झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 06 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 6 मई 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 06 मई

झाबुआ के मारूति नगर में नगरपालिका के कर्मचारी के भाई के मकान में लगी भीषण आग, अनाज, पलंग एवं महत्वपूर्ण दस्तावेज जलकर खराब हुए, करीब 1 लाख रू. का हुआ नुकसान

jhabua news
झाबुआ। शहर के हुड़ा क्षेत्र मारूति नगर काॅलोनी में नगरपालिका कार्यालय में पदस्थ कर्मचारी भावसिंह जमरा के भाई माधुसिंह जमरा के मकान में, जो सूना पड़ा था। अचानक शार्ट सर्किट से भीषण आग लग गई। आग से मकान में रखा अनाज, पलंग, अन्य घरेलु सामग्री और महत्वपूर्ण दस्तावेज जलकर पूरी तरह से खराब हो गए। मकान मालिक को करीब 1 लाख रू. का नुकसान हुआ। पूरा मामला इस प्रकार है कि 4 मई, सोमवार को दोपहर करीब 1 बजे माधुसिंह जमरा, जो फिलहाल उनकी पत्नि एवं परिवार के साथ आलीराजपुर जिले के नानपुर के माछलिया गांव में रह रहे है। अचानक मकान में लगे बिजली के फयूज में शार्ट-सर्किट होने से आग लग गई। आग लगने का पता काफी देर तक मकान सूना होने से आसपास के रहवासियों सहित पास ही रहने वाले उनके भाई भावसिंह जमरा को नहीं लग सका। जब मकान के पिछले हिस्से से धुआं निकलने लगा और आग की लपटे तेज होने लगी, तो आसपास के रहवासियों को पता चलने पर उन्होंनें प्राथमिकता में पानी की मोटर लगाकर पाईप से आग को बुझाने का प्रयास किया।

फायर ब्रिगेड ने बुझाई पूरी आग
बाद समीप रहने वाली सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती मंजु वर्मा ने इसकी सूचना पुलिस कंट्रोल रूम पर दी। पुलिस कंट्रोल रूम से फायर ब्रिगेड को सूचित किया गया। मौके पर नगरपालिका की एक फायर ब्रिगेड ने पहुंचकर संपूर्ण आग पर काबू पाया, लेकिन इससे पूर्व ही मकान के ड्रमों (कोठियां) में रखा अनाज (गेहूं), पलंग, बिस्तर, अन्य घरेलु सामग्रीयों के साथ विषेष रूप से मकान के पड़े महत्वपूर्ण दस्तावेज भी जल गए। दीवार, छत और पंखे भी काले पड़े गए। माधुसिंह के भाई भावसिंह के अनुसार करीब एक लाख रू. का नुकसान हुआ। जिसकी रिपोर्ट (सूचना) उनके द्वारा पुलिस थाने में दर्ज करवा दी गई है।

मुंबई (महाराष्ट्र) के पालघर मंे फंसे 200-250 मजदूरों को राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग की पहल पर भोजन एवं राषन सामग्रीयांे की हुई व्यवस्था
मुंबई निवासी आयोग के राष्ट्रीय महासचिव डाॅ. रविन्द्र मिश्रा एवं आयोग की पूरी टीम ने मजदूरों को हर संभव मद्द का दिया आष्वासन
jhabua news
झाबुआ। देष के महाराष्ट्र राज्य के मुंबई शहर के पालघर जिले के ग्राम बोईसर में पिछले 3-4 महीने पूर्व झाबुआ और आलीराजपुर जिले से करीब 200-250 ग्रामीण मजदूरी के लिए गए हुए थे, जो महाराष्ट्र में कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप तेजी से बढ़ने के चलते संपूर्ण देष के लाॅकडाउन के कारण, वे जिस कंपनी में कार्य कर रहे थे, वहां से उन्हें निकाल दिया गया। अब ये मजदूर पूरी तरह से बेरोजगार होकर उनके रहने से लेकर खाने-पीने तक की कोई व्यवस्था वहां नहीं हो पा रहीं है। जब इसकी जानकारी पालघर (मुंबई) से एक ग्रामीण युवक नाहरसिंह परमार बोरी जोबट जिला आलीराजपुर ने झाबुआ जिले के ग्राम झकनावदा में रहने वाले राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के प्रतिनिधि प्रदेष अध्यक्ष मनीष कुमट को मोबाईल पर फोन लगाकर दी एवं पूरे मामले से अवगत करवाया कि झाबुआ और आलीराजपुर जिले के करीब 200-250 मजदूर वर्तमान में पालघर जिले के बोईसर गांव में बुरी तरह फंसे हुए है। कंपनी ने सभी को काम की मजदूरी देने के बाद बाहर निकाल दिया है। जिसके बाद उनके बोईसर में रहने एवं खाने-पीने की व्यवस्था नहीं हो पा रही है। मजदूरी से जितने पैसे मिले, वह बीते 15 दिनांे में पूरी तरह से खत्म हो गए। अब ना तो दो समय के भोजन के लिए पैसा है और ना ही रहने के लिए कोई छत। ग्रामीण युवक नारहसिंह ने मद्द की गुहार लगाई।

आयोग के राष्ट्रीय महासचिव डाॅ. मिश्रा ने पहंुचकर ग्रामीणों से चर्चा की
उक्ताषय की जानकारी मिलने पर आयोग के प्रतिनिधि प्रदेष अध्यक्ष श्री कुमट ने तत्काल इस संबंध में आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष दयाराम मिश्रा एवं राष्ट्रीय मुख्य महासचिव डाॅ. रविन्द्र मिश्रा (मुंबई) से चर्चा की एवं झाबुआ और आलीराजपुर जिले में बुरी तरह से फंसे ग्रामीणों की वहां हर संभव मद्द करने के लिए अनुरोध किया। जिसके बाद मामले को तत्काल संज्ञान में लेते हुए एवं मानव अधिकार तथा महिलाओं और बालक की मद्द संबंधी मामला होने से तत्काल ही मौके पर आयोग के राष्ट्रीय मुख्य महासचिव डाॅ. रविन्द्र मिश्रा एवं आयोग के अन्य पदाधिकारियों ने पहुंचकर इन सभी ग्रामीणांे से विस्तृत चर्चा की, उनकी समस्याएं जानी। बाद ग्रामीणों को हर संभव मद्द का आष्वासन दिया।

भोजन एवं राषन सामग्री उपलब्ध करवाई
इसी बीच ग्रामीणांे को आयोग की टीम की ओर से तत्काल में भोजन के कुछ पैकेट एवं राषन (किराना) सामग्री उपलब्ध करवाई गई। जिससे उनकी कुछ दिनों तक भोजन की व्यवस्था हो सके। ज्ञातव्य रहे कि इसके अलावा आयोग के प्रतिनिधि प्रदेष अध्यक्ष श्री कुमट, संभागीय अध्यक्ष निलेष भानपुरिया, प्रदेष प्रभारी पवन नाहर, प्रदेष पदाधिकारी किर्तीष जैन, अली असगर बोहरा, गोपाल विष्वकर्मा, अरविन्द राठौर आदि द्वारा सत्त झाबुआ जिले में मानव अधिकारों के संबंध में कार्य करते हुए संकट की इस घड़ी में लोगों की हर संभव मद्द के प्रयास किए जा रहे है। जिले के लोगांे को, विषेषकर गंभीर बिमारी के मरीजों को गुजरात के दाहोद और बड़ौदा आदि स्थानों से गोली-दवाईयां अपने निजी वाहनों से मंगवाकर उपलब्ध करवाई जा रहीं है। गोली-दवाईयां लाने का चार्ज नहीं लिया जा रहा है।

महिला एवं बाल विकास विभाग परियोजना थांदला ने पूरे क्षेत्र में 23 हजार से ज्यादा मास्क बनाकर बांटकर जागरूकता का दिया सन्देश

jhabua news
थांदला। महिला एवं बाल विकास विभाग परियोजना थांदला के सेक्टर शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा 23 हजार 300 मास्क स्वयं के व्यय से बना कर पूरे थांदला ब्लॉक में बांटे। जानकारी देते हुए परियोजना अधिकारी जे एस मूवेल, पुष्पा डोडियार एवं समस्त सुपरवाइजर, परियोजना समन्वयक मनिश केरावत, परियोजना साहयक राकेश पंचाल ने बताया कि सभी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के विशेष परिश्रम से निर्मित मास्क कोरोना महमारी के दौरान नगर के सभी वार्ड व ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर बांटे गए। वही इस महमारी से निपटने के लिये शासन के निर्देशों जैसे मास्क पहनकर रखना, सोशल डिस्टेंश बनाये रखना, बार बार हाथ धोना आदि की समझाईश भी दी गई। उन्हें यह भी बताया कि सब लोग घरों पर ही रहें जरूरी कार्य होने पर मास्क लगा कर ही बाहर निकलें। विभाग ने शासन के निर्देशानुसार 6 माह से 6 वर्ष तक के बच्चों को एवं गर्भवती महिला, घात्री महिला ओर किशोरी बालिकाओं को घर - घर जाकर 15 दिनों का पोषण आहार दिया गया। इस दौरान आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने आयुर्वेदिक काढ़े के पावडर का भी वितरण किया।

वार्ड क्रमांक 2 में पूजा राठौड़ ने बाँटे मास्क दी समझाईश 
इसी तारतम्य में वार्ड क्रमांक 2 आंगनवाड़ी कार्यकर्ता पूजा राठौड़ द्वारा घर पर मास्क बनाए जा रहे है। जिसके बाद केंद्र क्रमांक 1, 2,5 6,8 की कार्यकर्ताओं ललिता चैहान, आशा गवली, मीना यादव, नैना पंचाल के साथ में सहायिकाओं ने घर-घर जाकर मास्क व 15 दिन का सूखा नाश्ता भी बांटा। इन महिला कार्यकर्ताओं द्वारा वार्ड में लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के बारे में भी बताया जा रहा है। पूजा राठौड़ ने वार्ड 2 में मास्क बांटते हुए भीड़ वाले स्थान से दूर रहने व गली-मोहल्लों में अनजान व्यक्ति के आने पर प्रशासन या आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को बताने का अनुरोध भी किया।

मंगलवार लगा थांदला का बाजार - पुलिस प्रशासन नदारद

jhabua news
थांदला। कोरोना महमारी के चलते लम्बे लॉक डाउन के बाद सोमवार से होटल, सेलून आदि कुछ प्रतिबंध के बावजूद अधिकांश व्यापार को निश्चित समयावधि के लिए छूट मिल चुकी है, ऐसे में बाजारों में रौनक लौट आई है। वही थांदला नगर में मंगलवार बाजार का दिन होने से ग्रामीण अंचल के हजारों लोग व्यापार और बेवजह घुमने भी आये। अनेक दुपहिया वाहन के नगरीय क्षेत्र में प्रवेश से यातायात बाधित भी हुआ व जाम जैसे हालात भी उत्पन्न हो गये। वैसे तो प्रशासन ने साप्ताहिक हाट बाजार प्रतिबंधित किये  है बावजूद इसके बड़ी संख्या में ग्रामीणों के आने से जहाँ व्यापारी बेखौफ होकर बिना किसी प्रोटक्शन के व्यापार में लगे हुए थे वही नगर के अनेक लोग इस भीड़ से हैरान परेशान भी नजर आए। कोरोना महमारी के फैलने का खतरा भी कुछ लोगो के चेहरे पर साफ देखा जा सकता था। प्रातः 8 बजे बाजार खुलने के बाद पुलिस प्रशासन भी नदारद ही दिखाई दिया। 100 डायल जरूर एक दो बार सायरन बजाते हुए निकली लेकिन भीड़ के सामने उनकी हिम्मत ने भी जवाब दे दिया। हालांकि दोपहर 2 बजते ही अधिकांश व्यवसायियों ने अपने प्रितिष्ठान बन्द कर दिये तो कुछ दुकानों को बंद करवाने के लिए पुलिस को सख्त होना पड़ा,। कपड़ा, किराना, कियोस्क सेंटर, बैंक, एटीएम सभी स्थानों पर लम्बी कतारें देखने को मिली, जहाँ न तो आवश्यक मास्क पहने इक्का दुक्का दिखाई दिए वही सोशल डिस्टेंश का भी पालन नही हो पाया तो इन सभी स्थानों पर सेनेटाइजर का भी कोई प्रबन्ध नही था। अब देखना यह है कि नगर में अचानक बड़ी भीड़ पर प्रशासन अंकुश लगा पाता है या फिर इसी तरह नगर की अधिकांश जनता के गैर जिम्मेदाराना व्यवहार से कोरोना का प्रवेश का भय बना रहेगा।

हितग्राहियों की राषि उनके बैंक खाते में ही जमा रहेगी

झाबुआ। भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा कोविद -19 को दृष्टिगत  रखते हुए विभिन्न वित्तीय पैकेजों के माध्यम से विभिन्न योजनाओं के तहत हितग्राहियों के बैंक खाते में राषि जमा की जा रही है कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने अवगत कराया के महिलाओं के प्रधानमंत्री जन-धन खाते में तीन माह तक प्रतिमाह 500 रूपये जमा किये जाएगें। इसी प्रकार प्रधान मंत्री किसान सम्मान योजना के तहत किसानों के खाते में 2000 रूपये जमा किये जायगें और निर्माण मजदूरों के खाते में 1000 रूपये की राषि जमा की जावेगी। श्री सिपाहा ने अवगत कराया कि इन योजनाओं के तहत हितग्राहियों के बैंक खातों में राषि जमा हो जाने के बाद यह राषि उनके खाते में ही उपलब्ध रहेगी। इस राषि का आहरण खातेदार स्वयं कर सकता है। यदि खाते दार की मृत्यु हो जाने पर नामिनी व्यक्ति या वैध उत्तराधिकारी इस राषि को आहरित कर सकेगा। श्री सिपाहा ने आगे बताया कि भारत सरकार के निर्देषानुसार महिलाओं के प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत खोले गये बैंक खाते में तीन माह तक प्रतिमाह 500 रूपये जमा किये जायेगें। हितग्राहियों द्वारा प्रथम किष्त की राषि आहरित नहीं किये जाने पर भी आगामी किष्ते उनके खाते में सरकार द्वारा जमा कर दी जावेगी। भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा कोविद-19 को देखते हुए विभिन्न वित्तीय पैकेज के द्वारा आर्थिक सहायता के रूप में यह राषि प्रदाय की जा रही है। हितग्राही इस राषि का उपयोग कभी भी कर सकता है। बैंक द्वारा इस राषि का हितग्राही द्वारा बैंक से ली गई ऋण राषि की वसूली के लिए समायोजन नहीं किया जावेगा। श्री सिपाहा ने अवगत कराया कि लाॅक डाउन के दौरान बैंक का कारोबारी समय प्रातः 9 बजे से सायं 4 बजे तक रहेगा। इसी प्रकार लाॅकडाउन के दौरान बीसी तथा कियोस्क संचालक का कारोबारी का समय प्रातः 9 बसे से सायं 4 बजे तक रहेगा। खातेदार राषि आहरित करते समय बीसी या कियोस्क संचालक को किसी प्रकार का नगद राषि का भुगतान नहीं करें।

श्री गोले को नोडल अधिकारी नियुक्त

झाबुआ,। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने जीवन षक्ति योजना के क्रियान्वयन के लिए परियोजना अधिकारी षहरी विकास अधिकरण श्री कमलेष गोले को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। ज्ञात हो कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं नियंत्रण को दृष्टिगत रखते हुए भारत सरकार की गाईड लाईन अनुसार आम नागरिकों को मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है। प्रदेष के षहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं में रोजगार की वृद्धि करने के अवसर के लिए उद्योग नीति एवं प्रोत्साहन निवेष विभाग म.प्र. भोपाल के माध्यम से ‘‘जीवन षक्ति योजनान्तर्गत‘‘ महिला उद्यमियों द्वारा जिले में मास्क तैयार किया जावेगा। श्री गोले का मोबाईल नं. 9993196919 तथा कार्यालय दूरभाष नं. 07392-244307 है। ई- मेल आई. डी podujhabua@mpurban.gov.in है। श्री गोले, समस्त नगरीय निकायों से मास्क की आवष्यकता का आंकलन कर पोर्टल http://maskupmp.mp.gov.in पर पंजीयन की कार्यवाई करते हुए आवष्यकतानुसार मास्क उपलब्ध कराना सुनिष्चित करेंगे। उक्त आदेष तत्काल प्रभावषील होगा।

बैंकों के संचालन के लिए समय निर्धारित

झाबुआ। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जनहित को दृष्टिगत रखते हुए जिले की समस्त बैंक षाखाओं का संचालन 17 मई 2020 तक के लिए प्रातः 9 बजे से सायं 4 बजे तक का समय नियत किया है। पूर्व में यह समय प्रातः 8 बजे से दोपहर 3 बजे तक निर्धारित था। श्री सिपाहा ने अवगत कराया कि बैंक खाता धारक के लिए प्रातः 9 बजे से सायं 3 बजे तक बैंकिंग लेन-देन का समय रहेगा। उन्होंने निर्देष दिए है कि समस्त बैंक षाखाएं बैंकिंग लेन-देन के दौरान खाताधारकों से सोषल डिस्टेंसिंग का पालन करवाते हुए लेन-देन टोकन सिस्टम से करवाएंगे। समस्त बैंक षाखाओं को निर्देषित किया है कि बीसी, कियोस्क संचालक को आवंटित ग्राम पंचायत में सुबह 9 बजे से सायं 4 बजे तक खाताधारकों को खाते से राषि का भुगतान करवाना सुनिष्चित करेंगे। साथ ही अपने बीसी, तथा कियोस्क संचालक की प्रति दिन माॅनिटरिंग करते हुए जिला अग्रणी प्रबंधक बैंक आॅफ बड़ौदा झाबुआ को दैनिक स्थिति से अवगत करावेंगे।

4 हजार 26 व्यक्तियों को भोजन प्रदाय

झाबुआ,। कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जिला स्तर से अब तक सर्दी, खांसी के मरीजों के साथ आईसोलेषन वार्ड क्वारेंटाइन केन्द्र एवं बाॅर्डर पर तैनात स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस के लोग, आंगनवाडी एवं आषा कार्यकर्ता के कुल 356 सेम्पल जांच के लिए भेजे गये है। जिनमें से 300 सेम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। जिनमें से एक भी सैम्पल की जांच रिपोर्ट में कोरोना पाॅजिटिव नहीं पाया गया है। इसी प्रकार 38 सेम्पलों की जाॅंच रिपोर्ट आना षेष है। जिले में कुल 1007 लोगों को कोरेण्टाइन सेन्टर में रखा गया है। ज्ञात हो की जिले में कुल 8 आईसोलेसन वार्ड हैं। 46 क्वारेंटाइन केन्द्र है सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के स्तर पर आर आर टी टीमों की संख्या झाबुआ मुख्यालय पर 2, राणापुर, मेघनगर, थान्दला, तथा पेटलावद में एक-एक और रामा में दो इस प्रकार कुल 8 आर आर टी टीम हैं। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने अवगत कराया कि  मंगलवार  को 4 हजार 26 जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन प्रदाय किया गया है। पुलिस विभाग द्वारा जिले में अब तक कुल 21 व्यक्तियों के खिलाफ एफ आई आर, धारा 151 के तहत 6 प्रकरण तथा 22 व्यक्तियों को अस्थाई जेल में निरूद्ध किया गया।

110294.53 क्विंटल गेंहू का उपार्जन

झाबुआ । कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने अवगत कराया की जिले में समर्थन मूल्य पर षुक्रवार तक खरीदी केन्द्रो पर 2 हजार 686 किसानांे से 110294.53 क्विंटल गेंहू का उपार्जन किया गया है। जिले में किसानो को 3 करोड 53 लाख 85 हजार 152 रूपये की राषि का भुगतान किया जा चुका है। पंजीकृत किसानो को एस एम एस से सूचना प्रति दिन भेजी जा रही हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: