सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 31 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 31 मई 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 31 मई

अभी तक कुल 839 सेंपल जांच के लिए भेजे गए

sehore news
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान एक भी ऐसे व्यक्ति की पहचान नहीं की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे। जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 43171 है। डॉ. डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए। पिछले 24 घंटों में होमकोंरेटाईन की अवधि से 1395 लोग बाहर आ चुके हैं जबकि अब तक कुल 39394 व्यक्तियों का होम कोरेंटाइन पूर्ण किया जा चुका है। जिले से अब तक कुल 839 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 772 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। रविवार को 8 सेंपल जांच के लिए भेजे गए। कुल 48 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। अभी तक हास्पिटल आईसोलेशन में भर्ती मरीजों की कुल संख्या 14 है। कोरोना संक्रमण पाजीटिव मरीजों की संख्या 11 है। कोरोना संक्रमण के कारण मृत्यु संख्या 1 है। कुल कंटेंमेंट एरिया 4 हैं। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 8 है। वहीं विदेश से आए यात्री जो गृह जिला या निवासरत जिला में वापस नहीं आए उनकी संख्या 48 है। कोरोना संक्रमित उपरांत ठीक हुए मरीजों की संख्या 4 है। जिले में वर्तमान कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 6 है जिसमें एक पॉजिटिव मरीज का उपचार इंदौर में चल रहा है वहीं 2 युवकों और 3 महिलाओं को उपचार के लिए कोविड केयर सेंटर में भर्ती किया गया है। आज कुल सेंपल जांच के लिए भोपाल भेजे गए जिसमें से आष्टा के 7 व सीहोर का 1 सेंपल शामिल हैं। जिले में कुल कंटेंमेंट एरिया 4 हैं जिसमें दो आष्टा में 1 बिलकिसगंज में तथा 1 इंदिरा नगर सीहोर शामिल है। आष्टा में कंटेंमेंट तथा बफर एरिया में सर्वे के लिए 10 दल लगाए गए हैं। आज आष्टा के कंटेंमेंट एरिया में वार्ड नंबर 16 में सर्वे दलों द्वारा 30 लोगों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया जिसमें बफर जोन के 18 व्यक्ति तथा कंटेंमेंट के 12 व्यक्ति शामिल हैं। वहीं अलीपुर स्थित कंटेंमेंट एरिया वार्ड नंबर 1 में 19 लोगों का स्वास्थ्य फालोअप लिया गया। जिसमें कंटेंमेंट एरिया के 11 तथा बफर जोन के 8 व्यक्ति शामिल हैं। दोनों कंटेंमेंट एरिया में कुल 49 व्यक्यिों का फालोअप लेकर स्वास्थ्य संबंध में जानकारी प्राप्त की गई। बिल्किसगंज अंतर्गत फ्रीगंज कंटेनमेंट एरिया के वार्ड क्रमांक 16 एवं 17 में  3 स्वास्थ्य सर्वे दलों द्वारा 181 घरों का सर्वे कर 1045 व्यक्तियों से स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली गई सभी स्वस्थ है। वहीं इंदिरा नगर कंटेनमेंट एरिया वार्ड नंबर 2 के 175 घरों का सर्वे कर 556 व्यक्तियों से स्वास्थ्य संबंधी फालोअप लिया गया। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई-परामर्ष सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है। 

1 जून से 30 जून तक संचालित होगा मलेरिया निरोधक माह
जनजागरूकता रथ के माध्यम से गांव-गांव पहुंचकर किया जाएगा मच्छर जनित बीमारियों के बारे में जागरूक
1 जून से 30 जून 2020 तक मलेरिया निरोधक माह संचालित किया जाएगा। जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे ने जानकारी दी कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.सुधीर कुमार डेहरिया के मागदर्शन में आयोजित मलेरिया निरोधक माह के अंतर्गत जनजागरूकता रथ के माध्यम से आम लोगों केा गांव-गांव पहुंचकर कोविड-19 के चलते सोशल डिस्टेंसिग का पालन करते हुए जागरूक किया जाएगा। रथ के माध्यम से जागरूकता पाम्पलेट का वितरण किया जाएगा वहीं आडियो संदेशों के माध्यम से भी लोगों को मच्छर जनित बीमारियों के बारे में जानकारी दी जाएगी वहीं कोविड-19 के चलते ग्राम स्तर पर हो रहे सर्वे के दौरान भी मलेरिया निरोधक माह की जानकारी दी जाएगी। श्रीमती बर्वे ने बताया कि यदि आपको सर्दी व कंपन के साथ बुखार है, तेज बुखार और सरदर्द है,बुखार उतरते समय बदन पसीना-पसीना हो रहा है तो अपने नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में अवश्य जांच कराएं मलेरिया पाए जाने पर पूर्ण उपचार लें। मलेरिया के मच्छर अक्सर ठहरे हुए साफ पानी में पैदा होते है। इसलिए घर के आसपास पानी जमा न होने दें। पानी के सभी बर्तन ढक कर रखें। मच्छरदानी का हमेशा उपयोग करें। ध्यान रहे सावधानी और जानकारी ही बचाव का माध्यम है।

डीएलएड परीक्षा के लिये ऑनलाइन आवेदन 10 जून तक

माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा सत्र 2019-20 की प्रारंभिक शिक्षा में पत्रोपाधि पाठ्यक्रम (डीएलएड) नियमित प्रथम एवं द्वितीय वर्ष की परीक्षा के लिये आवेदन-पत्र एम.पी.ऑनलाइन के कियोस्क अथवा पोर्टल के माध्यम से 25 मई से 10 जून तक भरे जा सकेंगे।  

नगरपालिकाओं की फोटोयुक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण 2020 के लिए संशोधित कार्यक्रम निर्धारित

मप्र राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा नगरपालिकाओं के निर्वाचन के लिए 01 जनवरी 2020 की संदर्भ तारीख के आधार पर नगरीय निकायों की फोटोयुक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण-2020 के लिए संशोधित कार्यक्रम जारी किया गया है। आयोग द्वारा जारी कार्यक्रम के तहत शिफ्टिंग संबंधी विवादों के निराकरण के लिए आयोजित बैठक के कार्यवाही विवरण अनुसार यथोचित कार्यवाही के लिए अंतिम तिथि 01 जून 2020 निर्धारित की गई है। मार्केड शिफ्टिंग सूची, विलोपन वेरिफिकेशन सूची और संशोधन वेरिफिकेशन सूची ईआरएमएस में प्रविष्टि के लिए वेण्डर को सौंपने की अंतिम तिथि 04 जून, शिफ्टिंग, विलोपन और संशोधन की कार्यवाही ईआरएमएस के माध्यम से पूर्ण कर चैकलिस्ट रजिस्ट्रीकरण अधिकारी को प्रदान करने की अंतिम तारीख 10 जून तथा चैकलिस्ट की जांच करना और जांच उपरांत परिलक्षित त्रुटियों को सुधारने के लिए चैकलिस्ट वेण्डर को वापस करने की अंतिम तिथि 15 जून 2020 निर्धारित की गई है। इसी प्रकार त्रुटियों को सुधार कर एकीकरण कर फोटोरहित और फोटोयुक्त प्रारूप मतदाता सूची जेनरेट करने की अंतिम तिथि 22 जून, फोटोरहित प्रारूप मतदाता सूची वेबसाईट पर अपलोड करने की अंतिम तारीख 23 जून, फोटोयुक्त प्रारूप मतदाता सूची का मुद्रण कर रजिस्ट्रीकरण अधिकारी को प्रदाय करने की अंतिम तारीख 29 जून निर्धारित की गई है। फोटोयुक्त प्रारूप मतदाता सूची का नगरपालिका वार्ड एवं अन्य विहित स्थानों पर सार्वजनिक प्रकाशन की अंतिम तिथि 01 जुलाई, प्रारूप मतदाता सूची का सार्वजनिक प्रकाशन किए जाने संबंधी प्रमाण पत्र स्केन कर अपलोड करने की तिथि 02 जुलाई निर्धारित है। नगरपालिका की प्रारूप मतदाता सूची मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय राजनैतिक दलों को उपलब्ध कराने और स्टेंडिंग कमेटी की बैठकों के आयोजन की तिथि 01 जुलाई एवं 02 जुलाई निर्धारित की गई है।

अंतिम मतदाता सूची तैयार करने हेतु निर्धारित कार्यक्रम
अंतिम मतदाता सूची तैयार करने हेतु निर्धारित कार्यक्रम के तहत दावे आपत्ति प्राप्त करने के लिए प्राधिकृत कर्मचारियों के द्वितीय प्रशिक्षण एवं उन्हें आवश्यक सामग्री प्रदाय करने और दावा आपत्ति केन्द्रों के पर्यवेक्षण हेतु नियुक्त अधिकारियों के प्रशिक्षण की तिथि 22 जून से 27 जून 2020 तक निर्धारित की गई है। रजिस्ट्रीकरण अधिकारी की जांच सूची और डुप्लीकेट सूची प्रदाय करने की तिथि 29 जून, दावा आपत्ति केन्द्र पर दावा आपत्ति प्राप्त करने की अवधि 01 जुलाई से 09 जुलाई को अपरान्ह 03 बजे तक निर्धारित की गई है। दावा आपत्ति आवेदन पत्रों के निराकरण की अंतिम तिथि 15 जुलाई, निराकृत दावा आपत्ति आवेदन पत्रों की ईआरएमएस में प्रविष्टि की अंतिम तिथि 20 जुलाई एवं दावे आपत्ति की चैकलिस्ट तैयार करने की तिथि 23 जुलाई निर्धारित की गई है। चैकलिस्ट की जांच कर त्रुटि सुधार उपरांत वेण्डर को वापस करने की तिथि 25 जुलाई, फोटोयुक्त और फोटोरहित अंतिम मतदाता सूची जेनरेट करने की तिथि 27 जुलाई, फोटोरहित अंतिम मतदाता सूची को वेबसाईट पर अपलोड करने की तिथि 28 जुलाई एवं फोटोयुक्त अंतिम मतदाता सूची को मुद्रित कर रजिस्ट्रीकरण अधिकारी को उपलब्ध कराने की तिथि 31 जुलाई निर्धारित की गई है। फोटोयुक्त अंतिम मतदाता सूची का नगरपालिका वार्ड एवं अन्य विहित स्थानों पर सार्वजनिक प्रकाशन की तिथि 04 अगस्त, अंतिम मतदाता सूची की फोटोरहित सीडी विक्रय के लिए उपलब्ध कराने की तिथि 06 अगस्त, नगरपालिका की फोटो युक्त मतदाता सूची मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय राजनैतिक दलों को निःशुल्क उपलब्ध कराने की तिथि 06 अगस्त निर्धारित की गई है। इसी प्रकार फोटोयुक्त अंतिम मतदाता सूची के सार्वजनिक प्रकाशन का प्रमाण पत्र स्केन कर अपलोड करने की तिथि 06 निर्धारित की गई है।     

आज से चेक के माध्यम से नहीं लिया जाएगा बिजली बिल उपभोक्ता ऑनलाइन माध्यम का उपयोग करें

विद्युत विभाग महाप्रबंधक सीहोर ने जानकारी देते हुए बताया कि मध्य  क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा जिले में अब बिजली उपभोक्ताओं से चेक के माध्यम से बिजली बिल का भुगतान स्वीकार नहीं किया जाएगा।  उपभोक्ता हित को देखते हुए कंपनी ने यह निर्णय लिया है। गौरतलब है कि मैदानी अधिकारियों द्वारा अस्वीकृत (Disonour) चेक की डिमांड विद्युत देयक में नहीं की जाती है। अस्वीकृत चेक की राशि उपभोक्ताओं से प्राप्त होने के बाद सीसीएनबी/आरएमएस के माध्यम से  समायोजन किया जाता है। अस्वीकृत चेक बैंक से प्राप्त होने के बाद उनकी वसूली होने तक जहाँ कंपनी को राजस्व हानि होती है, वहीं उपभोक्ता को कानूनी मामले में फंसने की सम्भावना  रहती है।  कंपनी के प्रबंध संचालक ने  इस संबंध में अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि अभी तक प्राप्त सभी चेक बैंक में जमा कर बिल की राशि कंपनी के खाते में तत्काल जमा कराएं।  उन्होंने यह भी कहा है कि अस्वीकृत चेक की राशि संबंधित उपभोक्ता के बिजली बिल में जोड़कर वसूली की कार्यवाही सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि वितरण केंद्र/ ज़ोन कार्यालय में यदि कोई व्यक्ति चेक के माध्यम से बिजली बिल भुगतान के लिए आता है तो संबंधित वितरण केंद्र/ज़ोन प्रभारी  उसे ऑनलाइन भुगतान के लिए प्रोत्साहित करें। ऑनलाइन भुगतान के संबंध में UPAY App, फ़ोन पे, अमेज़ॉन पे, कॉमन सर्विस सेंटर, कंपनी के पोर्टल portal.mpcz.in <http://portal.mpcz.in/> और अन्य ऑनलाइन भुगतान के  विकल्पों की जानकारी भी दें।    

अशासकीय स्कूलों को मान्यता नवीनीकरण के लिये एक वर्ष की छूट

राज्य शासन द्वारा कोविड-19 के संक्रमण के चलतेसमस्त अशासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालयों को मान्यता के लिये एक वर्ष की छूट दे दी गई है। नि:शुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2009 एवं 2011 के अन्तर्गत प्रदेश के संचालित ऐसे समस्त अशासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालयों जिनकी मान्यता 31 मार्च 2020 को समाप्त हो गई है, की मान्यता को 31 मार्च 2021 तक की समयावधि के लिये यथावत मान्य कर दिया गया है। ऐसी समस्त संस्थाओं को नि:शुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2009 एवं 2011 में वर्णित विद्यालय संचालन के लिये आवश्यक मापदंडों एवं शर्तों का पालन करना अनिवार्य होगा।   

आँगनवाड़ी केन्द्रों पर फीवर क्लीनिक, कोविड-19 की गतिविधियाँ नहीं होंगी संचालित

प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्री फैज अहमद किदवई ने सभी कलेक्टरों को निर्देशित किया है कि प्रदेश के आँगनवाड़ी केन्द्रों पर फीवर क्लीनिक अथवा कोविड-19 की गतिविधियों का संचालन नहीं किया जायेगा। श्री किदवई ने कहा है कि कोविड-19 से संक्रमित मरीज के थूक के कणों से दो मीटर के भीतर सम्पर्क में आए किसी अन्य व्यक्ति को संक्रमित कर सकती है। प्रदेश में संचालित किसी भी आँगनवाड़ी में कोविड-19 संबंधी गतिविधियां, फीवर क्लीनिक का संचालन या सेम्पलिंग कार्य के लिये आँगनवाड़ी सह-आरोग्य केन्द्र का उपयोग न किया जाये। श्री किदवई ने कहा कि भारत सरकार की गाईडलाइन के अनुसार गर्भवती महिलाएँ और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे हाईरिस्क की श्रेणी में चिन्हित किए गए हैं। आँगनवाड़ी का उपयोग सिर्फ महिला बाल विकास विभाग के अन्तर्गत चिन्हित टीकाकरण, स्वास्थ्य सेवाएँ पोषण आहार वितरण आदि के लिए ही किया जाए।  

कोई टिप्पणी नहीं: