभी लोगो को बोरी रोड स्थित चालनीमाता मंदिर पर रोक कर उनकी सहायता की। प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार कि शाम को पंच बजे के लगभग पारा नगर के बोरी रोड के आसपास के लोगो ने बडी संख्या मे अनजाने लोगो को पेदल चल कर जाते देखा । जिसकी सुचना पुलिस चैकि पारा को दी। तत्काल चोकि प्रभारी केसरसिह पांडव व रमेश कोली बोरी रोड पर पहुचे व पेदल जा रहे लोगो को चालनीमाता मंदिर पर रांेक कर उनसे जानकारी ली। बताया जाता हे कि करिब 33 मजदुर गुजरात से जंगल के रास्ते पेदल चल कर उतरप्रदेश के फतेहपुर ईटावा व बांदा नगर जा रहे थे। जोकि शनिवार शाम पारा पहुंचे। पुलिस प्रशासन ने पारा के नगर के नागरिकों के सहयोग से सभी पहले नाश्ता करवाया।  बाद मे सभी मजदूरों की नामजद सम्पूर्ण जानकारी लेकर सामुदायीक स्वास्थ्य केन्द्र पारा पर पदस्थ चिकित्सक डॉ केएस डोडवा द्वारा सभी की प्रारंभिक जांच के साथ थर्मल स्के्रनिग करवाई गई व इस बाबत वरिष्ठ अधिकारियों से बात करने के बाद इन सभी मजदूरों को राजगढ़ के रास्ते हाइवे पर जनसहयोग से भिजवाया।

कुएं में डूबने से 7 वर्षीय लड़की की हुई मौत बिना मुंडेर के कुए मे पानी पिने उतरी थी

jhabua news
पारा। यहा से करिब 6 किलोमीटर दुर ग्राम दौलतपुरा के वास्केल फलिया मे रविवार कि दोपहर को एक 7 वर्षीय लडकी की कुए मे पेर फिसल कर डुबने से मोत होगई। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम दोलतपुरा निवासी मालसिंह वास्केल की 2 लड़कियां जिसमे उर्मिला 7 वर्ष तथा बड़ी रेशम 10 वर्ष अपने खेत पर भिंडी की सब्जियों की रखवाली करने गई थी। थोड़ी देर के बाद उर्मिला को प्यास लगी तो वह अपने ही खेत मे बने बिना मुंडेर के कुएं में पानी पीने उतरी सम्भवतः तभी उसका पैर फिसल गया। थोड़ी देर बाद जब पिता खेत मे पानी देने के लिए मोटर चालू करने पहुंचा व बड़ी लडकी से उर्मिला के बारे में पूछा तब उसने बताया कि उसे भी जानकारी नहीं वो यहीं - कहीं होगी। तब मालसिंह कुएं पर पहुंचा और देखा तो कुएं में उसे कुछ हलचल दिखाई दी। मालसिंह स्वयं ने उसकी बेटी को कुए से बाहर निकाल कर अपने पहले भतीजे को सूचना दी तब तक उर्मिला की मृत्यु हो चुकी थी। उक्त घटना की खबर फैलते ही ग्रामीणों सहित सरपंचपति दिलीप किराड़े व गांव के तडवी पटेल आदि मालसिह के कुए पहुंच कर पुलिस को खबर दी गई। पारा पुलिस चैकी प्रभारी केशर सिंह पांडव ने बताया कि मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए सामुदायीक स्वास्थ्य केन्द्र पारा पर भेजा गया है।

कोरोना वायरस से बचाव हेतु झाबुआ के वार्ड क्र. 18 में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं ने गरीब वर्ग के लोगों को किए निःषुल्क मास्क वितरित
बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं और बच्चों से अपने घरों पर रहने हेतु अनुरोध किया, वार्ड पार्षद द्वारा प्रदान किया गया महत्वपूर्ण सहयोग
jhabua news
झाबुआ। शहर के वार्ड क्र. 18 में कोरोना वायरस से रोकथाम हेतु वार्ड की आंगनवाड़ी केंद्र की कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं ने वार्ड में भ्रमण कर निर्धन वर्ग के लोगांे को मास्क का वितरण किया। इस कार्य में पूर्ण सहयोग वार्ड के युवा एवं सक्रिय पार्षद नरेन्द्र राठौरिया ने प्रदान किया। इस दौरान आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं ने वार्ड के रहवासियों से अपने घरों पर रहने, विषेष रूप में अपने-अपने घरों में बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं और बच्चों का विषेष ध्यान रखने हेतु अपील की।  जानकारी देते हुए वार्ड पार्षद श्री राठौरिया ने बताया कि उनके वार्ड में वर्तमान में 2-3 आंगनवाड़ी केंद्र है। जिसमें सिद्धेष्वर काॅलोनी स्थित आंगनवाड़ी कंेद्र की कार्यकर्ता हर्षा पीठवा एवं सहायिका रंजना वास्केल ने इन दिनों देषभर में चल रहे कोरोना वायरस के प्रकोप से अपने वार्ड के रहवासियों की सुरक्षा के लिए घर पर ही कपड़े की व्यवस्था कर टेलरिंग कर करीब 200 मास्क तैयार किए है। जिनके निःषुल्क वितरण का कार्य सिद्धेष्वर काॅलोनी में हर्षा पीठवा एवं रंजना वास्केल द्वारा वार्ड पार्षद श्री राठौरिया के सहयोग से पिछले 3-4 दिनांे से सत्त किया जा रहा है। दोनो सेवाभावी कार्यकर्ता एवं सहायिका ने इस दौरान बताया कि यदि वार्ड या क्षेत्र में ओर किसी भी व्यक्ति को मास्क की आवष्यकता होगी, तो निःषुल्क रूप से वह अपने घरों पर बनाकर वितरण कार्य करेंगी। 

अयोध्या बस्ती में भी किया गया मास्क का वितरण
इसी प्रकार अयोध्या बस्ती की आंगनवाड़ी केंद्र की कार्यकर्ता मेघा ऊंटवाल एवं सहायिका सुषीला पचाया भी पिछले 3-4 दिनों से सत्त अयोध्या बस्ती में निःषुल्क रूप से वितरण का कार्य कर रहीं है। उक्त दोनो सेवाभावी कार्यकर्ता एवं सहायिका भी अपने घरों पर कपड़े से सिलाई मषीन से मास्क तैयार कर वितरण कर रहंी हंै।

घरों में ही रहने हेतु की जा रहंी अपील
आंगनवाड़ी केंद्रों की ओर से वार्ड के लोगों से कहा जा रहा है कि आप सभी सुरक्षा की दृष्टि से अपने घरों पर ही रहे। कोरोना वायरस बिमारी जानलेवा और खतरनाक हेै। घरों पर रहने के दौरान हम अपने हाथांें को  बार-बार साबुन से धोएं। बाहरी किसी भी वस्तु को हाथ लगाने के बाद सेनेटाईजर का उपयोग आवष्यक रूप से करे। घरों पर बुजुर्गों, गर्भवती महिलाआंे और बच्चों के पोषण आहार एवं स्वास्थ्य पर विषेष ध्यान रखा जाए। वार्ड पार्षद श्री राठौरिया ने बताया कि वार्ड में सफाई रखने में वे उन्हें पूर्ण सहयोग प्रदान करे। वार्ड में सेनेटाईजेषन के साथ सड़कों और नाले-नालियो की सफाई का कार्य भी नियमित चल रहा है और आगामी दिनों मंे भी सत्त जारी रखा जाएगा। इस कार्य में विषेष सहयोग वार्ड के समर्पित कार्यकर्ताओं में मुकेष सतोगिया, यषवंत चैहान, निक्की वर्मा, रवि पंचाल, मनोज सालवी आदि द्वारा प्रदान किया जा रहा है।

लाॅक डाउन के चलते गोपाल मंदिर का स्थापना दिवस समारोहन नही मना

jhabua news
झाबुआ । गोपाल मंदिर का 50 वा स्थापना दिवस मोहिनी एकादशी के अवसर पर मनाया गया । 3 मई को प्रातः 9 बजे से मंदिर में जाप किया पाद पूजन की गई  भजन गाए गए एवं परम पूज्य रामशंकर जानी परम पूज्य कमला जानी परम पूज्य घनश्याम जानी परम पूज्य गोपाल प्रभु आदि के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलित किया गया एवं विधिवत पूजा अर्चना कर महा आरती की गई एवं भोग लगाया  मंदिर को आकर्षक रूप से सजाया गया एवं रंगोली बनाई गई गोपाल मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष पन्ना लाल परमार एवं सचिव यशवंत पवार ने जानकारी देते हुए बताया कि गोपाल मंदिर ट्रस्ट के सदस्य गणों द्वारा सर्वसम्मति से निर्णय  लिया था कि पूरे देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप चलते, पूरे देश में लॉक डॉउन 17मई तक के लिए लागू है। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी करना जरूरी हो गया है। इस कारण इस वर्ष गोपाल मंदिर का स्थापना दिवस समारोह आयोजित नही किया  जाने का  ट्रस्ट ने निर्णय लिया था उसी अनुसार समस्त गुरु भक्तों ने दिनांक 3 मई को मोहिनी एकादशी के अवसर पर घर में ही रह कर विधि विधान से पूजा अर्चना की एवं 1 मई 2 मई एवं 3 मई की शाम को घर के बाहर दीपक जला कर एवं आंगन में रंगोली बनाकर स्थापना दिवस मनाया गया तथा लॉक डॉउन का शत प्रतिशत पालन किया गया गुरु भक्तों द्वारा  घर पर ही शाम 7 से 8 बजे तक जाप किया गया तथा भजन कीर्तन किया। सभी गुरु भक्तों ने अपने परिवार सहित अपने-अपने घर पर अपने गुरु से करोना संक्रमण से मुक्ति के लिए प्रार्थना की । बच्चों एवं युवाओं ने बड़े उत्साह और उमंग के साथ गोपाल मंदिर का स्थापना दिवस मनाया। मंदिर मे आरती पंडित रूपक त्रिवेदी पुजारी द्वारा उतारी गई।  गोपाल मंदिर झाबुआ से जुड़े हुए गुरु भक्तों ने जो झाबुआ से बाहर मध्य प्रदेश गुजरात राजस्थान महाराष्ट्र एवं अन्य स्थानों पर रहते हैं रहते हैं उन्होंने भी अपने घर पर स्थापना दिवस मनाया।

गायत्री शक्तिपीठ काॅलेज मार्ग पर नगरपालिका के सुपर फायटरों का गायत्री मंत्रोच्चार के साथ दुपट्टा पहनाकर एवं पुष्प वर्षा कर किया गया भावभरा स्वागत
शहर मंे सफाई कार्य में उनकी सेवाओं को किया गया नमन 
jhabua news
झाबुआ। शहर के काॅलेज मार्ग स्थित गायत्री शक्तिपीठ पर शहर को कोरोना वायरस से मुक्त रखने के लिए लगातार सेनेटाईजेषन एवं सफाई कार्य मंे लगे नगरपालिका के सुपर फायटरों का गायत्री महामंत्र के मंत्रोच्चार के साथ पुष्प वर्षा कर भव्य एवं आत्मीय स्वागत किया गया। साथ ही इन सुपर हीरों को शांतिकुंज हरिद्वार का दुपट्टा पहनाने के साथ श्रीफल भी प्रदान किया गया। ज्ञातव्य रहे कि इन दिनांें संपूर्ण देष सहित विष्व कोरोना वायरस जैसी जानलेवा और भयावह महामारी से जूझ रहा है। जिसे देखते हुए शांतिकुंज हरिद्वार के आव्हान पर गायत्री शक्तिपीठ काॅलेज मार्ग पर प्रतिदिन गायत्री परिवार के जिला समन्वयक पं. घनष्याम बैरागी के साथ केके शर्मा, प्रकाष डावर, अभिषेक गुप्ता आदि द्वारा प्रातःकाल 1 घंटे यज्ञ किया जा रहा है। जिसमें विषेष रूप से कोरोना वायरस से देष सहित संपूर्ण विष्व को मुक्ति दिलाने के लिए आहूतियां प्रदान की जा रहीं है। इसके साथ ही गायत्री महामंत्र एवं षिव महामृत्युंज महामंत्र का भी सत्त जाप चल रहा है।

नपा के सुपर हीरों का किया गया आत्मीय स्वागत
इसी बीच गायत्री शक्तिपीठ काॅलेज मार्ग पर नगरपालिका के सुपर हीरों देवेन्द्र रमेष बसोड़, जो शहर को कोरोना वायरस से मुक्त रखने के लिए प्रतिदिन संपूर्ण शहर में सेनेटाईजेषन का कार्य करने के साथ नियमित सड़कों, नाले-नालियों, कूड़ा-कचरे के ढ़ेर, सार्वजनिक सुविधा घरों की भी सफाई का कार्य प्राथमिकता से कर रहे है, इनका आत्मीय सम्मान किया गया। सम्मान के क्रम में सर्वप्रथम इन्ेहें शांतिकुंज हरिद्वार का दुपट्टा पहनाकर श्रीफल भेंट किया। वेद माता गायत्रीजी एवं पं. श्री राम शर्मा आचार्य तथा मां भगवतीदेवी शर्मा का चित्र प्रदान किया गया। बाद मंदिर परिसर में गायत्री परिवार के जिला समन्वयक पं. घनष्याम बैरागी ने गायत्री मंत्रोच्चार के साथ इनके सदैव स्वस्थ रहने की कामना करते हुए प्रकाष डावर एवं प्रषांत मल्लिक ने इन पर पुष्प वर्षा कर हौंसला अफजाई किया।

मप्र लघु उद्योग संघ ने मप्र के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर राज्य शासन की अर्थ-व्यवस्था सुचारू करने हेतु सुझाव प्रेषित किए, सुझाव पर विचार कर आवष्यक निर्णय लेने की मांग की

झाबुआ। वर्तमान में चल रहे कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रकोप के कारण पिछले एक माह से अधिक समय से संपूर्ण मप्र में लाॅकडाउन चल रहा है। जिसके कारण राज्य सरकार पर बड़ा भारी आर्थिक बोझ आ गया है तथा आगे भी ओर अधिक संभावना है। इस बड़े आर्थिक बोझ को घटाने के लिए और अपने ही संसाधनों से प्रदेष की आर्थिक स्थिति मजबूत हो, इसलिए मप्र लघु उद्योग संघ द्वारा प्रदेष शासन को पत्र लिखकर कुछ महत्वपूर्ण सुझाव प्रेषित किए गए है।  जानकारी देते हुए मप्र लघु उद्योग संघ की प्रदेष कार्यसमिति के सदस्य यषवंत भंडारी ने बताया कि संघ के प्रदेष महासचिव विपिनकुमार जैन (भोपाल) ने प्रदेष के मुख्यमंत्री षिवराजसिंह चैहान को पत्र लिखकर बताया कि वर्तमान में लाॅकडाउन के कारण प्रदेष के आय के स्त्रोतो में एकदम कमी आ गई है, वहीं व्यय (खर्च) अत्यधिक रूप से बढ़ गए है। स्वास्थ सेवाओं से लेकर गरीबी रेखा से नीचे जीवन व्यतीत करने वाले गरीबों के साथ दिहाड़ी मजदूर, खेतीहारी मजदूर, निर्माण कार्य में लगे मजदूर एवं प्रवासी प्रांतों के मजूदरों के निर्वाह की व्यवस्था करना, किसानों की फसल की उत्पादकता को खरीदने के लिए प्रदेष को अत्यधिक धनराषि की आवष्यकता एवं संसाधनों से आय बढ़ाने का एकमात्र विकल्प यहीं है। इसके लिए शासन को इस ओर कार्य करने हेतु विस्तृत कार्य योजना तैयार कर कार्य रूप में विभिन्न बदलाव करने की आवष्यकता है।

फीजूल खर्चों में की जाए कटोती
प्रषासनिक सुधार के अंतर्गत प्रषासनिक कार्यों में कटोती, वर्तमान में जो प्रषासनिक व्यवस्था है, जिसमें 25 प्रतिषत प्रत्यक्ष रूप से सीधा एवं 10 प्रतिषत परोक्ष रूप में अनावष्यक खर्च हो रहा है, अतः शासन अपने प्रषासनिक व्यय में 35 प्रतिषत की कटोती बहुत ही आसानी से कर सकता है। कर्मचारियों में पुनः कार्य विभाजन, ऐसा प्रायः देखा जा रहा है कि कई विभागों में अनावष्यक रूप से कर्मचारियों की भर्ती है, जिनके पास बहुत ही कम कार्य है, उन्हें विभाग के अन्य कार्य करने की भी जिम्मेदारी सौंपनी चाहिए। साथ ही कर्मचारियों द्वारा किए गए कार्यों की अन्य विभाग के अधिकारियों द्वारा समीक्षा की जाना चाहिए।

निर्माण कार्य, सामग्री खरीदी का विभागीय अंकेक्षण प्रतिष्ठित राष्ट्रीय एजेंसियों से करवाया जाएं
स्वतंत्र एजेंसी द्वारा अंकेक्षण, प्रदेष में शासकीय विभागों में खरीदी एवं निर्माण कार्य के नाम पर भारी लापरवाही तथा भ्रष्टाचार हो रहे है। जिससे शासन का करोड़ो रूपया व्यर्थ हो रहा है। इसलिए प्रत्येक विभाग के प्रत्येक कार्यों का (विषेषकर निर्माण कार्य-सामग्री खरीदी) का विभागीय अंकेक्षण प्रतिष्ठित राष्ट्रीय एजेंसियों के माध्यम से करवाया जाना चाहिए। जिसमें विभागों में ईमानदारी से काम होगा। कर्मचारियों में अपने उत्तरदायित्व के प्रति जिम्मेदारी भी बढ़ेगी। शासकीय वाहनों के उपयोग में कमी करना, प्रायः यह देखा जाता है कि अधिकांष शासकीय अधिकारी शासकीय वाहनों का जमकर दुरपयोग करते है, यहां तक की अपने निजी काम भी शासकीय वाहनों से करते है, अतः जिस अधिकारी के पास अपना स्वयं का निजी वाहन है, उन्हें शासकीय वाहन की सुविधा नहीं देना चाहिए, उन्हें एक निष्चित वाहन भत्ता जरूर दिया जा सकता है, अभी प्रत्येक जिले में अधिकांषतः जिला अधिकारियों के पास किराये के वाहन है, जिसका प्रत्येक जिले में लाखों रूपयों का भुगतान शासन द्वारा किया जा रहा है, जिस पर रोक लगाई जाए।

भुगतान की व्यवस्था में परिवर्तन किया जाएं
आउट सोर्सिंग के कार्य करवाना, शासन द्वारा जनता को जो विभिन्न सुविधा दी जा रहीं है, उसके कार्य विभागों के स्थान पर अन्य एजेंसी द्वारा करवाया जाना चाहिए, जिसकी शुल्क भी लिया जाना चाहिए, जैसे वर्तमान में पासपोर्ट का कार्य आउट सोर्सिंग के माध्यम से करवाया जा रहा है। अनुपयोगी संपत्तियों का व्यवसायीकरण एवं विक्रय, शासन के पास एवं शासन के अंतर्गत आने वाले कई निगम एवं मंडलों के पास करोड़ों रूपए की संपत्तियां अनपुयोगी होकर बेकार पड़ी है, ऐसी समस्त संपत्तियों को चिन्हित कर जो व्यवसायिक उपयोग में आ सकती है, उनका व्यवसायीकरण के लिए तथा अन्य संपत्तियां या सुविधा अनुपयोगी पड़ी है, उन्हें सार्वजनिक रूप से विलय करने से शासन को अरबो रूपयों की आय प्राप्त हो सकती है। भुगतान की व्यवस्था में परिवर्तन, वर्तमान में शासन यदि चाहे तो 6 माह तक भुगतान की व्यवस्था में परिवर्तन कर सकता है, जैसे कर्मचारियों को प्रतिमाह का वेतन तो दिया जाए, वेतन भत्ते को फिलहाल रोककर बाद में दिया जा सकता है।

लंबित प्रकरणों का निराकरण कर राजस्व को आय पहंुचाई जाए
राजस्व के लंबित प्रकरणों का त्वरित निर्णय, शासन के पास हजारों की तादाद में राजस्व विभाग के प्रकरण लंबित है, जिससे शासन को बहुत बड़ी राजस्व की राषि की हानि हो रहीं है। शासन एक प्राधिकरण या लोक अदालत के माध्यम से इन सभी प्रकरणों का अतिषीघ्र निर्णय करवाएं। जिससे शासन को करोड़ो रूपए के राजस्व की प्राप्ति होगी तथा संबंधित पक्षकार को भी राहत मिलेगी। अनावष्यक निवेष नहीं करे, प्रायः यह देखा गया है कि शासन कई बार कई योजनाओं में अनावष्यक निवेष कर देता है, जबकि बाद में उसकी ना तो उपयोगिता रहती है और ना ही उससे कोई आय प्राप्त होती है। अतः शासन हर जगह व्यवसायिक दृष्टिकोण के बजाय मूलभूत आवष्यकताओं के विकास योजनाओं पर व्यय करे।
बंद पड़ी खदानों को चालू करवाया जाएं पीपीपी मोड पर संचालन, शासन को चाहिए कि वो जिले के प्रमुख चिकित्सालय, महाविद्यालय, पर्यटन केंद्र, आई.टी.आई. विभिन्न प्रषिक्षण कंेद्रों को पी.पी.पी. मोड या जनभागीदारी समिति के माध्यम से संचालित करने की योजनाएं बनाएं तथा इनको संचालित करने के पूरे वित्तीय एवं प्रषासनिक अधिकार भी इन संस्थाओं को प्रदत्त किए जाए। खनिज संपदाओं का दोहन -ः अभी वर्तमान में कुछ तकनीकी कारणों से प्रदेष की कई महत्वूपर्ण खदाने बंद है। शासन अपने स्तर पर तत्काल कार्यवाही कर इन बंद पड़ी खदानों को चालू करे, जिससे शासन को करोड़ो रूपये की आय प्रतिवर्ष प्राप्त हो। अंत में पत्र मंे संघ के प्रदेष महासचिव श्री जैन ने मुख्यमंत्री श्री चैहान एवं शासन के वरिष्ठ अधिकारियों से इन सुझावों पर अवष्य विचार-विर्मष कर निर्णय लेने की मांग की।

जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक मे कई महत्वपूर्ण निर्णय

jhabua news
झाबुआ। जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक रविवार को यहां कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री प्रबल सिपाहा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। इस बैठक में जिला प्रषासन के साथ-साथ जनप्रतिनिधि एवं ख्याति प्राप्त गणमान्य नागरिक को उपस्थिति में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के तहत सुझाव लिये जाकर विचारोपरांत सम्पूर्ण लाॅक डाउन के भारत सरकार की गाइड लाईन के अनुपालन में सर्तों के अधीन आंषिक छूट प्रदान करने का निर्णय लिया गया है। श्री सिपाहा ने बताया की जिले के नगरीय तथा ग्रामीण क्षेत्रों में समस्त दुकाने प्रातः8 बजे से दोपहर 2 बजे तक खोले जाने की अनुमति प्रदान की गई है। थोक सब्जी विक्रय के लिये झाबुआ नगर हेतु सब्जी मण्डी (पोलिटेक्निक कालेज ग्राउण्ड ) में गोले बनाकर सब्जी विक्रेता प्रातः 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक सब्जी विक्रय कर सकेगें। ष्षेष नगरीय क्षेत्रों में अनुविभागीय दण्डाधिकारी द्वारा खेल मैदान का चयन कर सब्जी की दुकानें संचालित करा सकेगें। समस्त आंषिक छूट प्रदाय दुकानें रविवार को पूर्णतः बंद रहेगी। प्रत्येक व्यापारी को अपनी दुकान के आगे नियमानुसार आईल पेंट से गोले बनाकर सोसल डिस्टेंसिंग का स्वयं पालन करावेगें। किसी दुकान पर इसका पालन नहीं करने पर संबंधित व्यापारी एवं ग्राहकों के विरूद्व वैधानिक कार्यवाही की जावेगी। प्रत्येक व्यापारी को अपनी दुकान पर युक्तियुक्त अनुषार सेनेटाईजर रखकर उपभोक्ताओं से उपयोग कराना अनिवार्य होगा। इस बैठक में सांसद श्री जी. एस. डामोर ने कहा कि षहर में प्रातः 8 बजे से 2 बजे तक बाजार खोलने का समय निर्धारित है। आम जनता की सुविधा को देखते हुए सोने चांदी (ज्वेलर्स) की दुकाने भी खोलने की छूट प्रदान किये जाने की आवष्यकता है। श्री डामोर ने आम जनता से अनुरोध किया कि वे कोरोना वायरस से बचने व रोकथाम के लिए मास्क लगाने व सोसल डिस्टेंसिंग रखने तथा नियमों का पालन करें। इस बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री विनीत जैन, थांदला तथा पेटलावद विधान सभा क्षेत्र के विधायक गण, सांसद प्रतिनिधि श्री मनोज अरोडा, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री ओम  षर्मा, अधिकारी गण, नागरिक गण, उपस्थित थे।

4 हजार 971 व्यक्तियों को भोजन प्रदाय

झाबुआ,। कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जिला स्तर से अब तक सर्दी, खांसी के मरीजों के साथ आईसोलेषन वार्ड क्वारेंटाइन केन्द्र एवं बाॅर्डर पर तैनात स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस के लोग, आंगनवाडी एवं आषा कार्यकर्ता के कुल 324 सेम्पल जांच के लिए भेजे गये है। जिनमें से 292 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। जिनमें से एक भी सैम्पल की जांच रिपोर्ट में कोरोना पाॅजिटिव नहीं पाया गया है। इसी प्रकार 14 सेम्पलों की जाॅंच रिपोर्ट आना षेष है। 18 सेम्पल रिजेक्ट हुए है। जिनके सेम्पल पुनः जांच के लिए भेजे जाएगे। जिले में कुल 111 लोगों को कोरेण्टाइन सेन्टर में रखा गया है। ज्ञात हो की जिले में कुल 8 आईसोलेसन वार्ड हैं। 46 क्वारेंटाइन केन्द्र है सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के स्तर पर आर आर टी टीमों की संख्या झाबुआ मुख्यालय पर 2, राणापुर, मेघनगर, थान्दला, तथा पेटलावद में एक-एक और रामा में दो इस प्रकार कुल 8 आर आर टी टीम हैं। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने अवगत कराया कि  रविवार को 4 हजार 971 जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन प्रदाय किया गया है। पुलिस विभाग द्वारा जिले में अब तक कुल 19 व्यक्तियों के खिलाफ एफ आई आर, धारा 151 के तहत 6 प्रकरण तथा 22 व्यक्तियों को अस्थाई जेल में निरूद्ध किया गया।

99834.47 क्विंटल गेंहू का उपार्जन

झाबुआ। जिले में समर्थन मूल्य पर षनिवार तक खरीदी केन्द्रो पर 2 हजार 499 किसानांे से 99834.47 क्विंटल गेंहू का उपार्जन किया गया है। जिले में किसानो को 2 करोड 21 लाख 27 हजार 135 रूपये की राषि का भुगतान किया जा चुका है। पंजीकृत किसानो को एस एम एस से सूचना प्रति दिन भेजी जा रही हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: